कांग्रेस की बेरुखी के बाद सिंधिया ने थामा मोदी का हाथ!

0

कांग्रेस के दिग्गज नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया पार्टी (Congress leader Jyotiraditya Scindia joins BJP ) का साथ छोडकर मोदी की बीजेपी में शामिल हो रहे हैं! वे अपने सोशल मीडिया अकाउंट से कांग्रेस से जुड़ी जानकारियां हटा रहे हैं और खुद को जनता का सेवक बता रहे हैं। इसके बाद से राजनीतिक गलियारों मे कहा जा रहा है कि सिंधिया जल्द  (Jyotiraditya Scindia change Twitter bio ) ही  भाजपा में शामिल होने का ऐलान भी कर देंगे। साथ ही यह भी कहा जा रहा है कि सिंधिया के साथ उनके कई समर्थक भी कांग्रेस का साथ छोडकर बीजेपी का दामन थामने वाले हैं ! ऐसा इसीलिए कहा जा रहा है क्योंकि जैसे ही सिंधिया ने अपना स्टेटस हटाया और  कांग्रेस से जुड़ी जानकारियाँ हटाई वैसे ही कई लोगों ने भी अपना स्टेट्स बदलना शुरू कर दिया।

दिग्विजय ने कसा तंज विधायकों की परेड होटल में नहीं सदन में होनी चाहिए

पहले पीएम से मिले सिंधिया , फिर प्रोफ़ाइल से  हटा दिया कांग्रेस

मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव (Madhya Pradesh Assembly Elections 2019) में काफी जद्दोजहद के बाद भी जब सिंधिया सीएम नहीं बन पाए तो शुरू हुआ कयासोन का दौर । कहा जाने लगा कि सिंधिया कांग्रेस छोडने वाले  हैं। ज्योतिरादित्य सिंधिया की नाराजगी जगजाहिर है। वे कई मुद्दों पर प्रदेश सरकार को उनके वादे याद दिलाते रहते  हैं ।  पिछले काफी समय से सिंधिया के बीजेपी में शामिल होने कि खबरे सामने आ रही है। यह भी  कहा जा रहा है कि पीएम मोदी से मुलाक़ात करने के बाद उन्होने अपना बिआओ बदला है।  भोपाल से लेकर दिल्ली तक  हड़कंप मच गया। इसके बाद यूं स्टेट्स बदलना इन सब कयानों पर मोहर लगाने लगा, लेकिन फिर सामने आया सिंधिया का बयान, जिसके बाद लोगों को असलियत समझ आई।

ईरान ने की सऊदी अरब पर हमले की तैयारी

बीजेपी में शामिल  होने की बात पर सिंधिया  का बयान

बाजार में उड़ती अफवाहों पर खुद सिंधिया ने रोक लगाई और कहा कि एक महीने पहले ही मैंने ट्विटर पर अपना बायो बदला था। लोगों की सलाह पर मैंने अपना ट्विटर बायो छोटा कर लिया था। इस बारे में अफवाहें निराधार हैं। वहीं  20 कांग्रेसी विधायकों  के बीजेपी में शामिल  होने की बात पर सिंधिया ने कहा कि यह बिल्कुल बकवास है। मुझे बताएं कि कौन गायब हुआ है, मुझे उसका नाम बताएं और मैं आपकी उससे बात कराता हूं। वहीं बीजेपी प्रवक्ता डॉ. हितेश वाजपेयी ने कहा कि सिंधिया और उनके वफादार कमलनाथ सरकार के कामकाज से खुश नहीं हैं और उनका गुस्सा किसी भी स्तर तक जा सकता है।

        – Ranjita Pathare 

 

Share.