रेलवे स्टेशन पर अब नहीं दिखेंगे भिखारी

0

जब भी हम रेलवे स्टेशन (railway station) जाते हैं तो वहां कई भिखारी दिख ही जाते हैं । सरकार द्वारा चलाई जा रही कई योजनाओं के बाद भी लोग खुद और बच्चों को भीख मांगने के काम मे ढकेल देते हैं, लेकिन अब रेलवे स्टेशन भिखारी मुक्त  (Begger Free Station) होगा। अच्छी बात यह है कि सभी भिखारियों के रहने कि भी व्यवस्था की जाएगी।

तीन तलाक का मतलब ही होता है देह व्यापार!

भिखारियों (Begger Free Station) का जिम्मा एनजीओ के पास

जानकारी के अनुसार, रेल मंत्री ने अब भारतीय रेल के प्रमुख स्टेशनों से भिखारियों को हटाने (Begger Free Station) की पहल की है। इसके लिए एक एनजीओ उनका साथ दे रही है। एनजीओ भिखारियों को स्टेशन से ले जाकर अपने पास रखेगी, उनके खाने,रहने और रोजगार देने कि सभी व्यवस्था कि जाएगी। उत्तर रेलवे की योजना है कि 15 अगस्त से पहले दिल्ली-एनसीआर के सभी 180 स्टेशनों को भिखारी मुक्त कर दिया जाए।

भारतीय पत्रकार को मिला Ramon Magsaysay Award 2019

भिखारी मुक्त रेलवे स्टेशनों कि पहल उत्तर रेलवे दिल्ली-एनसीआर के स्टेशनों से शुरू की जा रही है।  स्टेशनों पर भिखारियों की समस्या दूर करने के लिए एक सर्वे किया गया था। इसमें पता चला कि यहां करीब 500 से ज्यादा भिखारी हैं। वे स्टेशन पर ही रहते हैं। दिन में ये स्टेशन परिसर में भीख मांगते हैं और रात में प्लेटफॉर्म या आसपास ही सो जाते हैं। इस सर्वे को ध्यान मे रखकर ही अब नया नियम बनाया जा रहा है। रेलवे स्टेशन और सर्कुलेटिंग एरिया पर जब भी किसी भिखारी की मौत होती है उस समय उसकी मौत मिट्टी जे लिए जीआरपी को रेलवे की तरफ से 5 हजार रुपए दिया जाता है। भिखारी मुक्त होने पर इस खर्चे से भी मुक्ति मिल जाएगी। अब इस कार्य के लिए सभी ज़ोरों-शोरों से कार्य कर रहे हैं।

Video : रिक्शा चालक शीशे में युवती को देख करने लगा हस्तमैथुन…

Share.