डिफेंस एक्सपो के बाद बड़ी रक्षा कंपनियां करेंगी भारत में निवेश

0

भारत अब रक्षा के क्षेत्र में भी दुनियाभर में अपनी अलग पहचान बनाने की तैयारी में है। इसकी झलक रविवार को समाप्त (Defence Expo Closing Ceremony) हुई डिफेंस समिट 2020 में देखने को मिली। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ (UP Capital Lucknow) में 5 फरवरी से शुरू हुए डिफेंस एक्सपो 2020 (Defence Expo 2020)  का रविवार को समापन हुआ।एशिया के सबसे बड़े डिफेंस एक्सपो (DefeExpo 2020) में सेना के शौर्य और पराक्रम को लोगों ने देखा। वहीं कई बड़ी कंपनियों के रक्षा उपकरणों की प्रदर्शनी भी लोगों के आकर्षण का केंद्र बनी रही। एक्सपो (Defexpo lucknow) में एयरफोर्स व सेना की ओर से लाइव डेमो प्रस्तुतियां दी गईं।

CM Yogi ने दी कमिश्नर प्रणाली को मंजूरी, लखनऊ और नोएडा में लागू

लखनऊ में पहली बार आयोजित होने वाली यह एक्सपो (Defence Expo Closing Ceremony) प्रदर्शनी लगाने वालों की संख्या, आयोजन क्षेत्र और राजस्व प्राप्ति के हिसाब से भारत की सबसे बड़ी रक्षा प्रदर्शनी रही। एक्सपो में 150 से अधिक विदेशी समेत 1000 से ज्यादा आयुध निर्माता कंपनियों ने अपने उत्पादों का प्रदर्शन किया गया।
यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (UP Chief Minister Adityanath Yogi)  ने इसे रक्षा क्षेत्र के निवेशकों का महाकुंभ बताया। उन्होंने कहा कि इस एक्सपो ने डिफेंस कॉरिडोर के लिए मजबूत आधार उपलब्ध कराया है। यूपी रक्षा उत्पादन के नए हब के रूप में विकसित होगा। डिफेंस एक्सपो-2020 में पहली बार 40 देशों के रक्षामंत्री, 70 देशों की सहभागिता, 3000 से अधिक विदेशी व देश के विभिन्न हिस्सों से 1000 से अधिक डेलीगेट्स आए। (Defence Expo Closing Ceremony)  रविवार तक 12 लाख से अधिक लोग यहां भारत के शौर्य, पराक्रम और गौरव को देख और महसूस करने पहुंचे थे।

लखनऊ राजभवन को मिली उड़ाने की धमकी

कुल मिलाकर जिन बड़ी रक्षा कंपनियों ने भारत के इस रक्षा एक्सपो (Defence Expo Closing Ceremony) में भाग लिया, उन्होंने भारत में इस क्षेत्र में कई संभावनाओं को भी तलाशा। इस एक्सपो के बाद भारत में रक्षा के क्षेत्र में विदेशी निवेश बढ़ने की भी उम्मीदें जताई जा रही हैं। जिससे युवाओं को रोजगार और यूपी को डिफेंस (Defexpo Lucknow) हब के रुप में विकसित करने की ओर भी सरकार ने कदम बढ़ाने शुरु कर दिए हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (UP Chief MinisterAdityanath Yogi)  ने समापन समारोह में कहा कि डिफेंस एक्सपो-2020  (Defence Expo Closing Ceremony) रक्षा क्षेत्र के निवेशकों का महाकुंभ साबित हुआ है। इसने डिफेंस कॉरिडोर के लिए मजबूत आधार उपलब्ध कराया है। यूपी रक्षा उत्पादन के नए हब के रूप में विकसित होगा। प्रदेश की क्षमता पर किसी को प्रश्न नहीं खड़ा करना चाहिए। यूपी को अब कोई हल्के में नहीं ले सकता। लगातार इतिहास रचा जा रहा है। उन्होंने कहा कि हम लोगों ने तय किया था कि यह कार्य ऐसा होना चाहिए जो सफलता की ऊंचाइयों को प्रदेश की क्षमता के अनुरूप छुए। यानी जनसंख्या की दृष्टि से राज्य बड़ा है तो निवेश भी बड़ा होना चाहिए। डिफेंस एक्सपो (Defence Expo Closing Ceremony)  को उसी रूप में प्रस्तुत करने में सफल हुए हैं।सीएम योगी ने आगे कहा यह हमेशा स्वर्णिम याद बनकर रहेगा। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह (Defense Minister Rajnath Singh) का आभार जताते हुए उन्होंने कहा कि डिफेंस एक्सपो से प्रदेश के डिफेंस कॉरिडोर के लिए मजबूत आधार उपलब्ध हुआ है।

योगी (CM Adityanath Yogi) शनिवार को डिफेंस एक्सपो (Defence Expo Closing Ceremony)  के समापन सत्र को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि पिछले ढाई वर्षों में अनेक आयोजन के मौके मिले। 2018 की इन्वेस्टर्स समिट से पहले लोगों में धारणा थी कि यहां निवेश कौन करेगा? लेकिन, समिट में करीब 5 लाख करोड़ रुपये के निवेश प्रस्ताव आए। ढाई लाख करोड़ के प्रस्तावों को जमीन पर उतारा जा चुका है। सरकार ने प्रयागराज कुंभ सफलतापूर्वक आयोजित कराया। इसमें 24.56 करोड़ लोग आए। प्रवासी भारतीय सम्मेलन में 7500 से अधिक प्रवासी शामिल हुए। पिछले महीने लखनऊ में नेशनल यूथ फेस्टिवल में देश भर से 7000 से अधिक युवा आए। 16-17 जनवरी को प्रदेश में कॉमन वेल्थ पार्लियामेंट्री एसोसिएशन (Common Wealth Parliamentary Association)  का सम्मेलन हुआ। फिर मां गंगा को आस्था और अर्थव्यवस्था से जोड़कर गंगा यात्रा निकाली। अब उनकी टीम ने रक्षा मंत्रालय के साथ मिलकर इस आयोजन को सफलता की नई ऊंचाइयों तक पहुंचाया है।

पुलिस कमिश्नर सिस्टम के बाद पहला आयोजन, टीम वर्क का प्रदर्शन (Defence Expo Closing Ceremony)
मुख्यमंत्री ने कहा कि लखनऊ में कमिश्नरी सिस्टम लागू (Commissioned System Implemented)  किए जाने के बाद यह पहला बड़ा आयोजन था। लखनऊ के पुलिस कमिश्नर, मंडलायुक्त व जिलाधिकारी ने टीम भावना के साथ काम किया। उन्होंने उम्मीद जताई कि आने वाले दिनों में लखनऊ निवेश के सर्वोत्कृष्ट गंतव्य के रूप में सामने आएगा।

Defence Expo Closing Ceremony In Lucknow | CM Adityanath Yogiरक्षामंत्री ने कहा- रक्षा उत्पादन के लिहाज से ‘ब्रेकथ्रू’ (Defence Expo Closing Ceremony)  रहा आयोजन
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शनिवार को कहा कि राजधानी में आयोजित डिफेंस एक्सपो-2020 भविष्य के भारत का शंखनाद रहा। एक्सपो ने पूरी दुनिया को दिखा दिया कि नया भारत रक्षा के क्षेत्र में सशक्त, समृद्ध और समर्थ ही नहीं हुआ है, बल्कि विश्व की शक्तियों से कदम से कदम मिलाकर आगे बढ़ने को पूरी तरह से तैयार है। वह दिन दूर नहीं जब हमारा देश डिफेंस मैन्युफैक्चरिंग में विश्व का बड़ा केंद्र बनेगा।

राजनाथ डिफेंस एक्सपो-2020 के समापन(Defence Expo Closing Ceremony)  सत्र को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत का कद बढ़ा है और इसने दुनिया में गहरी छाप छोड़ी है। यह एक्सपो भारतीय रक्षा उत्पादन की दृष्टि से एक ‘ब्रेकथ्रू’ साबित हुआ है। इसने जनता की भागीदारी, पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप और अंतरराष्ट्रीय समन्वय के हर रिकाॅर्ड को तोड़ दिया है। यह हमारी दूरदर्शी व प्रगतिशील नीति व सोच की वजह से संभव हुआ है।
अहम फैसलों के लिए याद किया जाएगा डिफेंस एक्सपो
रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि डिफेंस एक्सपो 2020 को ‘लखनऊ डिक्लरेशन’ के लिए भी हमेशा याद किया जाएगा। इस एक्सपो में पहली बार भारत-अफ्रीका के रक्षा मंत्रियों के कॉन्क्लेव का आयोजन हुआ। इसमें 40 देशों के रक्षा मंत्रियों ने हिस्सा लिया। इसके अलावा कई देशों के रक्षा मंत्रियों से वार्ता हुई।

शनिवार को डिफेंस एक्सपो 2020 (Defence Expo Closing Ceremony)  के औपचारिक समापन समारोह में राजनाथ ने कहा कि इन देशों से हमारे संबंधों के महत्व को देखते हुए कई निर्णय हुए जो लखनऊ डिक्लरेशन के नाम से याद किया जाएगा। इसमें आतंकवाद से बढ़ते खतरों से निपटने के लिए समन्वय, सूचनाओं के आदान-प्रदान, खुफिया सूचनाओं की साझेदारी और आपसी हितों को संरक्षण देने जैसे कदम उठाए जाएंगे। एक तरह से यह एक्सपो दुनिया के विभिन्न देशों के साथ हमारे रक्षा समन्वय को बढ़ाने और आपसी हित के मुद्दों पर चर्चा का फोरम साबित हुआ।

राजनाथ ने डिफेंस एक्सपो (Defence Expo Closing Ceremony)  को अभूतपूर्व तरीके से सफल बताते हुए कहा कि इसका श्रेय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM  , उनके मंत्रिमंडल व अधिकारियों की टीम को जाता है। कुंभ रहा हो या प्रवासी दिवस, नेशनल यूथ फेस्टिवल रहा हो या डिफेंस एक्सपो, यूपी ने जो भी आयोजन किया, सिद्ध किया कि उसमें अपने नाम के अनुरूप असीमित क्षमता (यू फॉर अनलिमिटेड व पी फॉर पोटेंशियल) है। रक्षामंत्री ने लखनऊ के प्रशासन, एचएएल व वॉलंटियर के रूप में काम करने वाले तकनीकी कॉलेजों के विद्यार्थियों के प्रयासों को मुक्तकंठ से सराहा।

लखनऊ को मिली वैश्विक पहचान
रक्षामंत्री राजनाथ सिंह (Defense Minister Rajnath Singh) ने कहा कि इस आयोजन से लखनऊ को वैश्विक पहचान मिली है। दुनिया के 70 से अधिक देश के लोगों को लखनऊ के बारे में जानने को मिला। आज लखनऊ की चर्चा पूरी दुनिया में हो रही है। लखनऊ का सांसद होने की वजह से उन्हें इससे बड़ी खुशी है। यह सफलता डिफेंस के प्रति समस्त देशवासियों की आशाओं व आकांक्षाओं का प्रतीक है।

Video : लखनऊ में वाहन चेकिंग के दौरान हंगामा, पुलिस ने जनता को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा

-Mradul tripathi

Share.