दिग्विजय को निलंबित करने की मांग

0

कांग्रेस नेता और मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजयसिंह के हिन्दू आतंकियों के राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े होने वाले बयान को लेकर घमासान मचा हुआ है। भारतीय जनता पार्टी ने दिग्विजयसिंह के इस बयान को गंभीर बताते हुए उन्हें पार्टी से बाहर निकालने की मांग की।

कांग्रेस का कोर एजेंडा

भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा ने मीडिया से मुखातिब होते कहा कि दिग्विजयसिंह ने करोड़ों हिन्दुओं पर अंगुली उठाई है। उन्हें बदनाम और आतंकवादी कह दिया। पात्रा ने राहुल पर तीखा प्रहार करते हुए कहा कि वे हिन्दुओं को गंभीरता से क्यों नहीं लेते हैं। कांग्रेस तुष्टिकरण की राजनीति पर उतर आई है। मध्यप्रदेश चुनाव नजदीक आ रहे हैं। लोकसभा चुनाव से ठीक पहले इस तरह का बयान कांग्रेस के कोर एजेंडे को दिखाता है।

फायदे के लिए जिक्र

पात्रा ने आगे कहा कि कांग्रेस अपने फायदे के लिए हिन्दू आतंकवाद का जिक्र करती है। 2013 में तत्कालीन गृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे ने सोनिया गांधी और राहुल गांधी की मौजूदगी में हिन्दू आतंकवाद की बात कही थी। उस दौरान उन्होंने संघ पर आतंकी कैंप चलाने का आरोप भी लगाया था।

क्या कहा था दिग्विजयसिंह ने

बता दें कि दिग्विजयसिंह ने कहा था कि जितने भी हिन्दू धर्म वाले आतंकी पकड़े गए, वे सब संघ के कार्यकर्ता थे। महात्मा गांधी की हत्या करने वाले नाथूराम गोडसे भी संघ का हिस्सा थे। उन्होंने कहा था कि आरएसएस नफरत की विचारधारा फैलाती है।

Share.