भाजपा नेता ने गांधी के आंदोलन को बताया ड्रामा

0

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल (MP capital Bhopal) से भाजपा (Anant Hegde Against Mahatma Gandhi) सांसद प्रज्ञा ठाकुर (BJP Member of Parliament Pragya Thakur)  हमेशा गोडसे (Nathuram Godse) को देशभक्त बताती है और सुर्ख़ियों में छा जाती हैं। लेकिन अब इस सूची में एक और नेता शामिल हो गए हैं। जी हां अब आपको बता दें कि ये भी भाजपा (BJP) पार्टी के ही हैं और विवादित बयान देना भी इनकी आदत में शुमार है। पज्ञा ठाकुर की ही तरह अपने विवादित बयानों को लेकर सुर्खियों में रहना तो जैसे बीजेपी सांसद अनंत कुमार हेगड़े (BJP MP Anant Kumar Hegde) की आदत बन गया है। जहां साध्वी प्रज्ञा (sadhvi Pragya Thakur)  हमेशा ही गोडसे को देशभक्त बताती हैं वहीँ अब अनंत हेगड़े (Anant Hegde Against Mahatma Gandhi) ने तो राष्ट्रपिता महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) के स्वाधीनता संग्राम पर ही सवाल खड़े कर दिए हैं और उनके स्वाधीनता आंदोलन को ‘ड्रामा’ बताया है।

BJP MP Anantkumar Hegde का विवादित बयान, Mahatma Gandhi के स्वाधीनता संग्राम को बताया ‘Drama’

BJP MP Anantkumar Hegde का विवादित बयान, Mahatma Gandhi के स्वाधीनता संग्राम को बताया ‘Drama’आजकल राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी के ऊपर ऊँगली उठाने का मानो मौसम सा चल रहा है। इस मौसम में बीच बीच में गर्मी लाने का काम भाजपा सांसद प्रज्ञा ठाकुर करती रहती है आपने सुना ही होगा जिस तरह से वह गोडसे को देशभक्त बताती है। लेकिन अब इस सूची में एक और नेता शामिल हो गए है अब आपको बता दें की ये भी भाजपा पार्टी के ही है जी हां अक्सर अपने विवादित बयानों को लेकर सुर्खियों में रहने वाले बीजेपी सांसद अनंत कुमार हेगड़े ने एक बार फिर विवादति बयान दिया है। हेगड़े ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के स्वाधीनता संग्राम पर सवाल खड़े करते हुए गांधी के नेतृत्व में चले स्वाधीनता आंदोलन को ‘ड्रामा’ बताया है। यही नहीं बीजेपी सांसद ने महात्मा गांधी के सत्याग्रह और भूख हड़ताल को भी ड्रामा बताया।#AnchorRahulTiwari #BJP #AnantkumarHegde

Talented India News द्वारा इस दिन पोस्ट की गई सोमवार, 3 फ़रवरी 2020

बेंगलुरु में शनिवार को एक रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि पूरे स्व तंत्रता आंदोलन (Independence Movement) को अंग्रेजों की सहमति और समर्थन के साथ स्टेज किया गया। साथ ही उन्होंने कहा, ‘इनमें से किसी भी तथाकथित नेता को पुलिस ने नहीं पीटा। इनका स्वतंत्रता आंदोलन (Independence Movement) एक बड़ा ड्रामा था। इसका मंचन अंग्रेजों की मंजूरी के साथ किया गया। यह वास्तविक लड़ाई नहीं थी।’ उन्होंने महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) की भूख हड़ताल और सत्याग्रह (Satyagraha) को भी ‘ड्रामा’ करार दिया है। उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस का समर्थन करने वाले लोगों का कहना है कि भारत को भूख हड़ताल और सत्याग्रह की वजह से आजादी मिली है, यह सच नहीं है। अंग्रेज सत्याग्रह की वजह से देश छोड़कर नहीं गए थे। अंग्रेजों ने परेशान होकर आजादी दी थी। इतिहास पढ़ने पर मेरा खून खौलता है। ऐसे लोग हमारे देश में महात्मा बन जाते हैं।’

BJP सांसद का विवादित बयान, दिल्ली में सरकार बनी तो सरकारी जमीन पर बनी मस्जिदों को हटा देंगे

बता दें, अनंत कुमार हेगड़े (Anant Hegde Against Mahatma Gandhi) अपने बयानों को लेकर हमेशा चर्चा में रहे हैं। कुछ महीने पहले उन्होंने एक बयान देकर अपनी ही पार्टी भाजपा (BJP) के लिए मुसीबत खड़ी कर दी थी। उन्होंने दावा किया था कि महाराष्ट्र में देवेंद्र फडणवीस ने रात में जिस तरह एनसीपी नेता अजित पवार (NCP Leader Ajit Pawar) को मिलाकर सुबह राज्य में सरकार बनाई थी, उसके पीछे 40 हजार करोड़ रुपया था। उन्होंने कहा था कि फडणवीस ने राज्य के खजाने से चालीस हजार करोड़ रुपया का निकाल कर केंद्र को दे दिया। बीजेपी सांसद ने कहा कि देवेंद्र फडणवीस 80 घंटे सीएम (CM) रहे थे और इतने ही घंटे में उन्होंने यह काम किया। साथ ही हेगड़े ने कहा था, ‘आपको पता है कि हमारे आदमी 80 घंटे के लिए महाराष्ट्र में सीएम बना था। इसके बाद फडणवीस ने इस्तीफा दे दिया। उन्होंने यह ड्रामा क्यों किया था? क्या हमें पता नहीं था कि हमारे पास बहुमत नहीं है फिर भी वह मुख्यमंत्री बने। (Anant Hegde Against Mahatma Gandhi) यह सवाल हर कोई पूछता है। मुख्यमंत्री के पास करीब 40 हजार करोड़ रुपये थे। अगर Congress-NCP और शिवसेना  सत्ता में आ जाते तो वे इन पैसों का गलत इस्तेमाल करते। यह सब केंद्र का पैसा था और इसका इस्तेमाल राज्य के विकास में नहीं होता। यह सब कुछ बहुत पहले तय कर लिया गया था। इसलिए यह ड्रामा रचा गया। फडणवीस ने शपथ लेते ही 15 घंटे के अंदर सारा पैसा केंद्र को भेज दिया।’

BJP के ट्वीटर स्टार तेजिंदर पाल सिंह बग्गा ने कहा सरकार बनते ही ये बड़ा कदम उठाया जाएगा

हेगड़े (Anant Hegde Against Mahatma Gandhi) ने बेंगलुरु में आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए यहां तक कह डाला कि आखिर कैसे ‘ऐसे लोग’ भारत में महात्मा (Mahatma Gandhi) पुकारे जाते हैं? हेगड़े ने आगे कहा कि पूरा स्वतंत्रता आंदोलन (Independence Movement( अंग्रेजों की सहमति और समर्थन से खेला गया एक बड़ा ड्रामा था। यह कोई पहला मामला नहीं है जब हेगड़े ने कोई विवादित बयान दिया हो और सुर्ख़ियों में आ गए हों, इससे पहले साल 2017 में भी वे अपने एक विवादित बयान की वजह से चर्चा का विषय बन गए थे। तब एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा था कि “कुछ लोग कहते हैं कि ‘सेक्युलर’ शब्द है तो आपको मानना पड़ेगा, क्योंकि यह संविधान में है। हम इसका सम्मान करेंगे लेकिन यह आने वाले समय में बदलेगा। संविधान में पहले भी कई बदलाव हुए हैं। अब हम हैं और हम संविधान बदलने आए हैं।”

आगे उन्होंने (Anant Hegde Against Mahatma Gandhi) कहा था कि, “सेक्युलरिस्ट लोगों का नया रिवाज़ आ गया है। अगर कोई कहे कि वो मुस्लिम है, ईसाई है, लिंगायत है, हिंदू है तो मैं खुश होऊंगा। क्योंकि उसे पता है कि वो कहां से आया है। लेकिन जो खुद को सेक्युलर कहते हैं, मैं नहीं जानता कि उन्हें क्या कहूं।  ये वो लोग हैं जिनके मां-बाप का पता नहीं होता या अपने खून का पता नहीं होता।” उन्होंने भारत को हिंदुत्व की राजधानी बन जाने की भी बात कही थी। इसके अलावा साल 2019 में लोकसभा चुनाव के दौरान भी हेगड़े ने विपक्षी दल पर निशाना साधते हुए विवादित बयान दे डाला था। दरअसल इस दौरान उन्होंने विपक्षी नेता राहुल गांधी पर विवादास्पद टिप्पणी करते हुए उन्हें ‘मिश्रित नस्ल’ का कहा था। उन्होंने कहा था कि, मुस्लिम बाप और विदेशी ईसाई मां का बेटा ब्राह्मण कैसे हो सकता है। भारतीय वायुसेना (Indian Airforce)  द्वारा बालाकोट में की गई एयरस्ट्राइक के सबूत विपक्ष द्वारा मांगे जाने पर उन्होंने कांग्रेस पर यह निशाना साधा था। उन्होंने कहा (Anant Hegde Against Mahatma Gandhi) था कि, “उन्हें सबूत चाहिए, मुसलमान का बेटा (राजीव गांधी) कैसे ब्राह्मण हो गया, उसका कोई सुबूत देंगे ये लोग? मुसलमान बाप और विदेशी ईसाई मां से पैदा हुआ ये इंसान (राहुल गांधी) कैसे ब्राह्मण हो गया क्या इसका सुबूत देंगे?” उन्होंने आगे कहा था कि, “मैं मजाक नहीं कर रहा, ऑन रिकॉर्ड बोल रहा हूं। जब राजीव गांधी की मौत हुई, तब पहचान के लिए डीएनए टेस्ट करने को कहा गया, उस वक्त राहुल गांधी का डीएनए लेने की बात हुई थी तो सोनिया ने मना कर दिया और कहा कि प्रियंका गांधी का डीएनए टेस्ट कर लो। अब सच क्या है, आप सबको तो पता ही है और ये लोग हमसे प्रूफ मांग रहे हैं, इन लोगों की हैसियत ही नहीं है कि ये हमसे सुबूत मांगें।”

मध्य प्रदेश के बीना में निकली 28 BJP सांसदों की शव यात्रा!

Rahul Tiwari

Share.