अब दामाद और बहू को भी रखना होगा सास ससुर का ख्याल, वरना होगी जेल

0

आपने देखा होगा अक्सर बहू बेटे और बेटी दामाद अपने सास ससुर का ख्याल नहीं रखते है। और उनको बढ़ती उम्र में आराम की जगह यातनाएं देते है। और कई मामलों में तो घर से बाहर तक निकाल देते है जिसके बाद उनको वृद्धआश्रम में रहना पड़ता है। लेकिन ऐसे में इन बेसहारा बुजुर्गों (Care Of Senior Citizens) का ख्याल रखने के लिए सरकार कुछ अहम फैसले लेने की तैयारी कर रही है। सरकार ने मेंटिनेंस ऐंड वेलफेयर ऑफ पैरंट्स एंड सीनियर सिटीजन एक्ट 2007 (Maintenance and Welfare Senior Citizens Act) के अनुसार बुजुर्गों का ख्याल रखने वालों की परिभाषा को और विस्तार दिया है। दरअसल, केंद्रीय कैबिनेट की तरफ से न सिर्फ खुद के बच्चों, बल्कि दामाद और बहू को भी देखभाल के लिए जिम्मेदारी सुनिश्चित करने का प्रस्ताव है।

वित्तमंत्री प्याज नहीं खाती तो क्या एवोकाडो खाती है : चिदंबरम

जानकारी के अनुसार इस अधिनियम में संशोधन को बुधवार को कैबिनेट की तरफ से भी मंजूरी मिल गई है। नए नियम में माता-पिता और सास-ससुर को भी शामिल किया गया है, चाहे वे सिनियर सिटिजन (Care Of Senior Citizens) हों या नहीं। आशा की जा रही है कि अगले हफ्ते इस बिल को सदन में पेश किया जा सकता है। जानकारी के मुताबिक इस अधिनियम में 10 हजार रुपये मेंटिनेंस देने की सीमा को भी खत्म किया जा सकता है।

भाजपा में शामिल हुए 400 शिवसैनिक, गिरेगी उद्धव सरकार!

देखभाल नहीं करने पर 6 महीने की कैद:-

बुजुर्गों की देखभाल करने वालों की शिकायत करने पर उन्हें 6 महीने कैद की सजा हो सकती है, जो अभी तीन महीने है।देखभाल के लिए तय की गई राशि का आधार बुजुर्गों, अभिभावकों, बच्चों और रिश्तेदारों के रहन-सहन के आधार पर किया जाएगा। प्रस्तावित बदलावों में देखभाल करने वालों में गोद लिए गए बच्चे, सौतेले बेटे और बेटियों को भी शामिल किया गया है। संशोधन में “सीनियर सिटीजन केयर होम्स” के पंजीकरण का प्रावधान है और केंद्र सरकार स्थापना, संचालन और रखरखाव के लिए न्यूनतम मानक निर्धारित करेगी। विधेयक के मसौदे में ‘होम केयर सर्विसेज’ प्रदान करने वाली एजेंसियों को रजिस्टर करने का प्रस्ताव है। बुजुर्गों तक पहुंच बनाने के लिए प्रत्येक पुलिस ऑफिसर को एक नोडल ऑफिसर नियुक्त करना होगा।प्रस्ताव पास होने की जानकारी देते हुए केंद्रीय सूचना व प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Union Information and Broadcasting Minister Prakash Javadekar) ने कहा कि बिल लाने का मकसद बुजुर्गों का सम्मान सुनिश्चित करना है।

Video : मनमोहन सिंह ने बताया रुक सकते थे सिख दंगे, लेकिन कांग्रेस…

-Mradul tripathi

 

Share.