Delhi Violence : राजधानी में अर्धसैनिक बल तैनात, गृह मंत्रालय ले रहा पल-पल की अपडेट

0

राजधानी दिल्ली (Capital Delhi) के कई इलाकों में सोमवार से हिंसात्मक प्रदर्शन (Paramilitary Forces Deployed In Delhi) जारी है और इस उपद्रव के कारण अब तक 18 लोगों की मौत हो चुकी है वहीं तकरीबन 200 लोग घायल हो चुके हैं जिनका अस्पताल में इलाज चल रहा है। कल सुबह 10 बजे के आस पास भी मौजपुर मेट्रो स्टेशन (Maujpur Metro Station) से 100 मीटर की दूरी पर दीवार के उस पर से गोलियों के चलने की उस तरह ही आवाज आ रही थी जिस तरह से सीमावर्ती इलाकों में अक्सर सुनाई देती है। राजधानी दिल्ली के इस इलाके में लगातार गोलियों की तड़तड़ाहट गूंज रही थी और पुलिस प्रशासन मात्र गोलियों के खोखे गिन रही थी। दीवार पार से उपद्रवी लगातार गोलियां चला रहे थे, पेट्रोल बम फेंक रहे थे, पत्थर बरसा रहे थे और पुलिस तमाशबीन बनी अगले आदेश का इंतजार कर रही थी। हिंसा लगातार बढ़ती गई नतीजतन कल यानी मंगलवार को 5 मेट्रो स्टेशनों को बंद करना पड़ा, हिंसाग्रस्त इलाकों में धारा 144 लागू (Section 144 imposed) करनी पड़ी और अतिरिक्त पुलिस बल तैनात करना पड़ा। इसके पहले खबर मिली थी कि एक शख्स जिसका नाम शाहरुख़ (Shahrukh) बताया गया था उसने 8 राउंड फायरिंग की थी और पुलिस ने उसकी पहचान कर उसे हिरासत में भी ले लिया था। साथ ही यह खबर भी सुनने में आई थी कि इस हिंसात्मक घटना (Delhi Violence) में एक पुलिस हेड कांस्टेबल रतन सिंह (Ratan Singh death)  की मौत हो गई। कई जगहों पर आगजनी की गई, तोड़फोड़ की गई, दुकानों और घरों में आग लगाई गई। धर्म के नाम और हिंदुत्व के नाम पर दंगे (Delhi Riots 2020) भड़काने की भी कोशिश की जा रही है।

इसी का एक वीडियो सामने आया है जिसमे एक हिन्दू व्यापारी जिनका नाम राजीव है, उनका कहना है कि उनकी मार्केट में एक शॉप है जिसे एक मुस्लिम व्यक्ति चलाता है लेकिन दुकान हिन्दू की है और वो पूरा मार्केट जिसमे ये दूकान है, वो उनका है। वे वीडियो में कहते हुए दिखाई दे रहे हैं कि जब सुबह वे आए तो देखा कि कुछ लोग दुकान का ताला तोड़कर लूटपाट कर रहे थे।  (Paramilitary Forces Deployed In Delhi) जब राजीव ने उन्हें रोका तो उन लोगों ने कहा कि इन्होने यानी मुस्लिमों ने हिन्दुओं के वाहनों को आग लगा दी तो हम भी इनकी दुकाने जलाएंगे। जब उन्होंने रोका तो भीड़ एकत्र होने लगी फिर राजीव ने मौके पर पुलिस को बुलाया और एक शख्स को पुलिस के हवाले किया और मार्केट को आग के हवाले होने से बचा लिया।

शाहीन बाग़ मामलें में कोर्ट ने दिया सरकार को नोटिस

इस वीडियो को सोशल मीडिया ट्विटर पर विनोद कापरी (Vinod Kapri video viral) नामक यूजर से शेयर किया है। इस वीडियो (Paramilitary Forces Deployed In Delhi) को शेयर करने के साथ उन्होंने लिखा, “इस हिंदू शख़्स की एक पूरी मार्केट है , जिसके पास एक दुकान मुसलमान चलाता है। इनकी हिम्मत की दाद देनी चाहिए।इन्होंने ना सिर्फ़ एक दंगाई को पकड़वाया , बल्कि ये भी बता रहे हैं कि कैसे हिंदुत्व के नाम पर गुंडागर्दी, दंगा हो रहा है और इसे कौन करा रहा है।आँखें खोलो इंडिया।” हालांकि इस वीडियो में यह स्पष्ट नहीं है कि यह किस इलाके का है लेकिन इतना जरूर है कि धर्म के नाम पर आज पूरी दिल्ली जल रही है। Delhi में लगातार हो रही हिंसक घटनाओं की रोकथाम के लिए गृहमंत्री अमित शाह ने देर रात एक आपातकालीन बैठक बुलाई थी जिसमें तमाम आला अधिकारी तलब किए गए वहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल (AAP Arvind Kejriwal) ने भी अपने तमाम मंत्रियों और विधायकों की बैठक बुलाई थी। इसके बाद अमित शाह से दिल्ली के LG और मुख्यमंत्री केजरीवाल ने मुलाक़ात की और इस पर चर्चा की। बता दें कि इस हिंसात्मक घटनाओं के पीछे पूरा विपक्ष भाजपा नेता कपिल मिश्रा (BJP leader Kapil Mishra) के भड़काऊ बयान को जिम्मेदार ठहराया जिसमे वे दिल्ली पुलिस को रास्ता खाली करवाने के लिए 3 दिन का अल्टीमेटम दे रहे हैं। वहीं आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह (AAP Sanjay Singh) कल रात एक वीडियो अपने ट्विटर हैंडल से शेयर किया है। इस वीडियो में साफ़ दिखाई दे रहा है कि कुछ लोग जय श्री राम के नारे लगा रहे हैं और साथ ही अनुराग ठाकुर (Anurag Thakur) के गोली मारो नारे की तर्ज पर एक और नारा लगा रहे हैं कि, पुलिस के हत्यारों को, गोली मारो सालों को। इसके अलावा (Paramilitary Forces Deployed In Delhi) वे हिन्दू हित के नारे भी लगा रहे हैं। संजय सिंह (AAP Leader Sanjay Singh) ने इस वीडियो को शेयर करते हुए लिखा है, “ये लक्ष्मी नगर भाजपा (BJP) का विधायक क्या कर रहा है? @AmitShah शांति बहाली के लिये सर्वदलीय मीटिंग का दिखावा करते हैं और उनके विधायक दंगा भड़काने में लगे हैं।”

 

शाहीनबाग़ में बुर्का पहनकर घुसी यू ट्यूबर को महिलाओं ने घेरा

संजय सिंह (AAP Leader Sanjay Singh) के अनुसार वीडियो (Video viral) में दिख रहा यह शख्स लक्ष्मी नगर के भाजपा विधायक हैं (Paramilitary Forces Deployed In Delhi) जो भड़काऊ नारेबाजी कर दंगों (Delhi Riots) को और भड़काने का प्रयास कर रहे हैं। बता दें कि कल चार हिंसात्मक इलाकों में कर्फ्यू लगा दिया गया। उपद्रवियों ने कई वाहनों को, दुकानों को, घरों को आग के हवाले कर दिया। नार्थ ईस्ट इलाकों में परीक्षाएं स्थगित कर दी गई है और उपद्रवियों को देखते ही गोली मारने यानी कि सूट एंड साइड के आदेश दिए गए हैं। गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने बीते 18 घंटों के दौरान 3 उच्चस्तरीय बैठकें आयोजित की। दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल ने दिल्ली में सेना की तैनाती किए जाने की इच्छा जाहिर की ताकि हिंसा से छुटकारा पाया जा सके और स्थिति को जल्द से जल्द काबू पाया जा सके। वहीं राजधानी में भड़की इस आग और फैली हिंसा को रोकने की जिम्मेदारी अब राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजित डोभाल के कंधों पर आ गई है। अजित डोभाल ने अब मोर्चा संभाल लिया है और उन्होंने देर रात नॉर्थ ईस्ट दिल्ली के हिंसा प्रभावित इलाकों में खुद जाकर जायजा लिया। वे दिल्ली के सीलमपुर पहुंचे और वहां के हालत जाने। इससे पहले उपद्रवियों को खदेड़ने के लिए पुलिस को आंसू गैस के गोले दागने पड़े। (Paramilitary Forces Deployed In Delhi) इन आंसू गैस के गोलों की वजह से छोटे-छोटे बच्चों की आंख में जलन की शिकायत हुई। इसका भी एक वीडियो सामने आया है जिसे कांग्रेस की शिल्पा बोडखे (Shilpa Bodkhe) ने अपने ट्विटर हैंडल से शेयर किया है।

इस वीडियो (Paramilitary Forces Deployed In Delhi) को शेयर करते हुए शिल्पा लिखती हैं, “दिल्ली हिंसा :- जाफराबाद में दंगो को लेकर पुलिस ने जब आसु गैस छोड़े तब घर के छोटे बच्चो का हाल क्या हुआ …..इन बच्चो को तो हिन्दु मुस्लिम से कोई लेना देना नहीं है ….” गौरतलब है कि हिंसात्मक घटनाओं के ऐसे कई वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर किए जा रहे हैं जो काफी ह्रदय विदारक हैं। हालांकि गृह मंत्रालय पल-पल की अपडेट ले रहा है और गृह मंत्री अमित शाह को पल-पल की जानकारी उपलब्ध कराई जा रही है। हिंसा प्रभावित इलाकों पर गृह मंत्रालय की पैनी नज़र है। वहीं दूसरी तरफ आज सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में चल रही शाहीन बाग़ (Shaheen Bagh) की सुनवाई को टाल दिया गया है। अब यह सुनवाई होली के बाद 23 मार्च को की जाएगी। अब देखना होगा कि शाहीन बाग़ (Shaheen Bagh Movement) पर सुप्रीम कोर्ट का क्या फैसला आता है और राजधानी में ये हिंसा की आग कब तक यूं ही भड़कती रहेगी।

शाहीन बाग़ का खेल दिल्ली में होना भाजपा को जीत दे गया

Prabhat Jain

Share.