2 साल बाद कांग्रेस की इफ़्तार पार्टी

0

कांग्रेस दो साल बाद 13 जून को इफ़्तार पार्टी दे रही है| लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस की इस इफ़्तार पार्टी की चर्चा सियासी गलियारों में तेज़ है| पिछले दो वर्षों में कांग्रेस ने इफ़्तार पार्टी का आयोजन नहीं किया था और अब दिल्ली में कांग्रेस पार्टी की ओर से यह इफ़्तार पार्टी सेक्युलरिज़्म की राजनीति कही जा रही है| 

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इफ़्तार पार्टी में शामिल होने के लिए पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को भी न्योता भेजा है| राहुल के निमंत्रण को उन्होंने स्वीकार कर लिया है| इससे पहले यह खबर आई थी कि प्रणब मुखर्जी को आमंत्रित नहीं किया गया है| पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने सोमवार को कहा कि पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने पूर्व राष्ट्रपति को खुद आमंत्रित किया था| प्रणब दा का इस कार्यक्रम में आना इसलिए भी अहम् है क्योंकि हाल ही में प्रणब दा  ने आरएसएस की सभा को संबोधित किया था|

बता दें कि कांग्रेस की इफ़्तार पार्टी में अरविन्द केजरीवाल के अलावा विपक्ष के सभी नेताओं को आमंत्रित किया गया है| सपा नेता अखिलेश यादव, बसपा प्रमुख मायावती, कर्नाटक  के मुख्यमंत्री कुमारस्वामी सहित सभी विपक्ष के नेता इस पार्टी में शामिल होंगे| कांग्रेस इस इफ़्तार पार्टी के जरिये विपक्ष के नेताओं के अलावा मुस्लिमों को भी अपने साथ लाने की कोशिश करेगी|

Share.