website counter widget

चाइनीज पटाखों पर लगा प्रतिबंध, इन्हें रखने या जलाने पर होगी सजा

0

दिवाली का त्यौहार आने में मात्र 4 दिन का समय शेष रह गया है। ऐसे में हर किसी की तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी हैं। इस बार दिवाली पर चाइनीज पटाखों पर (Chinese Crackers) सरकार द्वारा पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया गया है। इस प्रतिबंध के संबंध में सोमवार को कस्‍टम विभाग के प्रिंसिपल कमिश्नर (Principal Commissioner of Customs) द्वारा एक नोटिस भी जारी किया गया। इस नोटिस में कहा गया कि, पटाखों के आयात पर पूरी तरह से प्रतिबंध हैं। इसके अलावा अगर कोई भी व्यक्ति चाइनीज पटाखों को रखता है, बेचता है या फिर इसका सौदा करता है तो उसके खिलाफ कस्‍टम एक्‍ट 1962 के तहत मुकदमा कर सजा दी जाएगी।

सरकार की तरफ से जारी किए गए नोटिस में इस बात की भी जिक्र किया गया है कि चाइनीज पटाखों का इस्तेमाल बेहद चिंताजनक है। इन पटाखों के आयत पर पूरी तरह से प्रतिबन्ध लगाया जा चुका है। यदि फिर कोई व्यक्ति इन्हे रखता है तो उसके खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी। चाइनीज पटाखों का इस्‍तेमाल सरकार द्वारा बनाए गए एक्‍सप्‍लोजिव रूल्‍स 2008 (Explosive Rules 2008) के विरुद्ध है और यह बेहद ही हानिकारक साबित होता है। क्योंकि चाइनीज पटाखों में लेड, कॉपर, ऑक्‍साइड और लीथियम जैसे प्रतिबंधित केमिकल्‍स का प्रयोग होता है। सरकार की तरफ से जारी नोटिस में इस बारे में कहा गया है कि यह सभी प्रकार के केमिकल बेहद खतरनाक हैं और इंसानों के साथ ये पर्यावरण को भी बेहद ज्यादा नुकसान पहुंचाते हैं।

इसी वजह से सरकार ने चाइनीज पटाखों के इस्तेमाल पर पूरी तरह से प्रतिबन्ध लगा दिया है। वहीं सरकार ने आम जनता को सलाह दी है कि पटाखों की लेबलिंग डिटेल्‍स देखने के बाद ही उसे खरीदें। अगर किसी को चाइनीज पटाखों की सेल संबंधित कोई भी जानकारी हो तो वह चेन्‍नई कस्‍टम कंट्रोल रूम के नंबर 044-25246800 पर कॉल कर इसकी जानकारी दे सकता है। वहीं इस साल सरकार द्वारा ग्रीन पटाखे भी बाजार में उतारे गए हैं। इनमे अनार, पेंसिल, चकरी, फुलझड़ी और सुतली बम आदि शामिल हैं। सरकार ने दावा किया है कि ये पटाखे सामान्य पटाखों की तुलना में 30 प्रतिशत कम प्रदुषण फैलाते हैं।

Prabhat Jain

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.