Ayodhya Case Hearing LIVE Updates : जल्द आयेगा फैसला

0

राम मंदिर और बाबरी मस्ज़िद मामले में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई (Ayodhya Case Hearing LIVE Updates) चल रही है| इसके पहले 26 फरवरी को सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि वह 6 मार्च को आदेश देगा कि मामले को अदालत द्वारा नियुक्त मध्यस्थ के पास भेजा जाए या नहीं|

वीके सिंह : रात को मच्‍छर बहुत थे, तो मैंने….

Image result for अयोध्या

Ayodhya Case Hearing LIVE Updates :

जल्द आयेगा फैसला

सीजेआई रंजन गोगोई ने कहा, ‘हम जल्द फैसला सुनाना चाहते हैं| मध्यस्थता करने वाले सभी लोगों  के नाम मांगे गए |इससे यह समझा जा रहा है कि कोर्ट इस मामले पर जल्द फैसला सुनना चाहता है|

अयोध्या विवाद पर फैसला सुरक्षित

मध्यस्थता का फैसला कोर्ट ने सुरक्षित रख लिया

नरसिंह राव ने वचन दिया था कि लगाह हिन्दुओं को दे दी जाएगी : रामलाला

सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा- मध्यस्थता ठीक है

कोर्ट में मध्यस्थता को लेकर अभी भी बहस जारी, बंटे जज

मध्यस्थता को लेकर कोर्ट सबको समझा नहीं पाया| जस्टिब बोबडे ने सभी पक्षों से पूछा| जस्टिस बोबडे ने कहा कि मध्यस्थता का परिणाम बाध्यकारी है, जबकि जस्टिस चंद्रचूड ने कहा कि मध्यस्थता के परिणाम से किसी को बांध नहीं सकते|

भाजपा के बुरे दौर में कांग्रेस बनी हमदर्द

मुस्लिम याचिकाकर्ता राजी

वकील राजीव धवन ने बताया कि मुस्लिम याचिकाकर्ता मध्यस्थता के लिए सहमत हैं और समझौता पार्टियों को बांध देगा| उन्होंने मध्यस्थता के लिए शर्तों को निर्धारित करने के लिए बेंच से कहा है|

वकील राजिव धवन का दावा

वकील राजिव धवन  ने दावा किया कि निर्मोही अखाडा मध्यस्थता के लिए राज़ी है|

गोपनीयता बनी रहे

जस्टिस बोबडे ने कहा कि हम इस बात पर विचार कर रहे हैं कि ऐसा होने पर मध्यस्थता को रिपोर्ट नहीं किया जाना चाहिए| गोपनीयता को बनाए रखा जाना चाहिए| यह आवश्यक है कि प्रक्रिया होने के दौरान मीडिया में इसके बारे में नहीं लिखा जाए|

हिन्दू पक्ष का नजरिया

हिन्दू पक्ष ने कहा कि मान लीजिये की सभी पक्षों में समझौता हो गया तो भी समाज इसे कैसे स्वीकार करेगा? इस पर जस्टिस बोबड़े ने कहा कि अगर समझौता कोर्ट को दिया जाता है और कोर्ट उस पर सहमति देता है और आदेश पास करता है. तब वो सभी को मानना ही होगा|

बाबर का किया नहीं बदल सकते

बाबर ने जो किया हम उसे बदल नहीं सकते दिल दिमाग और भावनाओं का मामला : जस्टिस बोबडे

मध्यस्थता के लिए बाध्य नहीं कर सकते

सुनवाई के दौरान जस्टिस चंद्रचूड ने कहा कि किसी को भी मध्यस्थता के लिए बाध्य नहीं कर सकते हैं|

मध्यस्थों का एक पैनल

न्यायमूर्ति एसए बोबडे ने कहा कि एक मध्यस्थ नहीं बल्कि मध्यस्थों का एक पैनल होना चाहिए|

एक पार्टी हार मान लेगी और एक पार्टी जीत जाएगी : कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट में जस्टिस बोबडे ने कहा आप मान रहे हैं कि एक समझौता होगा और एक पार्टी हार मान लेगी और एक पार्टी जीत जाएगी| मध्यस्थता का मतलब यह नहीं है| आप परिणाम के बारे में सोच रहे हैं|

‘यादव परंपरा के तहत तेजप्रताप की पत्नी तेजस्वी की दुल्हन बने’

समझौते के लिए सहमत नहीं होगी जनता

मध्यस्थता का विरोध करते हुए एक वकील ने कहा कि भले ही पार्टियां सहमत हों, लेकिन जनता समझौते के लिए सहमत नहीं होगी|

जस्टिस बोबडे : संपत्ति का मुद्दा नहीं है

सुप्रीम कोर्ट में जस्टिस बोबडे ने कहा कि हम जानते हैं कि ये आस्था का मामला है| हमारा अतीत पर, बाबर आक्रमण आदि पर कोई नियंत्रण नहीं है। हम केवल वर्तमान विवाद का समाधान कर सकते हैं|

मध्यस्थता के पक्ष में नहीं हिन्दू महासभा

हिंदु महासभा ने पीठ से कहा जनता मध्यस्थता के लिए तैयार नहीं होगी. तो इस पर संविधान पीठ ने कहा कि आप कह रहे है कि इस मसले पर समझौता नहीं हो सकता| हिंदू महासभा ने कहा कि समझौते के लिए पब्लिक नोटिस का जारी होना जरूरी है| समझौते के लिए मधयस्थ नियुक्त करने से पहले पब्लिक नोटिस जरूरी| विवाद से जुड़े प्रमुख पक्षकारों में सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड सहित लगभग सभी मुस्लिम पक्षकार और प्रमुख हिन्दू पक्षकारों में से निर्मोही अखाड़ा अदालत की मध्यस्थता में आपसी बातचीत से विवाद को हल करने के लिए राजी हो गए हैं|

सुप्रीम कोर्ट में शुरू हुई सुनवाई

पांच जजों की संविधान पीठ में सुनवाई शुरू हो चुकी है| हिन्दू महासभा के वकील हरि शंकर जैन ने बहस की शुरुआत की|

हाईकोर्ट ने अयोध्या के विवादित परिसर के जमीन बंटवारे के बारे में पूर्व में जो फैसला दिया था, उसमें सुन्नी सेण्ट्रल वक्फ बोर्ड, निर्मोही अखाड़ा और रामलला विराजमान के बीच ही जमीन का बंटवारा किया गया था| जिसे बाद में तीनों पक्षकारों ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी| विवाद में मुख्य मुस्लिम पक्षकार उत्तर प्रदेश सुन्नी सेण्ट्रल वक्फ बोर्ड सहित सभी प्रमुख मुस्लिम पक्षकारों के वकील राजीव धवन, राजू राम चन्द्रन, शकील अहमद, दुष्यंत दबे आदि ने 26 फरवरी को सुप्रीम कोर्ट में इस बाबत हुई सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट की मध्यस्थता में  आपसी बातचीत से विवाद को हल करने पर अपनी सहमति दे दी है|

    – रंजीता 

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

Share.