website counter widget

CBI ने मुलायम और अखिलेश यादव को दी क्लीन चिट, कहा…

0

आय से अधिक संपत्ति ( disproportionate assets case) रखने के मामले में उत्तरप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav ) और उनके बेटे समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) को सीबीआई ने राहत दे दी है। सीबीआई द्वारा सुप्रीम कोर्ट में दायर किये गए हलफनामे में कहा गया है कि पिता और पुत्र के खिलाफ नियमित मामला (आरसी) दर्ज करने के लिए कोई सबूत नहीं मिला है, इसीलिए उन्हें क्लीन चिट दे दी (CBI Gives Clean Chit To Mulayam Singh Yadav And Akhilesh Yadav) गई है। इसके पहले 25 मार्च को कोर्ट ने आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने के मामले में मुलायम सिंह यादव और उनके बेटों अखिलेश यादव एवं प्रतीक यादव के खिलाफ अर्जी पर सीबीआई को नोटिस जारी किया था।

जरूरत पड़ी तो भाजपा से मिलाउंगा हाथ : कांग्रेस नेता

क्या था आरोप (CBI Gives Clean Chit To Mulayam Singh Yadav And Akhilesh Yadav)

वर्ष 2005 में मुलायम सिंह यादव और अखिलेश यादव के खिलाफ कांग्रेस नेता विश्वनाथ चतुर्वेदी ने आय से अधिक संपत्ति की शिकायत की थी। उन्होंने पीआईएल दाखिल कर सीबीआई जांच की मांग की थी। इसके बाद वर्ष 2007 में कोर्ट ने सीबीआई को मामले की जांच के आदेश दिए थे। जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने 2019 में इस मामले की जांच रिपोर्ट सौंपने का आदेश दिया था और अब उन्हें क्लीन चिट दे दी गई है।  इसके पहले हुई सुनवाई में मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई और न्यायमूर्ति दीपक गुप्ता की पीठ ने सीबीआई को इस मामले में जांच की स्थिति बताने के लिए 2 सप्ताह का समय दिया था। पीठ कांग्रेस नेता विश्वनाथ चतुर्वेदी की उस याचिका पर सुनवाई कर रही थी, जिसमें सीबीआई को मामले की जांच की स्थिति अदालत को बताने के लिए निर्देश देने का अनुरोध किया गया।

Exit Poll पर आजम खान के बोल

कांग्रेस की साजिश

अखिलेश यादव इस मामले को लेकर कई बार कांग्रेस पर निशाना साध चुके हैं। उन्होंने कांग्रेस पर अपनी विरोधी पार्टियों के खिलाफ साजिश के आरोप लगाए थे। उन्होंने कहा था कि कांग्रेस का काम धोखा देना है। बीजेपी की तरह ही कांग्रेस भी अपने राजनीतिक विरोधियों को धमकाने का काम करती आई है।

Exit poll पर प्रियंका गांधी का मिजाज

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.