सेनाध्यक्ष ने कहा – सेना की कैंटीनों में गड़बड़

0

सेना की कैंटीन में हो रहे भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने के लिए सेनाध्यक्ष बिपिन रावत ने फास्ट मूविंग कंज्यूमर गुड्स (एफएमसीजी) कंपनियों से मदद मांगी है| रावत ने खुद यह बात स्वीकारी कि कैंटीनों में गड़बड़ियां हो रही हैं|

उन्होंने कहा कि हिंदुस्तान यूनिलीवर, प्रॉक्टर एंड गैम्बल और नेस्ले जैसी कंपनियों की मदद से कैंटीन स्टोर डिपार्टमेंट के भ्रष्टाचार को रोकना चाहते हैं| सेना प्रमुख का कहना है कि पिछले कुछ समय से सीएसडी में भ्रष्टाचार हो रहा है और इसमें वर्दी में मौजूद अधिकारी भी लिप्त हैं|

रावत ने सोमवार मुंबई में आयोजित वेंडर मीट में शीर्ष कंपनियों के अधिकारियों से कहा, “पिछले कुछ सालों से कैंटीन सर्विस के कामकाज में कुछ समस्याएं आ रही हैं| कुछ मौकों पर वर्दी में मौजूद हमारे अधिकारी भी बिजनेस पार्टनर कंपनी में मौजूद अपने दोस्तों की मदद से भ्रष्टाचार करते हैं| हम बिजनेस पार्टनर से इस समस्या के समाधान में मदद चाहते हैं|”

उन्होंने आगे कहा, “हम चाहते हैं कि कैंटीन सर्विस में कुछ गड़बड़ी न हो और इन गड़बड़ियों में यदि वर्दी में मौजूद कोई अधिकारी लिप्त पाया जाता है तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने में आप हमारी मदद करें|”

Share.