प्लास्टिक की जगह ‘फल’ में ही देते हैं जूस, लोग जमकर पसंद कर रहे है

0

प्लास्टिक (Plastic) ज़िन्दगी का एक अहम हिस्सा बन चुका है। (Juice in Fruit Shells) अमूमन हर चीज़ के लिए प्लास्टिक (Plastic)  का इस्तेमाल हो रहा है, वो चाहे दूध हो, तेल, घी, आटा, चावल, दालें, मसालें, कोल्ड ड्रिंक, शर्बत, स्नैक्स, दवायें, कपड़े हों या फिर ज़रूरत की दूसरी चीज़ें सभी में प्लास्टिक (Plastic)  का इस्तेमाल हो रहा है। बाज़ार से फल या सब्ज़ियां (Fruits and Vegetables) ख़रीदो, तो वे भी प्लास्टिक (Plastic)  की ही थैलियों में ही मिलते हैं। प्लास्टिक के इस्तेमाल की एक बड़ी वजह यह भी है कि टिन के डिब्बों, कपड़े के थैलों और काग़ज़ के लिफ़ाफ़ों के मुक़ाबले ये सस्ता पड़ता है। पहले कभी लोग राशन, फल (Juice in Fruit Shells)  या तरकारी ख़रीदने जाते थे, तो प्लास्टिक की टोकरियां या कपड़े के थैले लेकर जाते थे। अब ख़ाली हाथ जाते हैं, पता है कि प्लास्टिक की थैलियों में सामान मिल जाएगा।

BJP का प्रचार करने पर सपना को लोगों ने दिया Shocking जवाब

अब तो पत्तल (Juice in Fruit Shells)  और दोनो की तर्ज़ पर प्लास्टिक की प्लेट (Plate), गिलास (Glass)  और कप (cup) भी ख़ूब चलन में हैं। लोग इन्हें इस्तेमाल करते हैं और फिर कूड़े में फेंक देते हैं। लेकिन इस आसानी ने कितनी बड़ी मुश्किल पैदा कर दी है, इसका अंदाज़ा अभी जनमानस को नहीं है। ये प्लास्टिक हम तो उपयोग करके फेक देते है लेकिन ये अंनतकाल तक नष्ट नहीं होते और प्रकृति और पर्यावरण को भरी हानि पहुंचाते है। ये सारा प्लास्टिक (Plastic)  समुद्र में पहुँचता है जिससे भरी मात्रा में समुद्री जीवो को नुकसान होता है। अभी कुछ महीनो पहले पीएम मोदी (PM Modi) ने सिंगल यूज़ प्लास्टिक को लेकर एक मुहीम शुरू कि थी (Juice in Fruit Shells) जिसके मायने थे कि एक बार उसे होने के बाद काम ना आने वाले प्लास्टिक का उपयोग बंद किया जाए लेकिन अभी तक इसका कोई ख़ास प्रभाव समाज पर नहीं पड़ा है।

BJP-AAP में रैप बैटल, किसका टाइम आएगा, दिल्ली वाला बताएगा, देखें Video

धरती को अगर स्वर्ग जैसा खूबसूरत बनाया जा सकता है तो केवल एक ही तरीका है | (Juice in Fruit Shells)
इसे प्लास्टिक (Plastic)  से मुक्त कर दिया जाये क्योकि जब तक प्लास्टिक (Plastic)  से बने उत्पाद , थैलिया उपयोग होती रहेगी तब तक पृथ्वी ना स्वच्छ हो सकती है ना स्वस्थ हो सकती है ना ही सुरक्षित | क्योकि प्लस्टिक को ख़त्म होने में हज़ारों साल लग जाते है | और ये एक ऐसी लड़ाई हे जो हम सबको लड़नी पड़ेगी करनी पड़ेगी कोशिश करनी पड़ेगी हमको | तो आज हम आपको मिलवाने जा रहे है एक ऐसे आदमी से जिन्होंने प्लास्टिक (Plastic)  को पूर्णतयः टाटा बाय-बाय कह दिया है. और अपने प्रयास से देश दुनिया को प्लास्टिक (Plastic free earth)  मुक्त बनाने का प्रयास कर रहे है। जी हां ये है कर्नाटक के एक जूसवाले है। ये अपनी शॉप (Juice in Fruit Shells)  में किसी भी प्रकार का प्लास्टिक (Say no to Plastic) इस्तेमाल नहीं करते है। ये अपने ग्राहकों को जूस देने के लिए फलों के खोल का उपयोग करते है जिससे कि जूस पीने के बाद कोई वेस्टेज नहीं बचता है और उसके बाद उन फलों के खोल को जानवर खा जाते है। और कोई कचरा नहीं निकलता है।

आपको बता दें की ये शॉप बेंगलुरु के Malleshwaram में स्थित है जिसका नाम Eat Raja जूस शॉप है। कस्टमर्स ने बताया की उन्हें इसकी जानकारी सोशल मीडिया से मिली है। (Juice in Fruit Shells)  ग्राहकों ने बताया की प्लास्टिक को ना कहने का ये सबसे अच्छा तरीका है। सोशल मीडिया (social media) पर Eat Raja जूस शॉप कि प्लास्टिक को बाय कहने के तरीके कि भारी वाह वही हो रही है।

BJP सांसद का विवादित बयान, दिल्ली में सरकार बनी तो सरकारी जमीन पर बनी मस्जिदों को हटा देंगे

-Mradul tripathi

Share.