बुराड़ी हत्याकांड : अनजान ने भेजी चिट्ठी और…

1

दिल्ली के बुराड़ी के संतनगर में 11 मौतों का राज़ अभी भी राज़ ही बना हुआ है| इस मामले में कई खुलासे हो चुके हैं| मामले को कभी तंत्र-मंत्र और अंधविश्वास से जोड़ा जा रहा है तो कभी परिवार की बेटी के लव एंगल को बताया जा रहा है| बुराड़ी कांड की गुत्थी सुलझने के स्थान पर और उलझती ही जा रही है| अब एक गुमनाम चिट्ठी ने फिर से सनसनी फैला दी है|

चिट्ठी लिखने वाले ने अपना नाम नहीं बताया है, लेकिन उसने दावा किया है कि वह परिवार को बहुत करीब से जनता था| उसने बुराड़ी कांड से जुड़े भाटिया परिवार के लोगों को कराला के एक तांत्रिक के पास आते-जाते देखा था| खुद को जिम्मेदार और आदर्श नागरिक बताते हुए व्यक्ति ने लिखा है कि वह तांत्रिक का भंडाफोड़ करना चाहता है इसलिए उसने यह चिट्ठी लिखी| मंगलवार को दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच और फोरेंसिक टीम ने मकान में जाकर जांच की|

चिट्ठी में लिखा है कि परिवार कराला स्थित एक तांत्रिक के पास जाता रहा है, जो एक मंदिर में बैठता है| उसकी पत्नी भी तंत्र-मंत्र करती है| वे किसी को मारने या परेशान करने के बदले में पैसे लेते हैं| मैंने खुद भाटिया परिवार को उस तांत्रिक के पास आते-जाते देखा है| चिट्ठी भेजने वाले ने खुद को भी कराला निवासी बताया है| कई लोगों का कहना है कि हो सकता है यह ख़त तांत्रिक को फंसाने से लिए लिखा गया हो, लेकिन पुलिस मामले की जांच कर रही है और उस तांत्रिक से भी पूछताछ करने की योजना बना रही है|

भाटिया परिवार के पड़ोसियों का कहना है कि अब उनके मन से भूत-प्रेत का डर निकल गया है| लोग देर रात उनके घर के सामने से आ-जा रहे हैं| कुछ लोग हैं, जो इस बारे में अफवाह फैला रहे हैं जबकि वे भाटिया परिवार के घर से 500 मीटर की दूरी पर रहते हैं| गौरतलब है कि भाटिया परिवार के घर से मिले एक रजिस्टर में लिखा था कि 11 जुलाई को भगवान के दर्शन करने के बाद वापस आ जाएंगे| इस मामले में पड़ोसियों का कहना है कि भाटिया परिवार ने कभी किसी का बुरा नहीं चाहा इसलिए उन्हें अब डर नहीं है|

बुराड़ी हत्याकांड में भाटिया परिवार के घर से मिले एक रजिस्टर में 11 नवंबर 2017 की तारीख में ललित ने परिवार के ‘कुछ हासिल’ करने में विफल रहने के लिए ‘किसी की गलती’ का ज़िक्र किया है| उसमें कहा गया है, “धनतेरस आकर चली गई, किसी की पुरानी गलती की वजह से कुछ प्राप्ति से दूर हो, अगली दीवाली न मना सको| चेतावनी को नजरअंदाज करने के बजाय गौर किया करो| ” रजिस्टर में दर्ज था कि ललित के पिता के साथ चार अन्य आत्माएं भटक रही हैं| ये सभी ललित के रिश्तेदार की ही थी| रजिस्टर में मिली जानकारी के अनुसार, ये आत्माएं सज्जन सिंह- टीना के पिता यानी ललित के ससुर, हीरा- प्रियंका के पिता, दयानंद व गंगा देवी- ये दोनों सुजाता के सास ससुर है, यानी ललित की बड़ी बहन के रिश्तेदार थे|

10 मौतों से उठा पर्दा

अब बुराड़ी में हुई 11 मौतों में से 10 से पर्दा उठ गया है| पीएम रिपोर्ट में यह साबित हो गया है कि 10 लोगों की मौत फंदे पर झूलने से हुई है| शरीर पर चोट के कोई निशान नही हैं| ऐसे में कहा जा सकता है कि 10 लोगों की मौत फंदे पर झूलने से हुई है| अभी इस मामले में घर की सबसे बुजुर्ग महिला नारायणी देवी की पोस्टमार्टम रिपोर्ट नहीं आई है|

ये ख़बरें भी पढ़ें…

बुराड़ी हत्याकांड : रजिस्टर में किसे बताया कलयुगी?

बुराड़ी कांड : क्या वापस आएगा भाटिया परिवार?

बुराड़ी हत्याकांड : तांत्रिक गीता मां का परिवार से संबंध

इस परेशानी से जूझ रहा था भाटिया परिवार

Share.