होशियार : भारत में आया मौत का वायरस – Corona Virus

0

अभी हाल ही में WHO यानी वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (World Health Organization) ने दुनिया भर को एक नए और बेहद ही घातक वायरस का अलर्ट जारी किया था। यह वायरस और कहीं नहीं बल्कि चीन से ही फैला है। साल 2002 में चीन (Coronavirus Of China) से ही ऐसा ही एक खतरनाक वायरस सॉर्स (SORS) फैला था जिसने दुनिया भर में भारी आतंक मचाया था लेकिन तब चीन इस बात से लगभग इंकार कर रहा था कि यह वायरस वही से फैला था। सिवियर एक्यूट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम (Savior Acute Respiratory Syndrome) यानी सार्स (SARS) वायरस ने दुनियाभर के लगभग 37 देशों को अपनी चपेट में ले लिया था और इस वायरस से लगभग 8273 लोग संक्रमित हुए थे जिसमें 775 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी थी। इतने व्यापक पैमाने पर इस वायरस (Virus) के फैलने के बाद चीन ने यह स्वीकार किया था कि यह वायरस (Virus) वहीं से फैला था। वहीं इस बार चाइना ने 18 साल पहले हुई अपनी उस गलती से सबक ले लिया है और कोरोना वायरस (Coronavirus Of China)  नामक इस खतरनाक वायरस की जानकारी समय रहते दे दी जिस वजह से विश्व स्वास्थ्य संगठन ने अलर्ट जारी कर दिया और दुनिया के तमाम देशों को आगाह कर दिया।

Made In China Movie Review : सिर दुखा देगी राजकुमार की ‘मेड इन चाइना’

अलर्ट जारी किए जाने के बाद से ही लगभग दुनियाभर के तमाम देशों में इस वायरस पर शोध किया जा रहा था। वहीं इस वायरस की दहशत में लगातार बढ़ती जा रही है। दुनियाभर के वैज्ञानिक और शोधकर्ता इस वायरस से निपटने और इसके इलाज की खोज करने में जुटे हुए हैं। हालांकि चीनी वैज्ञानिकों ने इस खतरनाक वायरस के संबंध कुछ नई जानकारियां जुटा ली हैं। चूंकि कोरोना वायरस (Coronavirus Of China) को सॉर्स वायरस के परिवार का ही सदस्य माना जा रहा था और यह वायरस जानवरों से इंसान में फैलता है। इस संबंध में चीनी शोधकर्ताओं ने जानकारी हासिल की है कि यह खतरनाक कोरोना वायरस (Coronavirus Of China) सांपों से इंसान में पंहुचा है। इस शोध को स्टडी जर्नल ऑफ मेडिकल वायरोलॉजी में पब्लिश किया गया है। यह वायरस मीट के होल सेल मार्केट, पोल्ट्री फर्म, सांप, चमगादड़ या फर्म एनिमल्स के माध्यम से इंसानों तक पहुंचा है। सांप से संबंधित जानकारी सामने आने के बाद जानवरों से जुड़ी अलग-अलग स्पेसीज के वायरस के साथ इस वायरस का मिलान करके परीक्षण किया गया। इस परीक्षण में यह सामने आया है कि कोरोना वायरस (Coronavirus Of China) एक पेथॉजन (pathology) है। अब यह समझना होगा कि पेथॉजन क्या है। इसे आम भाषा में जर्म्स के रूप में समझ सकते हैं। मतलब यह एक तरह का इंफेक्शन (infection) यानी संक्रमण एजेंट है जो बीमरियों को प्रोड्यूस यानी पैदा करता है। शुरूआती परीक्षण में इस बात का पता चला कि यह वायरस सांपों (Coronavirus Of China) में पाया जाता है और सांपों से ही इंसान तक पहुंचा है। यह वायरस वायरल प्रोटीन के साथ रिकॉम्बिनेश से बना है। यह वायरस शरीर में दाखिल होने पर प्रोटीन सेल्स पर अटैक करता है और उसके लिए रिसेप्टर का कार्य करता है। इसी के चलते व्यक्ति संक्रमित हो जाता है।

Made In China Movie Trailer: Housefull 4 को टक्कर देने आई राजकुमार की SEX COMEDY MOVIE

अब सबसे जरूरी बात यह है कि यदि यह वायरस (Coronavirus Of China) सांपों में पाया जाता है तो फिर आखिर यह इंसानों तक पहुंचा कैसे? तो ऐसा माना जा रहा है कि सांपों से यह वायरस पानी में रहने वाले जीव-जंतुओं तक पहुंचा। इन जीव-जंतुओं का इस्तेमाल बतौर सी-फूड के रूप में किया जाता है और यहीं से यह वायरस इंसान तक पहुंचा। इस वायरस से जुड़े ताजा मामले साल 2019 के दिसंबर माह में चीन के वुहान शहर में सामने आए थे जिसके बाद यह वायरस तेजी से चीन के अन्य शहरों के साथ दुनिया के दूसरे देशों में फैलने लगा। वहीं ताजा मामले सामने आने के बाद चीनी प्राधिकरण ने अपना एक बयान जारी किया था, जिसमे उसने बताया था कि चीन के वुहान (Wuhan) शहर में तकरीबन 59 मामले सामने आए थे, जिनमें इस नए वायरस का संक्रमण देखा गया था। चीनी सरकार द्वारा पहली बार किसी वायरस की पुष्टि की गई यह अपने आप में ही काफी हैरान करने वाली बात है क्योंकि चाइना (Coronavirus Of China)  कभी भी अपने देश की नकारात्मक खबर को जल्द दुनिया के सामने नहीं लाती। हालांकि अपनी पिछली गलती से सबक लेते हुए चाइना ने इस वायरस के बारे में समय रहते जानकारी दे दी। अभी तक इस वायरस ने दुनियाभर के अलग-अलग देशों में कई लोगों को प्रभावित कर दिया है लेकिन अभी तक इसका स्थायी और पुख्ता इलाज नहीं खोजा जा सका है। डॉक्टर्स ने सतर्कता बरतने को ही बचाव का तरीका बताया है। वहीं दुनियाभर में इसका इलाज खोजा जा रहा है और जल्द ही इसका इलाज भी सामने आ जाएगा।

फिलहाल चीन (Coronavirus Of China) में अब तक इस वायरस के 830 मामले सामने आए हैं, जिनकी पुष्टि की जा चुकी है। गुरुवार तक इस वायरस से 25 लोगों की मौत हो चुकी है। चीन में फैले इस घातक वायरस के कारण चीन के कई शहरों में आवाजाही पूर्ण रूप से बंद कर दी गई है। दुनिया के कई देशों ने अपने नागरिकों के लिए चीन की यात्रा के लिए अलर्ट जारी कर दिया है और एतिहात के तौर पर यात्रियों की जांच भी की जा रही है। हाल ही में 60 उड़ानों में 12,828 यात्रियों की जांच की गई और कोरोना वायरस के लक्षणों का पता लगाया गया। हालांकि अभी तक किसी भी भारतीय यात्री में इसके लक्षणों का पता नहीं चला फिर भी भारत सरकार ने चीन की यात्रा करने वाले यात्रियों के लिए अलर्ट जारी किया है। अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य विनियम आपातकालीन समिति (International Health Regulations Emergency Committee) ने इस वायरस को लेकर एक बैठक भी बुलाई जिसकी अध्यक्षता WHO के प्रमुख टेडरोस एडहानोम घेब्रेयासस (Tedros Adhanom Ghebreyesus) ने की। इसमें इस वायरस के कुछ लक्षणों की जानकारी दी गई और बचाव के तरीके बताए गए।

कोरोना वायरस (Coronavirus Of China) के कुछ लक्षण हैं जिनके बारे में सभी को जानकारी जरूर होनी चाहिए व इसके बचाव के कुछ तरीके भी आपको जानना बेहद जरूरी है। सबसे पहले बात करते हैं इसके लक्षण की। इस वायरस से संक्रमित व्यक्ति में कुछ इस तरह के लक्षण दिखाई देते हैं। जैसे सर्दी, खांसी, बुखार, जुखाम के साथ-साथ सांस  लेने में तकलीफ, गले में खराश और दर्द की शिकायत होती है। धीरे-धीरे यह बुखार निमोनिया का रूप भी ले सकता है जो आगे चलकर किडनी पर कई तरह से प्रभाव डालता है और उसे प्रभावित करता है। हालांकि अभी तक इसका कोई इलाज नहीं खोजा जा सका है, इस पर शोध जारी है। फिलहाल इसके लक्षणों को पहचान कर उसका इलाज किया जा रहा है। लेकिन सतर्क रहकर और कुछ सावधानियां रखकर इससे बचाव जरूर किया जा सकता है। बचाव के तरीके भी आपको जानना जरूरी है। इस वायरस से बचने के लिए आपको सी-फ़ूड (seafood) से दूरी बनानी होगी। (Coronavirus Of China) इसके अलावा साफ़-सफाई का ध्यान रखना बेहद जरूरी है। खाना खाने से पहले हांथ साबुन से धोना बेहद जरूरी है यह तो हम सभी जानते ही हैं लेकिन आप यदि बाहर से लौटें या फिर पब्लिक ट्रांसपोर्ट में सफर करें तो इसके बाद हांथ साबुन से जरूर धोएं। अगर साबुन या फिर पानी नहीं है तो सैनेटाइजर का इस्तेमाल करें। अपने नाक और मुंह को जहां तक हो सके कवर करें। किसी भी बीमार व्यक्ति के कपड़ों और बर्तन का इस्तेमाल न करें। ये सावधानियां रख कर आप इस वायरस के अटैक से अपना बचाव कर सकते हैं।

China Open पीवी सिंधु ने तोड़ा फैंस का दिल…

– Prabhat Jain

Share.