सोनिया ने सरकार पर साधा निशाना, कहा जनता की आवाज़ दबा रही सरकार

0

नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) के खिलाफ पूरे देश में लगातार विरोध प्रदर्शन जारी है। यह विरोध प्रदर्शन अब हिंसक प्रदर्शनों में तब्दील हो चुके हैं। कई शहरों में प्रदर्शन इतना उग्र रूप धर चुका है कि कई लोगों की जान भी चली गई हैं। वहीं जनता के साथ-साथ विपक्ष भी केंद्र सरकार को घेरने का कोई भी मौका नहीं गंवाना चाहती। कांग्रेस (Congress) की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi CAA protests) ने नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के विरोध में देश भर में हो रहे प्रदर्शनों को लेकर केंद्र सरकार पर तीखा प्रहार किया है। सोनिया गांधी ने सरकार पर निशाना साधते हुए उस पर जनता की आवाज़ को बर्बरता पूर्वक दबाने का आरोप लगाया है।

CAA Protest: जबलपुर में रातभर पुलिस की गश्त, भोपाल में अलर्ट जारी

सोनिया गांधी (Sonia Gandhi CAA protests) ने देश की जनता को संबोधित करते हुए कहा कि, “लोकतंत्र में लोगों के पास ये हक होता है कि वो सरकार के गलत निर्णय के खिलाफ आवाज उठा सकें और अपना विरोध दर्ज करा सकें। लेकिन बीजेपी सरकार ने दिखाया है कि वो विरोध की आवाज सुनना नहीं चाहती। वो क्रूरता से लोगों की आवाज दबा रही है।” सोनिया गांधी ने भी सरकार द्वारा पारित किए इस कानून का विरोध करते हुए इसे भेदभावपूर्ण बताया है। सोनिया गांधी ने कहा कि लोकतंत्र में हर व्यक्ति को गलत निर्णय के खिलाफ आवाज़ उठाने का अधिकार प्राप्त है और सरकार को जनता की आवाज़ सुननी चाहिए।

मोदी सरकार NRC, CAA के बाद लेकर आई NPR, अब भारत का हर एक नागरिक गिना जाएगा

सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने आगे कहा कि, “नागरिकता संशोधन कानून भेदभावपूर्ण है। नोटबंदी (Demonetization) की तरह एक बार फिर एक-एक व्यक्ति को अपनी एवं अपने पूर्वजों की नागरिकता साबित करने के लिए लाइन में खड़ा होना पड़ेगा।” सरकार पर हमलावर होते हुए उन्होंने कहा, “कांग्रेस पार्टी देश में युवाओं, छात्रों और नागरिकों के खिलाफ बीजेपी सरकार की क्रूरता और दमन पर अपनी गहरी पीड़ा और चिंता व्यक्त करती है। सरकार की विभाजनकारी नीतियों के खिलाफ देश में शिक्षा संस्थानों में विरोध प्रदर्शन हुए हैं। लोगों को विरोध जताने का पूरा हक है। सरकार का भी कर्तव्य है कि वो नागरिकों की बात सुने और उनकी चिंता दूर करे, लेकिन भाजपा सरकार ने लोगों की आवाज को दबाया है। सरकार ने उनकी आवाज को दबाने के लिए बर्बरता से ताकत का इस्तेमाल किया है।” सोनिया गांधी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी भारतीय जनता पार्टी की इस गलत नीति की निंदा करती है और न्याय की इस लड़ाई में नागरिकों और जनता के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी है।

जनता के बाद अब मायावती का हमला

Prabhat Jain

Share.