वित्त मंत्री ने किए बड़े ऐलान, जनता को मिलेगी बड़ी राहत

0

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण शुक्रवार को एक बेहद ही महत्वपूर्ण प्रेस वार्ता को सम्बोधित किया। इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में निर्मला सीतारमण ने देश में चल रही आर्थिक सुस्ती के बीच कई बड़े ऐलान किए। इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में निर्मला सीतारमण ने कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था दुनिया के मुकाबले बेहतर स्थिति में है। उन्होंने अपने बयान में कहा कि शेयर बाजार में कैपिटल गेन्स पर सरचार्ज वापस ले लिया गया है। इतना ही नहीं अब एफपीआई (FPI) को भी सरचार्ज से मुक्त कर दिया गया है।

INX मीडिया मामले में चिदंबरम के खिलाफ मिले सबूत!

गौरतलब है कि एफपीआई पर सरचार्ज हटाने की मांग बजट के बाद से लगातार उठाई जा रही थी। वहीं निर्मला सीतारमण ने बताया कि बैंकों को भी 70 हजार करोड़ रुपए दिए गए हैं। वहीं आगामी दिनों के लिए ऐलान करते हुए निर्मला सीतारमण ने कहा कि विजयदशमी से आईटी स्क्रूटनी फेसलेस होगी। इतना ही नहीं स्टार्टअप से एंजेल टैक्स भी हटाया जाएगा।

उन्होंने कहा कि भारतीय रिजर्व बैंक की तरफ से ब्याज दरों में कटौती किए जाने का पूरा फायदा उपभोक्ताओं को मिलेगा क्योंकि इसके लिए सभी बैंक सहमत हो गए हैं। इतना ही नहीं होम, आटो और अन्य लोन पर अब ईएमआई (EMI) भी घटेगी। रेपो रेट में कटौती किए जाने पर एमसीएलआर (MCLR) में भी कटौती की जायेगी। निर्मला सीतारमण ने कहा कि सरकारी लोन पूरा होने के 15 दिन के अंदर गराकों को डॉक्यूमेंट देना होंगे। हर प्रकार के लोन एप्लीकेशन ऑनलाइन होंगे और उनकी ऑनलाइन ही ट्रैकिंग की जाएगी।

पतंजलि CEO आचार्य बालकृष्ण AIIMS में भर्ती

निर्मला सीतारमण ने कहा कि रेपो रेट को सीधे तौर पर ब्याज दर से जोड़ने पर अब कार, घर खरीददारों और रिटेल सेक्टर को सस्ता ईएमआई मिल रहा है। उन्होंने कहा कि जिन ग्राहकों ने लोन चुका दिया है उन्हें 15 दिन के अंदर दस्तावेज उपलब्ध करवा दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि GST फाइलिंग करना अब आसान होगा क्योंकि GST रिटर्न और रिफंड को बेहद ही आसान बनाया गया है।

इसके अलावा सरकार जल्द ही GSTN की खामियों को दूर करेगी। उन्होंने यह भी कहा कि सरकार पर लगातार इस तरह के आरोप लगते हैं कि टैक्स को लेकर लोगों को परेशान किया जा रहा है। लेकिन हम इसे लेकर लगातार ही कानून में सुधार कर रहे हैं।

सावरकर का सम्मान न करने वालों को सरेआम मारो : ठाकरे

उन्होंने कहा कि टैक्स को लेकर किसी को परेशान नहीं किया जाएगा। टैक्स नोटिस के लिए केंद्रीय सिस्टम होगा। उन्होंने कहा कि आगमी 1 अक्टूबर से अब केंद्रीय सिस्टम से ही नोटिस भेजे जाएंगे। वाहनों को लेकर भी निर्मला सीतारमण ने बड़ा ऐलान किया है। उन्होंने कहा कि 31 मार्च 2020 तक BS-4 वाहनों की खरीदारी मान्य होगी और उनका रजिस्ट्रेशन जारी रहेगा।

Share.