Delhi Election 2020 : BJP के जख्मों पर पर Shiv Sena ने छिड़का नमक

0

राजधानी दिल्ली में हुए विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Elections 2020) (Delhi Election Results 2020) का परिणाम आ चुका है जिसमें आम आदमी पार्टी (AAP) ने प्रचंड जीत हासिल की और भाजपा (Shiv Sena Targets BJP) व कांग्रेस (Congress) को धूल चटा दी। हालांकि इस बार के चुनाव में भाजपा का वोट प्रतिशत बढ़ा है वहीं कांग्रेस के 67 उम्मीदवारों की जमानत तक जब्त हो गई। इस चुनाव में ‘आप’ ने 62 सीटों पर प्रचंड जीत दर्ज की वहीं भाजपा के खाते में 8 सीट आईं। आम आदमी पार्टी के प्रमुख अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) अब तीसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। केजरीवाल के जीतने पर सभी पार्टियां उन्हें बधाई दे रही हैं ऐसे में शिवसेना (Shiv Sena Targets BJP) ने भी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को अपने मुख्यपत्र सामना (Saamana) के माध्यम से बधाई प्रेषित की है। चूंकि इस बार भी महाराष्ट्र में शिवसेना (Shiv Sena In Maharashtra)  ने भाजपा के साथ मिलकर चुनाव लड़ा था और जीत भी हासिल की थी लेकिन 50-50 फॉर्मूले को लेकर दोनों पार्टियों के बीच गठबंधन टूट गया था। गठबंधन टूट जाने के बाद से शिवसेना Shiv Sena) लगातार भाजपा (BJP)  पर निशाना साधते आ रही है। शिवसेना (Shiv Sena) एक भी मौका नहीं गंवाती भाजपा पर तंज कसने का ऐसे में दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Elections 2020) में मिली करारी हार को लेकर भी शिवसेना ने भारतीय जनता पार्टी पर तंज कसा है।

BJP विधायक और उसके 6 परिजनों पर महिला ने लगाया दुष्कर्म का आरोप

शिवसेना (Shiv Sena Targets BJP) ने अपने मुख्यपत्र सामना (Saamana) के संपादकीय में जहां अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) को जीत की बधाई दी वहीं भाजपा पर निशाना साधते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) और गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) की नीतियों को हवाबाज तक करार दे दिया। शिवसेना ने सिर्फ पीएम मोदी और अमित शाह पर ही नहीं बल्कि भाजपा के उन नेताओं पर भी निशाना साधा जिन्होंने इस विधानसभा चुनाव में जमकर प्रचार किया। अपने मुख्यपत्र सामना के संपादकीय में शिवसेना ने लिखा है कि, पूरी केंद्र सरकार और शक्तिशाली पार्टी भाजपा (BJP) पर अकेले अरविंद केजरीवाल (AAP Arvind Kejriwal) भारी पड़ गए। केजरीवाल को इस विधानसभा चुनाव में हारने के लिए भाजपा ने अपना पूरा जोर लगा दिया और देशभर से तकरीबन 250 सांसद, तीन-चार सौ विधायक, अलग-अलग राज्यों के मुख्यमंत्री और मंत्रियों समेत पूरे केंद्रीय मंत्रिमंडल को काम पर लगा दिया, लेकिन भाजपा (BJP) की इतनी बड़ी और शक्तिशाली फ़ौज को हार का मुंह देखना पड़ा। इतनी बड़ी फ़ौज को अकेले केजरीवाल (AAP Arvind Kejriwal) ने धूल चटा दी। शिवसेना (Shiv Sena Targets BJP) ने कहा भाजपा (BJP) की यह हार उनके अहंकार, आत्ममुग्धता और ‘हम करें वही कानून’ वाली सोच की हार है।

BJP-AAP में रैप बैटल, किसका टाइम आएगा, दिल्ली वाला बताएगा, देखें Video

Shiv Sena Targets BJP | DElhi Assembly Elections 2020

इतना ही नहीं शिवसेना (Shiv Sena Targets BJP) ने भाजपा (BJP) द्वारा उठाए गए मुद्दों पर भी निशाना साधा और लिखा कि भाजपा के सामने दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Elections 2020) को लेकर हमेशा ही मुद्दों की चुनौती रही है। राजधानी दिल्ली में किन मुद्दों को लेकर चुनाव लड़ा जाए इसे लेकर ही हमेशा भाजपा चिंतित रही है और उसे कभी मुद्दे समझ ही नहीं आए हैं। हर बार की तरह इस बार भी भाजपा ने दिल्ली विधानसभा चुनाव में हिंदू-मुसलमान, राष्ट्रवाद और देशद्रोह जैसे मुद्दों पर प्रचार किया और जनता से वोट मांगे। आगे शिवसेना ने लिखा कि भाजपा के इन मुद्दों को दिल्लीवासियों ने दरकिनार कर दिया और क्षेत्र में 5 सालों तक काम करने वाले अरविंद केजरीवाल को चुन लिया। सामना में आगे लिखा गया कि भाजपा द्वारा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Delhi CM Arvind Kejriwal)  को आतंकवादी तक घोषित कर दिया गया इसके बावजूद दिल्लीवासियों ने केजरीवाल को अपना मुख्यमंत्री चुना क्योंकि केजरीवाल ने पिछले 5 साल तक काम किया है। दरअसल जब से भाजपा और शिवसेना (Shiv Sena Targets BJP) का गठबंधन टूटा है तब से शिवसेना लगातार भाजपा पर हमलावर रही है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व गृहमंत्री अमित शाह पर जुबानी बयानबाजी कर रही है। हालांकि जब शिवसेना भाजपा के साथ गठबंधन में थी तब भी तब भी अमूमन भाजपा (BJP) की आलोचना करती रहती थी। महाराष्ट्र में भाजपा (BJP In Maharashtra) से गठबंधन टूट जाने के बाद शिवसेना ने NCP और कांग्रेस के साथ मिलकर ‘महाअघाड़ी’ गठबंधन कर सरकार बना ली थी।

BJP सांसद का विवादित बयान, दिल्ली में सरकार बनी तो सरकारी जमीन पर बनी मस्जिदों को हटा देंगे

Prabhat Jain

Share.