इस परेशानी से जूझ रहा था भाटिया परिवार

0

दिल्ली के बुराड़ी क्षेत्र में घर में 11 शव मिलने की गुत्थी अभी तक नहीं सुलझी है| इस मामले में परिवार के कई खुलासे हो रहे हैं| मौके पर मिले सबूतों के आधार पर पुलिस जहां अंधविश्वास के कयास लगा रही है, वहीं रिश्तेदार इस बात को नकार रहे हैं| अब परिवार के एक सदस्य द्वारा लिखे गए रजिस्टर का एक पेज सबके सामने आया है|

दिल्ली सहित पूरे देश की नजरें इस हत्याकांड पर टिकी हुई हैं| पूछताछ के बाद पुलिस को पता लगा है कि ललित एक विशेष समय में परिवार के सभी सदस्यों के साथ दिन में तीन बार पूजा करवाता था| यह पूजा पहले सुबह 8 बजे, फिर दोपहर 12 बजे और फिर रात में 10 बजे होती थी| यह पूजा ललित अपनी बहन की बेटी प्रियंका का मांगलिक दोष दूर करने के लिए करता था| इस पूजा के कुछ ही दिन बीतने के बाद ही प्रियंका की शादी तय हो गई थी, जिससे परिवार की आस्था और बढ़ गई थी|

भाटिया परिवार के पड़ोसियों का कहना है कि यह आत्महत्या नहीं हो सकती है, किसी ने हत्या की है और अब इसे आत्महत्या का रूप दिया जा रहा है| वहीं पुलिस ने घर और दुकान की तलाशी ली, जिसके बाद उन्हें 20 रजिस्टर मिले| इन रजिस्टरों में ललित ने ही अपने पिता की मृत्यु के बाद लिखना शुरू किया था| परिवारवालों का मानना था कि ललित के पिता सपने में आते हैं और जो कुछ भी कहते हैं, ललित उनको इस रजिस्टर में लिखता था|

पुलिस ने रजिस्टर का एक पन्ना भी सार्वजनिक किया है, जो 27 मई 2013 को लिखा गया है| इसमें लिखा है “ध्यान रखो, अपनी गलती को सुनकर मन छोटा न करो| जो गलती की है, उसे स्वीकार कर आगे बढ़ो| वर्तमान की बात करो, भविष्य अपने पास से अच्छा बनेगा| आर्थिक और मानसिक परेशानी का सामना तो एकजुट होकर किया जा सकता है, प्राप्ति (मोक्ष) इस पर इस पर निर्भर करती है कि तुम उसे किस तरह संभालने लायक हो| तुम्हारी उपलब्धि स्वयं है, वो तुमसे दूर नहीं हो सकती, गलतियों से सुबह चिंतक होकर करो, समय बीत गया है|”

Share.