website counter widget

लोकसभा चुनाव में हारे कांग्रेस नेताओं की चुनाव रद्द करने की मांग

0

देश में जहां कांग्रेस (Indian National Congress) में घमासान मचा हुआ है। कई लोग पार्टी से इस्तीफा दे रहे हैं। वहीँ लोकसभा चुनाव ( Lok Sabha Election Results 2019 ) में हारे कई नेता अब हाई कोर्ट (High Court) की शरण में पहुंच गए हैं। सभी का कहना है कि लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election) में भाजपा (Bharatiya Janata Party) ने धांधली की है, इसीलिए चुनाव रद्द करवाने चाहिए। चुनाव में हारे पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और सांसद कांतिलाल भूरिया (Kantilal Bhuria) सहित 14 नेताओं ने कोर्ट में याचिका लगायी है।

PM मोदी के चुनाव को इलाहाबाद हाईकोर्ट में चुनौती

जानकारी के अनुसार, हाईकोर्ट की शरण में पहुंचे सभी कांग्रेस के नेताओं ने बीजेपी सांसदों का चुनाव रद्द करने की अपील की। पार्टी के ऐसे 14 नेताओं ने जबलपुर हाईकोर्ट का दरवाज़ा खटखटाया है, जो चुनाव में प्रत्याशी थे।  इनमें झाबुआ-रतलाम सीट से कांतिलाल भूरिया भी शामिल हैं। इन नेताओं में रतलाम झाबुआ , सीधी, सतना, ग्वालियर, टीकमगढ़,बालाघाट, होशंगाबाद, मंडला,उज्जैन, खरगोन, विदिशा, दमोह, सागर, शहडोल से लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के प्रत्याशी नेता शामिल हैं।

जोमैटो जल्द ही शुरू करने जा रहा नई सर्विस


चुनाव रद्द कराने के बारे में कांतिलाल भूरिया का कहना है कि प्रदेश में इतने बड़े अंतर से जीत विश्वास करने लायक नहीं है। पूरी निर्वाचन प्रक्रिया की उच्च स्तरीय जांच के लिए समिति बनायी जाए। कांग्रेस की ओर से कुल 18 संसदीय क्षेत्रों से याचिका दायर की गई हैं। जहां मध्यप्रदेश में आज कई कांग्रेसियों ने भाजपा के उम्मीदवारों का चुनाव रद्द करने की मांग की है वहीँ वाराणसी से सेना के पूर्व जवान तेज बहादुर ने भी पीएम मोदी के खिलाफ याचिका दायर की है और चुनाव रद्द कराने की मांग की है।

‘रेप ऐसी चीज, जो रुक नहीं सकती’

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ वाराणसी से तेज बहादुर ने नामांकन दाखिल किया था। नामांकन दाखिल करने के बाद चुनाव आयोग ने तेजबहादुर यादव के नामांकन को रद्द कर दिया था, जिसके बाद वे सुप्रीम कोर्ट तक पहुंचे थे, लेकिन उसका भी उन्हें फायदा नहीं हुआ था।

Summary
Review Date
Author Rating
51star1star1star1star1star
ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.