1 नवंबर से बदलेंगे बैंको के नियम, 42 करोड़ ग्राहकों को बड़ा झटका

0

1 नवंबर से देशभर के बैंको में कई नियम लागू होने जा रहे हैं। जिसका असर सीधे आपकी जिंदगी पर होगा (SBI New Rules 1st November 2019)। ऐसे में ये जानना जरूरी है कि ऐसे कौन से बदलाव हैं जो हम पर असर डाल सकते हैं या जिनके बारे में समय पर जानकारी ना मिलने से हमे नुकसान उठाना पड़ सकता है। जानकारी के अनुसार स्टेट बैंक के 42 करोड़ ग्राहकों को बड़ा झटका लगने जा रहा है। क्योंकि एसबीआई ने फिक्स्ड डिपॉजिट(SBI Deposit) की दरों में कटौती करने की घोषणा की है।

एक मदरसा जहाँ पढाई जाती है रामायण और भागवत

अगर आप स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) के ग्राहक हैं तो 1 नवंबर से डिपॉजिट पर ब्याज की दर बदलने वाली है (SBI New Rules 1st November 2019)। वहीं बैंक के इस फैसले का असर 42 करोड़ ग्राहकों पर होगा। एसबीआई की 9 अक्टूबर की घोषणा के मुताबिक, एक लाख रुपये तक के डिपॉजिट पर ब्याज की दर 0.25 फीसदी घटाकर 3.25 फीसदी कर दी गई है। एक लाख से ज्यादा के डिपॉजिट पर इंट्रेस्ट रेट(Deposit Interest Rate) को रेपो रेट से जोड़ा जा चुका है। जानकारी दें कि वर्तमान में यह 3 फीसदी है

महाराष्ट्र में बैंकों (PSU Banks) का नया टाइम टेबल (Banks Time Table) तय हो गया है. अब यहां सभी बैंक एक ही टाइम पर खुलेंगे और बंद होंगे. बैंकों का समय सुबह 10 बजे से लेकर शाम 5 बजे तक का होता है, लेकिन पैसों का लेनदेन दोपहर 03:30 बजे तक ही होता है. बता दें कि महाराष्ट्र में बैंकों का नया टाइमटेबल बैंकर्स कमेटी (Bankers Committee) ने तय किया है, जिसे 1 नवंबर से लागू कर दिया जाएगा. गौरतलब है कि वित्त मंत्रालय (Ministry of Finance) ने बैंकों के कामकाज का समय एक जैसा ही करने का निर्देश दिया था. इसके पहले एक ही इलाके में बैंकों के कामकाज का समय अलग होता था. नए टाइम टेबल के मुताबिक, बैंक सुबह 9 बजे खुलेंगे और शाम 4 बजे तक कामकाज होगा. कुछ बैंकों का समय सुबह 9 बजे से लेकर शाम 3 बजे तक होगा.

महाराष्ट्र में भाजपा से अलग सरकार बनाएगी शिवसेना!

तीसरा बदलाव जो 1 नवंबर से होने वाला है वह कारोबारियों के लिए जरूरी है। भुगतान लेने के नियमों में भी बदलाव होने जा रहे हैं। जिसके अनुसार कारोबारियों को अब डिजिटल पेमेंट लेना अनिवार्य होगा (SBI New Rules)। इसके अलावा ग्राहकों या मर्चेंट्स से डिजिटल पेमेंट के लिए कोई भी शुल्क या फिर मर्चेंट डिस्काउंट रेट नहीं वसूला जाएगा। सीबीडीटी ने इच्छुक बैंकों और पेमेंट सिस्टम प्रोवाइडर्स से आवेदन आमंत्रित कर दिए हैं। ये नए नियम 50 करोड़ रुपये से ज्यादा के टर्नओवर वाले कारोबारियों के ऊपर ही लागू होंगे। नए नियमों के अनुसार , कारोबारियों को इलेक्ट्रॉनिक मोड से भुगतान लेने पर अब कोई भी चार्ज या शुल्क नहीं देना होगा।

इंदौर सड़क हादसे में चौकाने वाला खुलासा, पुलिस के उड़े होश

-Mradul tripathi

Share.