हंगामे की भेंट चढ़ता बजट सत्र

0

संसद के बजट सत्र के दूसरे चरण में भी कोई कार्यवाही नहीं हो रही है| सभी सांसद अलग-अलग मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं| कोई दलितों की समस्या को लेकर तो कोई कावेरी जल आवंटन को लेकर हंगामा कर रहे हैं| मंगलवार को जैसे ही सदन की कार्यवाही शुरू हुई, विपक्षी दलों ने ‘वी वांट जस्टिस’ के नारे लगाने शुरू कर दिए गए| इसके बाद लोकसभा की कार्यवाही पहले दोपहर 12 बजे तक और फिर बुधवार तक स्थगित कर दी गई| इसके अलावा राज्यसभा की कार्यवाही को भी बुधवार तक के लिए स्थगित किया जा चुका है|

आज सदन में कांग्रेसी सांसद संसद की छत पर चढ़कर मोसुल में मारे गए 39 भारतीयों के परिवारों के लिए मुआवजे की मांग करने लगे, वहीं टीडीपी सांसद आंध्रप्रदेश के लिए विशेष राज्य के दर्जे की मांग कर रहे थे| टीडीपी सांसद एन. शिवप्रसाद आज फिर अलग वेश बनाकर सदन पहुंचे| एआईएडीएमके सांसदों ने कावेरी जल आवंटन को लेकर भी जमकर प्रदर्शन किया|

दलित संगठनों द्वारा बुलाए गए भारत बंद और उसमें हुई हिंसा को लेकर केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने बयान दिया| उन्होंने कहा कि हम लोगों की चिंताओं को समझ रहे हैं| हमने एससी-एससी एक्ट को कमजोर नहीं किया है| आरक्षण को लेकर अफवाहें निराधार हैं| हम एससी-एसटी वर्ग के प्रति संवेदनशील हैं| सभी लोगों और राजनीतिक पार्टियों से अपील है कि शांति बनाए रखें| गृहमंत्री के बयान के बाद लोकसभा में जोरदार हंगामा शुरू हो गया, जिसके बाद स्पीकर ने सदन की कार्यवाही बुधवार तक के लिए स्थगित कर दी|

Share.