website counter widget

अगले सप्ताह लगातार 4 दिनों तक बंद रहेंगे सभी बैंक

0

सरकार की तरफ से 10 बैंकों के विलय का ऐलान किया गया है. जिसके विरोध में बैंक यूनियनों (Bank Union Strike) ने दो दिन की राष्‍ट्रव्यापी हड़ताल की बात कही है (Bank Strike). बैंक यूनियनों की तरफ से 26 और 27 सितंबर की हड़ताल के लिए कहा गया है, इसके बाद 28 को महीने का चौथा शनिवार है और 29 सितंबर का रविवार है. इस तरह महीने के आखिर में चार दिन बैंक बंद रह सकते हैं. 26 और 27 सितंबर को होने वाली हड़ताल में 4 बैंक यूनियन ने शामिल होने का ऐलान किया है.

कॉरपोरेट टैक्स में छूट पर RBI गवर्नर का बड़ा बयान

चार दिन बैंक बंद रहने से बैंकिंग कार्य प्रभावित होने की संभावना है क्योंकि अधिकांश शाखाएं पूरे सप्ताह में केवल तीन दिन ही खुल सकती हैं. न सिर्फ चेक क्लीयरेंस, बल्कि बैंक की हड़ताल के परिणामस्वरूप एटीएम सेवाएं भी प्रभावित हो सकती हैं.
सरकार ने 10 राष्ट्रीयकृत बैंकों का विलय कर 4 बड़े बैंक बनाने की घोषणा की है। इसके तहत यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया और ओरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स का विलय पंजाब नेशनल बैंक (Punjab National Bank) में किया जाएगा। इसके बाद अस्तित्व में आने वाला बैंक सार्वजनिक क्षेत्र का दूसरा सबसे बड़ा बैंक होगा। इसी तरह सिंडिकेट का विलय केनरा बैंक में किया जाएगा। इलाहाबाद बैंक का विलय इंडियन बैंक में होना है, जबकि आंध्रा बैंक और कॉरपोरेशन बैंक को यूनियन बैंक ऑफ इंडिया में मिलाया जाएगा। हालांकि इस पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की तरफ से स्थिति साफ करते हुए कहा गया कि बैंकों के मर्जर से किसी की नौकरी नहीं जाएगी.

कश्मीर पर पाकिस्तान जितना नीचे गिरेगा, उतना बढ़ेगा भारत का कद: अकबरुद्दीन

इस हड़ताल में बैंक यूनियन (Bank Union Strike) की तरफ से 5 दिन का सप्ताह करने और नकद लेन-देन के घंटों और विनियमित कार्य घंटों को कम करने की भी मांग है. यूनियनों ने विजिलेंस में बाहरी एजेंसियों का हस्तक्षेप रोकने, रिटायर कर्मचारियों से संबंधित मुद्दों को सुलझाने, पर्याप्त भर्तियां करने, NPS को समाप्त करने और ग्राहकों के लिए सर्विस टैक्‍स कम करने और अच्छा प्रदर्शन नहीं करने के नाम पर अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई न करने की मांग की है।

Nirmala Sitharaman Press Conference : निर्मला सीतारमण ने की बड़ी घोषणाएँ

-Mradul tripathi

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.