नागरिकता बिल के जो समर्थन मे वो देश भक्‍त नहीं तो देशद्रोही : शिवसेना

0

नागरिकता संशोधन बिल (Citizenship Amendment Bill) पर मचे बवाल के बीच शिवसेना (Shivsena Sanjay Raut Statement) का रुख साफ नहीं हो पा रहा है। पहले बिल का विरोध कर रही शिवसेना लोकसभा मे बिल के समर्थन में आ गई। वहीं कांग्रेस की नाराजगी के बाद उन्होन फिर अपना रुख बदल लिया था, लेकिन अब शिवसेना का कहना है कि जो इस बिल का समर्थन करेगा, वह देशभक्त कहलाएगा तथा जो बिल (Citizenship Bill In Rajya Sabha) का समर्थन नहीं करेगा, उसे देशद्रोही कहा जाएगा। राऊत के इस बयान के बाद फिर हंगामा मच गया। उन्होने पीएम को निशाना साधकर भी बयान दिया।

सांसद नुसरत ने सड़क पर किसे कर दिया खुलेआम किस

संजय राउत (Sanjay Raut Statement on Citizenship Amendment Bill ) ने सदन में कहा कि जो बिल का समर्थन करेंगे वो देश भक्‍त होंगे और जो नहीं करेंगे वो देशद्रोही होंगे। ये मैंने पढ़ा है। ये भी पढ़ा कि जो बिल का विरोध कर रहे हैं वो पाकिस्‍तान की भाषा बोल रहे हैं। ये पाकिस्‍तान की संसद नहीं है, ये भारत की है। हमारे मजबूत प्रधानमंत्री हमारे मजबूत गृहमंत्री आपसे बहुत आशा है (Citizenship Bill In Rajya Sabha)। जिस स्‍कूल में आप पढ़ते हैं हम उसके मास्‍टर है। हमें शरणार्थियों को शरण दे रहे हैं तो घुसपैठियों को निकालना चाहिए। मानवता के आधार पर हमें उन्‍हें स्‍वीकार करना चाहिए। उस पर राजनीति नहीं होनी चाहिए।  भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा कि आप जिस स्कूल में पढ़ते हो उस स्कूल के हम हेडमास्टर रह चुके हैं और हमारे स्कूल के हेडमास्टर बालासाहेब ठाकरे तथा अटल बिहारी बाजपेयी थे।

कांग्रेस को झटका, ज्योतिरादित्य सिंधिया बीजेपी के साथ   

बीजेपी पर निशाना साधते हुए राऊत ने आगे कहा कि तमाम मुद्दों पर समर्थन दिया है और देते रहेंगे। कई जगहों पर बिल का विरोध हो रहा है। असम, त्रिपुरा, मिजोरम से हिंसा हो रही है। देशभक्ति का प्रमाण पत्र लेने की जरूरत नहीं। हम कितने हिदुत्व है इसका प्रमाण देने की जरूरत नहीं। यह बिल धार्मिक नहीं है, लेकिन मानवता के आधार पर इस पर चर्चा होना चाहिए। मैं यह मानता हूं कि पाकिस्तान, अफगानिस्तान, बांग्लादेश के सिख, मुस्लिम समेत तमाम भाईयों का हनन हो रहा है। मैं मानता हूं कि उनको स्वीकार करना चाहिए लेकिन उसमें राजनीति नहीं होनी चाहिए। गृहमंत्री को पहले कश्‍मीरी पंडितों को वापस कश्‍मीर में बसाना चाहिए।

भारतीय सेना को मिली दुनिया की सबसे शक्तिशाली राइफल

       – Ranjita Pathare 

 

 

Share.