website counter widget

चमकी से 100 से ज्यादा बच्चों की मौत पर विपक्ष का सन्नाटा

0

बिहार में चमकी बुखार ( Chamki Fever ) से मचा हाहाकार, 100 से ज्यादा बच्चों की मौत पर भी विपक्ष ने साधी चुप्पी। चमकी बुखार यानी दिमागी बुखार से अभी तक 100 से अधिक बच्चे काल के गाल में समा चुके हैं। अक्सर राजनीतिक मुद्दों पर अपनी राय रखने और सरकार का विरोध करने वाला विपक्ष भी इस संवेदशील मुद्दे पर शांत हैं। मुजफ्फरपुर (Muzaffarpur) और सहित अन्य जिलों में पिछले 10 दिनों से बच्चों की मौतों का सिलसिला रूकने का नाम नहीं ले रहा है। बिहार में एनडीए सरकार और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) इस मामले में आलोचनाओं के घेरे में हैं।

Chamki Bukhar : लक्षण, कारण, इलाज और बचाव?

जानकारी के अनुसार, रविवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन (Harsh Vardhan) पीड़ित परिवारों से मिलने अस्पताल पहुंचे। उन्होंने इस समस्या को जड़ से समाप्त करने के लिए केंद्र सरकार की ओर से राज्य को सभी संभव तकनीक और आर्थिक मदद का आश्वासन दिया। ऐसा ही आश्वासन वे वर्ष 2014 में भी दे चुके थे तब भी वे स्वास्थ्य मंत्री थे और तब इस बीमारी के कारण 120 बच्चों की मौत हो गई थी, लेकिन आज तक कोई ऐसी तकनीक या दवाई नहीं खोजी गई, जिससे चमकी बुखार के प्रकोप बच्चों को बचाया जा सके।

Chamki Fever से 56 बच्चों की मौत, जानिये लक्षण और कैसे करें बचाव

वहीँ मौत की इस बीमारी से कई बच्चों की मौत होने के बाद भी विपक्ष की चुप्पी भी सवालों के घेरे में आ रही है। बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री और वर्तमान में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव सोशल मीडिया में सक्रिय रहने वाले नेता के तौर पर जाने जाते हैं। तेजस्वी लालू प्रसाद यादव और आरजेडी के उत्तराधिकारी भी हैं। 23 मई को लोकसभा नतीजे आने के बाद उन्होंने अब तक सिर्फ नौ ट्वीट किए हैं।

वहीँ तेज प्रताप ने इस मुद्दे पर कहा, “सुशासन बाबू, माना कि ये 5-10 वर्ष के मासूम बच्चे किसी दल के वोटर नहीं हैं लेकिन क्या इन सैकड़ो मासूमों की जान आपके सुशासन की जिम्मेदारी नहीं हैं ? नीतीश बाबू हम राजनीति बाद में कर लेंगे अभी इन मासूमों की जिंदगी ज्यादा जरूरी है। कुछ भी कीजिए इन बच्चों को बचा लीजिए…”

हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने भी विपक्ष पर तंज कसे। उन्होंने कहा, “चुनाव हारने के बाद कुछ लोगों का सेटबैक होता है। उन्होंने कहा कि सभी लोग एक मेंटालिटी के नहीं होते हैं। इसलिए अभी चुनाव हारे हुए एक महीना भी नहीं हो रहा है। हो सकता है तेजस्वी यादव अपने रिश्तेदार के पास रिफ्रेश हो रहे होंगे, इसलिए अभी वह सामने नहीं आ रहे हैं।

Chandrayaan-2 : देखें, इसरो के चंद्रयान-2 की तस्वीरें

Summary
Review Date
Author Rating
51star1star1star1star1star
ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.