संविधान से नहीं होने दूंगी छेड़छाड़

0

भारतीय जनता पार्टी की एक विधायक अपनी ही पार्टी के कार्यकर्ताओं पर बिफर गई| उन्होंने अपनी ही पार्टी के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए रैली निकाल दी|

भाजपा की दलित महिला सांसद सावित्री फुले ने लखनऊ में अपनी ही सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए ‘संविधान बचाओ, आरक्षण बचाओ’ रैली के जरिये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कड़ी चेतावनी दे डाली| उन्होंने आगे कहा कि वे सांसद रहें या न रहें, लेकिन वे बाबा साहब डॉ.भीमराव आंबेडकर द्वारा बनाए गए संविधान से छेड़छाड़ नहीं होने देंगी|

सांसद फुले ने मुख्यमंत्री, प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति के लिए कहा कि “जिस संविधान से हमें सम्मान मिला था, उसे बचाने के लिए यदि प्राणों की आहुति भी देनी पड़े तो हम तैयार हैं| हम भारत के संविधान और आरक्षण को बचाने के लिए प्राण देने से नहीं डरते|”

उन्होंने आगे कहा कि “भारत में 66 करोड़ लोग गरीबी रेखा के नीचे जीवन जीने को मजबूर हैं| उनके लिए शिक्षा की व्यवस्था, स्वास्थ्य की व्यवस्था, रहने और पानी की व्यवस्था, हमारे बहुजन समाज के लोगों को भारत के संविधान में व्यवस्था दिए जाने के बाद भी आज तक कुछ नहीं मिला| जिस संविधान की बदौलत कार्यपालिका, विधायिका और न्यायपालिका चल रही है, उस संविधान के साथ छेड़छाड़ नहीं होने दूंगी|”

Share.