ISRO का साथ देने के लिए NASA ने विक्रम को भेजा ‘हेलो’ मैसेज

0

चांद की सतह पर लैंडर विक्रम के हार्ड लैंडर करने के बाद से लगातार उससे संपर्क साधने का प्रयास किया जा रहा है। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) अपनी पूरी ताकत लैंडर विक्रम से संपर्क करने के लिए झोंक रहा है। एक हफ्ता बीत जाने के बाद तक विक्रम से संपर्क स्थापित नहीं हो पाया और जैसे-जैसे दिन बीत रहे हैं विक्रम से संपर्क की उम्मीदें कम होती जा रही हैं। इसके बावजूद इसरो और देशवासियों ने हिम्मत नहीं हारी है और न ही उम्मीद छोड़ी है। पूरे देश को अपने वैज्ञानिकों पर पूरा भरोसा है और सभी को उम्मीद है कि विक्रम से पुनः संपर्क स्थापित हो जाएगा और चंद्रयान-2 मिशन पूरी तरह से सफल साबित होगा। फिलहाल यह मिशन 95 प्रतिशत सफल है।

पाकिस्तान का कश्मीर छीनने के लिए तैयार हैं हम – बिपिन रावत

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) और भारतीय वैज्ञानिकों का लोहा पूरी दुनिंया मान चुकी है। क्योंकि पहली बार में बिना किसी परेशानी के चांद की सतह पर लैंडर पहुंचाने का कारनामा भारत के अलावा कोई भी देश नहीं कर सका है। लैंडर से संपर्क टूट जाने के बाद महज़ 24 घंटे के भीतर ही इसरो ने लैंडर विक्रम का पता लगाकर एक और कारनामा कर दिखाया है। हालांकि अभी तक विक्रम से संपर्क स्थापित नहीं हो पाया है। लेकिन अब इसरो को दुनिया की सबसे बड़ी अंतरिक्ष एजेंसी राष्ट्रीय वैमानिकी एवं अंतरिक्ष प्रशासन (NASA) का साथ मिल गया है। लैंडर विक्रम से संपर्क स्थापित करने के लिए नासा ने इसरो की मदद करने का फैसला किया है।

तेजस एक्सप्रेस में यात्रियों को मिलेगी VIP सुविधाएं

विक्रम लैंडर से पुनः संपर्क स्थापित करने के लिए नासा ने उसे ‘हैलो’ का संदेश भी भेजा है। मिली जानकारी के अनुसार नासा के जेट प्रोपल्सन लैबोरेटरी (JPL) ने अपने गहरे अंतरिक्ष ग्राउंड स्टेशन नेटवर्क के जरिए लैंडर विक्रम को एक रेडियो फ्रीक्वेंसी भेजी है। इस बात की पुष्टि खुद नासा के एक सूत्र ने की है। सूत्र ने जानकारी देते हुए बताया कि नासा विक्रम से सम्पर्क स्थापित करने की कोशिश कर रहा है। इस बात से इसरो सहमत है। इसरो का कहना है कि विक्रम से संपर्क करने के लिए केवल 20-21 सितंबर तक समय है क्योंकि उसके बाद चांद पर रात हो जाएगी। ऐसे में विक्रम से संपर्क करने की सारी उम्मीदें ख़त्म हो जाएंगी।

Kulbhushan Jadhav Case : पाकिस्तान ने निकाली कुलभूषण जाधव पर अपनी भड़ास

Prabhat Jain

Share.