प्रशांत किशोर के खिलाफ दर्ज हुआ कंटेंट चोरी का मामला

0

राजधानी दिल्ली में हुए चुनावों में आम आदमी पार्टी (AAP) के सिर पर सहरा बांधने का श्रेय अगर किसी को दिया जाए तो वह हैं प्रशांत किशोर (Content Theft Against Prashant Kishor)। जी हां वही प्रशांत जो साल 2014 में भारतीय जनता पार्टी के लिए रणनीति तैयार कर रहे थे। प्रशांत किशोर एक कंपनी इंडियन पॉलिटिकल एक्शन कमेटी’ (आई-पैक) का संचालन करते हैं जो राजनीतिक परामर्शदाता कंपनी है। वहीं चुनावी रणनीतिकार और जदयू के पूर्व उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर के खिलाफ पटना में गुरुवार को कंटेंट चोरी का मामला दर्ज हुआ है। दरअसल चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर अब बिहार में युवाओं को जोड़ने का कार्य कर रहे हैं और इसी के चलते उन्होंने ‘बात बिहार की’ कार्यक्रम किया था। इस कार्यक्रम के लिए बिहार के मोतिहारी के रहने वाले एक इंजीनियर शाश्वत गौतम (Shashwat Gautam) ने प्रशांत के खिलाफ कंटेंट चोरी का मुकदमा दर्ज करवाया है। शाश्वत गौतम ने आरोप लगाया है कि प्रशांत ने अपने कार्यक्रम के लिए उनके कंटेंट को चुराया है।

AAP विधायक नरेश यादव पर जानलेवा हमला, कार्यकर्ता की मौत

गौरतलब है कि पिछले दिनों ही प्रशांत किशोर (Content Theft Against Prashant Kishor) ने ‘बात बिहार की’ कार्यक्रम को लांच किया था। इस कार्य्रकम के लिए प्रशांत (Prashant Kishor) और दूसरे आरोपी ओसामा (Osama) के खिलाफ भारतीय दंड विधान की धारा 406 और 420 यानी धोखाधड़ी के तहत पटना के पाटलिपुत्र थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है। शाश्वत गौतम (Shashwat Gautam) जिन्होंने प्रशांत और ओसामा के खिलाफ केस दर्ज करवाया है वे पहले कांग्रेस (Congress) पार्टी के लिए भी काम कर चुके हैं। जब शाश्वत कांग्रेस के लिए काम करते थे तभी उन्होंने इस कार्यक्रम ‘बात बिहार की’ नाम से एक प्रोजेक्ट तैयार किया था। उन्होंने इस प्रोजेक्ट को फ्यूचर में लांच करने की पूरी तैयारी भी की थी। जब उन्होंने इस प्रोजेक्ट को तैयार किया था तब उनके साथ ओसामा नामक युवक भी कार्य करता था लेकिन इस बीच उसने अपना इस्तीफ़ा दे दिया। शाश्वत ने ओसामा पर आरोप लगाया है कि उसने ही इस प्रोजेक्ट का सारा कंटेंट चुराया और प्रशांत को सौंपा। ओसमा द्वारा चुराए गए कंटेंट को प्रशांत ने अपनी वेबसाइट पर डाल दिया। इस पूरे मामले में शाश्वत ने पुलिस को कुछ सबूत भी सौंपे हैं।

Delhi Election 2020 Result : AAP की प्रचंड जीत, समर्थकों ने मनाया जश्न

प्रशांत किशोर (Content Theft Against Prashant Kishor) पर लगे इन आरोपों के बारे प्रशांत ने सफाई देते हुए कहा कि ये सभी आरोप बेबुनियाद हैं। उन्होंने कहा कि किसी शख्स ने दो मिनट का प्रचार पाने के लिए यह सब नाटक किया है। इतना ही नहीं प्रशांत का कहना है कि इस मामले में जांच एजेंसियों को स्वतंत्र और निष्पक्ष जांच करनी चाहिए ताकि सच्चाई सभी के सामने आ सके। गौरतलब है कि 20 जनवरी को प्रशांत ने अपने कार्यक्रम ‘बात बिहार की’ को लांच किया था। प्रशांत किशोर द्वारा यह अभियान शुरू किए जाने के महज़ चंद घंटों के भीतर ही इससे 3 लाख से भी ज्यादा लोग जुड़ गए थे। प्रशांत ने कहा था कि इस अभियान की मदद से बिहार को बदलने की चाहत रखने वाले युवाओं को जोड़ा जाएगा। इतना ही नहीं परेशान ने अगले 100 दिनों के भीतर इस अभियान से 10 लाख लोगों को जोड़ने का लक्ष्य रखा है।

BJP-AAP में रैप बैटल, किसका टाइम आएगा, दिल्ली वाला बताएगा, देखें Video

Prabhat Jain

Share.