बेटी बालिग है और उसको निर्णय लेने का अधिकार : विधायक

0

बरेली जिले की बिथरी चैनपुर सीट से विधायक राजेश मिश्रा उर्फ़ पप्पू भरतौल की बेटी साक्षी ने दलित युवक अजितेश कुमार के साथ वैदिक हिन्दू रीति रिवाज से शादी करने का वीडियो बुधवार को वायरल किया| उसके बाद जारी एक अन्य वीडियो में उसने बरेली के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक से गुहार लगाई कि उसे उसके पिता और विधायक राजेश मिश्रा, भाई विक्की और पिता के एक सहयोगी से जान का खतरा है| ऐसे में उसे और उसके पति को सुरक्षा दी जाए| अब इस मामले में साक्षी के पिता राजेश मिश्रा ने मीडिया के सामने प्रेस रिलीज़ कर अपना बयान जारी किया है| उनका कहना है कि बेटी बालिग है और उसको निर्णय लेने का अधिकार है, उन्होंने किसी को कोई जान से मारने की धमकी नहीं दी है|

लोकतंत्र को कलंकित कर रही BJP : मायावती

प्राप्त जानकारी के अनुसार, साक्षी ने आरोप लगाया था कि उसके पिता के लोग मिलकर उसकी और उसके पति की हत्या करना चाहते हैं| साक्षी ने बरेली के सांसद, विधायकों और मंत्रियों से अपील की है कि वे उसके पिता, भाई और पिता के सहयोगी की मदद न करें| साक्षी ने वायरल वीडियो के माध्यम से अपने पिता से कहा है कि उसे चैन से रहने दिया जाए और वह चैन से राजनीति करें| साक्षी ने यह भी धमकी दी है कि यदि उसकी और पति की हत्या की गई तो वह उन्हें भी फंसा देगी|

किसानों को 77000 रुपए हर साल देगी सरकार

इस बारे में बरेली के डीआईजी आरके पांडेय ने बताया कि साक्षी मिश्रा की दलित युवक अजितेश कुमार से विवाह की सूचना वायरल वीडियो से मिली है| पांडेय ने बताया कि यह मामला संज्ञान में आने पर उन्होंने बरेली के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को निर्देश दिया है कि साक्षी और अजितेश को सुरक्षा दी जाए| पांडेय ने बताया कि दंपति ने अभी तक यह सूचित नहीं किया है कि उनका पता ठिकाना कहां है| उनकी सुरक्षा के लिए पुलिस कहां भेजी जाए|

aleikblg

इस सब घटनाक्रम के बाद बीजेपी विधायक राजेश मिश्रा उर्फ पप्पू भरतौल ने प्रेस रिलीज़ जारी करते हुए कहा-

”मेरे खिलाफ मीडिया में जो चल रहा है, यह सब गलत है| बेटी बालिग है, उसको निर्णय लेने का अधिकार है, मैंने किसी को कोई जान से मारने की धमकी नहीं दी है, न ही मेरे किसी आदमी ने दी है, न ही मेरे परिवार के किसी व्यक्ति ने दी है| मैं व मेरा परिवार अपने काम में व्यस्त हैं, मैं अपनी विधानसभा में जनता का कार्य कर रहा हूं व पार्टी (भाजपा) का सदस्यता चला रहा हूं| मेरी तरफ से किसी कोई खतरा नहीं है|”

एक महीने के भीतर ही कोर्ट ने आरोपी को फांसी की सज़ा दी

Share.