Aviation Scam : इस वजह से ED के सामने पेश नहीं होंगे प्रफुल्ल पटेल

0

एविएशन घोटाले (Aviation scam) से जुड़ी एक जांच मामले में नया मोड़ आ गया है। पूर्व नागरिक उड्डयन मंत्री और एनसीपी नेता प्रफुल्ल पटेल (Praful Patel, President of the All India Football Federation) एयरलाइन सीट आवंटन घोटाले से संबंधित पूछताछ के लिए आज ईडी के समक्ष पेश होने वाले थे, लेकिन उन्होंने किसी कारणवश पेश होने से इंकार कर दिया है। एविएशन घोटाले के सिलसिले में पटेल आज (06 मई) को प्रवर्तन निदेशालय (ED ) के सामने पेश नहीं हो पाएंगे।

मप्र का गांव बना देश का पहला सोलर विलेज !

जानकरी के अनुसार, ईडी के सामने पेश नहीं होने के बारे में एनसीपी नेता प्रफुल्ल पटेल ने कहा कि पूर्व निधारित कार्यक्रमों के चलते प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) सामने आज (गुरुवार) पेश होना मुश्किल है। इसलिए प्रवर्तन निदेशालय से मैंने अनुरोध किया है कि वह पूछताछ के लिए कोई और दिन निर्धारित कर दें। अब ईडी पटेल से पूछताछ के लिए कोई और दिन तय करने वाली है (Aviation Scam)।

अघोषित बिजली कटौती पर सीएम का अजीब जवाब

 ईडी ने एक अदालत के समक्ष दायर  आरोपपत्र में प्रफुल्ल पटेल (62) का नाम  लॉबिस्ट दीपक तलवार के जानकार के रूप में शामिल किया था।  वर्ष 2004 से 2011 के बीच नागरिक उड्डयन मंत्रालय के प्रभारी रहे राकांपा नेता का नाम इस मामले में आरोपी के रूप में शामिल नहीं है। अब पटेल की मुश्किलें और बढ़ सकती है।

ED का कहना है कि दीपक तलवार ने सिविल एविएशन के अधिकारियों और मंत्री से मिलकर एयर इंडिया के फायदे वाले ट्रैफिक राइट्स, रुट, सीट शेयरिंग और टाइमिंग एमिरेट्स, एयर अरेबिया और कतर एयरलाइन को दिलवाए, जिसके बदले में इन कंपनियों ने दीपक तलवार के खाते M/s Asia Field Ltd और M/s Gilt Assets Management Ltd में जून 2008 से फरवरी 2009 के दौरान 272 करोड़ रुपये डाले।

वीना मलिक ने लापता विमान पर कहा कुछ ऐसा कि हो गई ट्रोल

यूपीए सरकार के दौरान हुई एयरबेस विमान खरीद में 1000 करोड़ रुपये से अधिक का घोटाला हुआ था। इसके लिए तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की अध्यक्षता वाली सुरक्षा से संबंधित मंत्रिमंडलीय समिति (सीसीएस) के फैसले को ही बदल दिया गया था। इसके बाद ही पटेल को समन भेजा गया था।

Share.