अमेरिका ने जम्मू कश्मीर में ‘नजरबंदी और प्रतिबंधों’ पर चिंता जाहिर की

0

जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) के ताज़ा हालत पर अमेरिकी विदेश विभग के एक प्रवक्ता का एक बयान सामने आया है. जिसमे उनके द्वारा कहा गया है की, अमेरिका में नज़रबंदी और प्रतिबंध चिंता का विषय है, हाल ही में आर्टिकल 370 (US Statement On Jammu Kashmir Article 370) को जम्मू कश्मीर से हटाया गया  था जिसके लिए यह सुनने में आया था,की वहां के नेताओ को नजरबंद किया गया था और वहां के लोगो पर प्रतिबंध लगाए गए है। कुछ दिन पहले ही भारत ने इस बात पर जोर दिया था कि जम्मू कश्मीर द्विपक्षीय मामला है और इसमें तीसरे पक्ष के मध्यस्थता की जरूरत नहीं।

साध्वी प्रज्ञा के मारक शक्ति वाले बयान पर BJP सख्त, लिया बड़ा फैसला

जम्मू कश्मीर (US Statement On Jammu Kashmir Article 370) के ताजा  हालात पर अमेरिका की तरफ से एक बार फिर बयान आया है.अमेरिका ने कश्मीर में राजनीतिक दल के नेताओं की नजरबंदी और प्रतिबन्ध पर अमेरिकी विदेश विभाग के प्रवक्ता ने कहा कि हम मानवाधिकारों के लिए सम्मान, कानूनी प्रक्रियाओं के पालन, और प्रभावित लोगों के साथ एक समावेशी बातचीत का अनुरोध करते हैं।

भारत सरकार के द्वारा यह कहा जा रहा है की वहां किसी को नजरबन्द नहीं किया गया और  न ही किसी पर प्रतिबन्ध लगाया गया है अब वहां पर हालात पहले से बेहतर है और जनजीवन सामान्य हो रहा है।

पाक पीएम का पाकिस्तानियों ने यूं उड़ाया मज़ाक

जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 (US Statement On Jammu Kashmir Article 370) हटाए जाने के बाद अब यह  मामला सुप्रीम कोर्ट में सुना गया. इसके खिलाफ दायर अलग-अलग याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई. सुप्रीम कोर्ट ने याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए केंद्र सरकार को नोटिस जारी किया और 7 दिन के भीतर जवाब मांगा. केंद्र सरकार  ने नोटिस जारी करने का विरोध किया और कहा कि  आर्टिकल 370  हटाए जाने से प्रभावित् देश फायदा उठा सकता हैं. अब इस मामले की सुनवाई अक्टूबर के पहले हफ्ते में होगी. सुप्रीम कोर्ट में दायर इन याचिकाओं में केंद्र सरकार पर कई तरह के आरोप लगाए गए हैं.

आर्टिकल 370  हटने के बाद आर्मी चीफ विपिन रावत 30 अगस्त को पहली बार जम्मू-कश्मीर जाएंगे. रावत श्रीनगर के दौरे पर जाएंगे और सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेंगे.

अखिलेश के टोंटी चोरी के बाद आज़म खान ने चुराई भैंस!

Share.