पश्चिम बंगाल में असीमानंद का साथ लेगी बीजेपी

0

पश्चिम बंगाल में अपना आधार मजबूत करने के लिए भाजपा ने नई रणनीति अपनाई है। बीजेपी अजमेर और मक्का मस्जिद ब्लास्ट मामले में बरी हो चुके स्वामी असीमानंद को अपने साथ जोड़कर बंगाल में पार्टी को मजबूत करने की तैयारी में है। बंगाल भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने मीडिया ने बात करते हुए बताया कि मैं स्वामी असीमानंद को निजी तौर पर काफी लंबे वक्त से जानता हूं। मैं उनसे बात कर उन्हें बंगाल लाने की कोशिश करूंगा ताकि वे बंगाल में पार्टी को मजबूती देने में हमारी मदद करें।

 असीमानंद के भाई भी बीजेपी के साथ

गौरतलब है कि असीमानंद के छोटे भाई सुशांत सरकार हुगली से बीजेपी के सचिव हैं। सुशांत सरकार ने कहा है कि यदि उनके भाई राज्य में कार्य करते हैं तो उन्हें खुशी होगी। आगे उन्होंने कहा कि हमारा पूरा परिवार संघ परिवार के लिए समर्पित है।

कौन है असीमानंद

पश्चिम बंगाल स्थित हुगली निवासी स्वामी असीमानंद का बचपन का नाम नबा कुमार था। स्वामी असीमानंद को अजमेर दरगाह ब्लास्ट (2007)  और हैदराबाद मक्का मस्जिद ब्लास्ट के लिए 19 नवंबर 2010 को गिरफ्तार किया गया था। असीमानंद की गिरफ्तारी उत्तराखंड के हरिद्वार से हुई थी। आपको बता दें कि असीमानंद को साध्वी प्रज्ञा का करीबी माना जाता है, जिनका नाम मालेगांव धमाके में आया था।

Share.