सावरकर पर मनमोहन सिंह ने भाजपा के सुर में सुर मिलाया

0

नई दिल्ली: गृहमंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) ने गुरुवार को वाराणसी में एक रैली में कहा कि अगर वीर सावरकर नहीं होते तो 1857 का स्वतंत्रता संग्राम इतिहास में दर्ज नहीं हो पाता। साथ ही भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) ने महाराष्ट्र विधानसभा के लिए घोषणा पत्र जारी किया (BJP IT Cell Head Amit Malviya)। जिसमें उन्होने कहा कि यदि भाजपा कि सरकार बनती है तो वे वीर सावरकर को भारत-रत्न देंगे। भाजपा (BJP) की इस घोषणा के बाद और अमित शाह (Amit Shah) के बयान के बाद सियासत में सावरकर पर घमासान मचा हुआ है। पक्ष और विपक्ष की ओर से एक दुसरे के खिलाफ बयानों के तीर दागे जा रहे है।

Magnificent MP 2019 : इंदौर में उद्योगपतियों का लगा मेला, जानिए किसने क्या कहा

अब इन बयानों की कड़ी में कांग्रेस (Congress) के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह (Former PM Manmohan Singh) भी जुड़ गए है. लेकिन चौकाने वाली बात ये है कि मनमोहन सिंह भाजपा के सुर में सुर मिलाते हुए नजर आये है। जानकारी के अनुसार भाजपा आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय (BJP IT Cell Head Amit Malviya) ने इस विवाद के विषय में लिखा है की कांग्रेस महात्मा गाँधी के संस्कारों को बहुत पहले भूल चुकी है. लेकिन इंदिरा गाँधी का क्या? उनकी अपनी नेता ने वीर सावरकर को क्रांतिकारी बताया था। ऐसा बहुत काम होता जब मनमोहन सिंह और अमित मालवीय किसी राय पर एकमत हो लेकिन इस बार मनमोहन सिंह अमित मालवीय की बातों का समर्थन करते हुए नजर आये है।

इंदिरा गांधी थीं Veer Savarkar की अनुयायी!

जानकारी के अनुसार गुरुवार को भाजपा आईटी सेल प्रमुख अमित मालवीय (BJP IT Cell Head Amit Malviya) के द्वारा ट्वीट कर एक इमेज साझा की गई थी जिसमे इंदिरा का सावरकर पर दिया गया बयान दिखाया गया है। जिसमे इंदिरा ने कहा था की “सावरकर द्वारा ब्रिटिश सरकार की आज्ञा का उल्लंघन करने की हिम्मत करना हमारी आज़ादी की लड़ाई में अपना अलग ही स्थान रखता है। इसके साथ ही अमित मालवीय द्वारा साझा की गई तस्वीर में लिखा गया है की “किस तरह से इंदिरा गाँधी ने महान स्वतंत्रता सेनानी वीर सावरकर के योगदान को पहचाना है। उन्होंने साल 1970 में वीर सावरकर के सम्मान में डाक टिकट जारी किया था। इसके साथ ही इंदिरा गाँधी ने अपने निजी कहते से सावरकर ट्रस्ट को 11 हजार रुपये दिए थे। और 1983 में आदेश दिया था की महान क्रांतिकारी सावरकर पर डॉक्यूमेंट्री फिल्म बनाई जाए।

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह (Manmohan Singh) भी अपने एक बयान में भाजपा आईटी सेल प्रमुख अमित मालवीय (BJP IT Cell Head Amit Malviya) की बातों को पूर्णतया समर्थन करते नजर आये है। मुबाई के एक कार्यक्रम में मनमोहन सिंह इस बात का समर्थन करते नजर आये की इंदिरा गाँधी ने सावरकर के सम्मान में डाक टिकट जारी किया था। और साथ ही कहा की हम सावरकर के खिलाफ नहीं है।लेकिन हम हिन्दुत्व की उस विचारधारा का समर्थन नहीं करते जिसके पक्षधर सावरकर थे।

MP स्कूल बस पलटने से भीषण हादसा, 22 बच्चे…

-Mradul tripathi

Share.