website counter widget

बाबा रामदेव ने किया देश के दलितों और मुसलमानों का अपमान

0

पतंजलि के संस्थापक बाबा रामदेव (founder of Patanjali Baba Ramdev) कभी अपने बयान के कारण सुर्खियों में रहते हैं तो कभी अपने उत्पादों के कारण। वे अक्सर आपत्तिजनक बयान देकर लोगों के निशाने पर आ जाते हैं। अब फिर ऐसा ही हुआ है। इस बार बाबा रामदेव ने दलितों, आदिवासी समूहों और मुसलमानों को लेकर ऐसा बयान दिया कि सोशल मीडिया पर उन्हें बायकॉट करने और गिरफ्तार करने की मांग उठने लगी। कई लोग पतंजलि के उत्पादों को भी जला रहे हैं और लोगों से अपील कर रहे हैं कि पतंजलि के उत्पादों का बहिष्कार करें।

एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने  शिवसेना को दिया झटका  

#BycottPatanjaliProducts कर रहा ट्रेंड

सोशल मीडिया पर ShutdownPatanjali और BycottPatanjaliProducts ट्रेंड कर रहा है।  दलितों और आदिवासी समूहों के हितों की वकालत करने वाले बाबा अंबेडकर महासभा के अध्यक्ष अशोक भारती ने भी बाबा के बयान पर आपत्ति जताई है। उन्होने कहा कि रामदेव के कहे शब्दों को नजरअंदाज नहीं किया जाएगा। उनके बयान से पोल खुल चुकी है कि वह मनुवादी विचारधारा में विश्वास रखते हैं। हमने पतंजलि के उत्पादों के बहिष्कार का ऐलान किया है। कई संगठनों का कहना है कि रामदेव जाति व्यवस्था को बढ़ावा देने वाली मनुस्मृति के प्रचारक हैं।

जानें क्यों महाराष्ट्र में सरकार बनाने से चुकी शिवसेना!

क्या था मामला

बाबा रामदेव ने एक न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा था कि आज कल पेरियार के फॉलोवर की संख्या बढ़ रही हैं, पेरियार कहते हैं कि ईश्वर को मानने वाले मूर्ख होते हैं और ईश्वर सबसे बड़ा शैतान है। इस देश के लिए लेनिन मार्क्स कभी आदर्श व्यक्ति नहीं हो सकते हैं, मैं आंबेडकर साहब के संकल्पों का पोषक हूं, किन्तु उनके भी चेलों में मूल निवासी कॉन्सेप्ट चलाने वाले लोग हैं, मैं दलितों से पक्षपात नहीं रखता हूं। मैं उनसे नफरत भी नहीं करता हूं लेकिन यह सब नफरत को जन्म देते हैं, मेरे विचार से वैचारिक आतंकवाद के विरुद्ध देश को कानून बनाना चाहिए। ऐसे कंटेंट को सोशल मीडिया से हटा देना चाहिए।

बस और ट्रक के बीच भिड़ंत, 10 लोगों की दर्दनाक मौत

        – Ranjita Pathare

 

ट्रेंडिंग न्यूज़
[yottie id="3"]
Share.