LIVE Funeral Updates : पंचतत्व में विलीन हुए अटलजी

2

पूर्व प्रधानमंत्री और भारतरत्न प्राप्त अटल बिहारी वाजपेयी अनंत में विलीन हो गए हैं| उनके परलोक गमन से पूरा देश आहत है| दिल्ली के ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस (एम्स) में शाम 5 बजकर 5 मिनट पर उन्होंने अंतिम सांस ली| वाजपेयीजी का पार्थिव शरीर दिल्ली स्थित उनके निवास में रखा गया था, जहां भाजपा, कांग्रेस और कई दलों के नेताओं और प्रमुखों ने उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की| राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहनसिंह, सोनिया गांधी, राजनाथ सिंह, उद्धव ठाकरे सहित कई  बड़ी हस्तियों ने उनके अंतिम दर्शन किए| भारत सरकार ने अटल बिहारी वाजपेयी के निधन के बाद 7 दिन का राजकीय शोक घोषित किया है| इस दौरान राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका रहेगा|

शाम 4.57:  बेटी नमिता ने दी मुखाग्नि

पूर्व प्रधानमंत्री और भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी को उनकी दत्तक पुत्री नमिता ने मुखाग्नि दी| देश के सबसे प्रिय नेता पंचतत्व में विलीन हो गए| अटलजी अपनी ढ़ेरों यादें छोड़ गए| उनसे पक्ष हो या विपक्ष हर किसी ने कुछ न कुछ सिखा ही|

शाम 4.52: कुछ ही देर में पंचतत्व में विलीन हो जाएंगे अटलजी

देश के लिए बहुत ही भावुक पल आ चुका है| अब कुछ ही देर में पूर्व प्रधानमंत्री और भारत रत्न पंच तत्वों में विलीन हो जाएंगे|

शाम 4.50: भारत की यादों में रहेंगे ‘अटल’, चिता पर लिटाया

पूरे हिंदू रीति रिवाज़ के साथ स्मृति स्थल पर अंतिम संस्कार किया जा रहा है| आज राजनीति के अटल युग का अंत हो रहा है| अटलजी ने देश की राजनीति को एक नाइ दिशा दी| उन्हें चिता पर लिटाया जा चुका है|

शाम 4.40: हिंदू रीति रिवाज़ से अंतिम संस्कार, अनंत में लीन हो जाएंगे अटलजी

स्मृति स्थल पर अंतिम संस्कार की प्रक्रिया शुरू हो गई है| पूरे विधि विधान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया जा रहा है| भारी मन से सभी नेता अपने प्रिय अटलजी को अलविदा कह रहे हैं| पंडित मंत्रोच्चार कर रहे हैं|

शाम 4.33: अंतिम संस्कार की प्रक्रिया शुरू

भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी का अंतिम संस्कार शुरू कर दिया है| यह बहुत भावुक पल है, जिसमें हर कोई अपने प्रिय नेता के जाने से दुखी है| ‘मैं जी भर जिया, मैं मन भर मरू’ उनकी ये कविता सबसे मन में संतोष उत्पन्न कर रही है| अंतिम संस्कार के इस समय में सभी उनकी यादों को याद कर रहे हैं|

शाम 4.27: पूर्व पीएम मनमोहनसिंह हुए भावुक

पूर्व पीएम मनमोहनसिंह ने गठबंधन की सियासत के सूत्रधार को अंतिम श्रद्धांजलि दी| अटलजी के ऊपर लिपटे तिरंगे को समेटा गया| अटलजी के भाई की बेटी की बेटी को सेना के अधिकारीयों ने तिरंगा सौपा गया|

शाम 4.20: बांग्लादेश और नेपाल के विदेश मंत्री ने दी श्रद्धांजलि

अफगानिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति हामिद करज़ई, बांग्लादेश के विदेश मंत्री और नेपाल के विदेश मंत्री ने भी श्रध्दांजलि अर्पित की|

शाम 4.10: यादों में रहेंगे ‘अटलजी’

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति वैंकया नायडू, भूटान के राजा, लालकृष्ण आडवाणी, लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने श्रद्धांजलि अर्पित की| इसके बाद सेना द्वारा सम्मान दिया गया| अटल बिहारी अमर रहे के नारों से पूरा स्मृति स्थल गूंज उठा| पूरे देश में अटलजी के जाने से शोक की लहर है|

शाम 4.08 : प्रधानमंत्री ने दी अपने गुरु को श्रद्धांजलि

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने राजनीतिक गुरु और अपने पितातुल्य अटलजी को नम आंखों से श्रद्धांजलि दी|

दोपहर 4.05 : रक्षा मंत्री ने दी अंतिम श्रद्धांजलि

रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने अटलजी को अंतिम श्रद्धांजलि दी|

दोपहर 4.01 : स्मृति स्थल पर अंतिम संस्कार की प्रक्रिया शुरू

स्मृति स्थल पर सेना के अधिकारियों द्वारा आखिरी श्रद्धांजलि दी जा रही है| देश ने जनसैलाब और अपने आंसुओं से अटलजी के प्रति प्यार और सम्मान साबित कर दिया है| तीनों सेनाओं के सेनाध्यक्ष श्रद्धांजलि दे चुके हैं|

दोपहर 4.00 : सेना के कंधों पर सवार अटलजी

अटल बिहारी वाजपेयी अपनी अंतिम मंजिल पर पहुंच चुके हैं| वहां उन्हें सेना के जवानों ने कंधा दिया और तीनों सेनाओं के जवान आधे आधे कदम चल रहे हैं|

अटलजी की चंद लाइनें इस समय याद आ रही हैं –

क्या खोया क्या पाया जग में, मिलते और बिछड़ते मग में
मुझे किसी से नहीं शिक़ायत, यद्यपि छला गया पग-पग में
एक दृष्टि बीती पर डालें, यादों की पोटली टटोलें
अपने ही मन से कुछ बोलें…

पृथ्वी लाखों वर्ष पुरानी, जीवन एक अनन्त कहानी
पर तन की अपनी सीमाएं, यद्यपि सौ शरदों की वाणी…
इतना काफ़ी है अंतिम दस्तक, पर ख़ुद दरवाज़ा खोलें
अपने ही मन से कुछ बोलें…

जन्म-मरण का अविरत फेरा, जीवन बंजारों का डेरा
आज यहां कल कहाँ कूच है, कौन जानता किधर सवेरा
अँधियारा आकाश असीमित, प्राणों के पंखों को तौलें
अपने ही मन से कुछ बोलें…

दोपहर 3.43 : स्मृति स्थल पहुंची ‘अटल-यात्रा’

अटल बिहारी वाजपेयी की अंतिम यात्रा अपनी अंतिम मंजिल तक पहुंच चुकी है| अटलजी के अंतिम संस्कार में उन्हें तीनों सेना के जवानों द्वारा सलामी दी जाएगी| पूरे राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा| उनके प्रस्थान से पहले अंतिम दर्शन किए जाएंगे|

दोपहर 3.40 : कांग्रेस अध्यक्ष और पूर्व प्रधानमंत्री पहुंचे

स्मृति स्थल कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पूर्व पीएम मनमोहनसिंह स्मृति स्थल पहुंच चुके हैं| बताया गया था कि अटल बिहारीजी का अंतिम संस्कार शाम 4 बजे तक किया जाएगा|

दोपहर 3.25 : ब्रिटिश उच्चायोग ने झुकाया झंडा

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि देते हुए दिल्ली स्थित ब्रिटिश उच्चायोग में यूनियन जैक ने भी अपना झंडा आधा झुका दिया|

दोपहर 3.22 : दरियागंज पहुंची अंतिम यात्रा   

अटल बिहारी वाजपेयी की अंतिम यात्रा अपने अंतिम पड़ाव पर पहुंच चुकी है| दरियागंज मुस्लिम बहुल क्षेत्र हैं, लेकिन वहां सभी की आंखें नम हैं| सभी घरों की छत से अटलजी के दर्शन कर रहे हैं| लाखों लोग अपने जननेता के अंतिम दर्शन करना चाहते हैं| अब यात्रा स्मृति स्थल पहुंच रही है|

दोपहर 3.07: अफगानिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति भी पहुंचे  

अफगानिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति हामिद करज़ई भी दिल्ली पहुंच चुके हैं| वे भी अंतिम यात्रा में शामिल हो सकते हैं| हामिद करज़ई अटलजी को श्रद्धांजलि देने पहुंचे हैं|

 दोपहर 3.05 : मॉरीशस ने दी श्रद्धांजलि

इस दुख की घड़ी में भारत के साथ मॉरीशस खड़ा हुआ है| अटलजी के निधन के शोक से मॉरीशस भी आहत है| उसने भी भारत के साथ अटलजी के सम्मान में अपने राष्ट्रीय ध्वज को आधा झुकाया है| मॉरीशस सरकार ने निर्णय लिया है कि पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी के निधन के कारण सरकारी भवनों पर लहराता भारत और मॉरीशस का राष्ट्रीय ध्वज पर आधा झुका रहेगा|

दोपहर 3.00 : कदम मिलाकर चलना होगा… 

वाजपेयीजी ने एक कविता लिखी थी, जिसमें उन्होंने कहा था कि “कदम मिलाकर चलना होगा|” आज चाहे देश का पीएम हो, सीएम हो, छोटा नेता हो या फिर आम इंसान सभी कदम से कदम मिलाकर अटलजी की अंतिम यात्रा में आगे बढ़ रहे हैं|

दोपहर 2.50 : फूल लेकर खड़े लोग

सड़क के दोनों ओर फूल लेकर खड़े लोग अटलजी की अंतिम यात्रा के इंतज़ार में लोग सड़क के आसपास फूल लेकर खड़े हैं| लोग इंतजार कर रहे हैं कि कब उनके यात्रा आए और वे अटलजी को पुष्प अर्पित करें| शवयात्रा में लोग अटलजी अमर रहे के नारे लगा रहे हैं| सारे नेता पदयात्रा कर रहे हैं| उनकी अंतिम यात्रा पर उनकी ही एक कविता की कुछ लाइन|

भरी दुपहरी में अंधियारा, सूरज परछाई से हारा |
अंतरतम का नेह निचोड़ें, बुझी हुई बाती सुलगाएँ |
आओ फिर से दीया जलाएँ |हम पड़ाव को समझे मंज़िल, लक्ष्य हुआ आंखों से ओझल|
वर्तमान के मोहजाल में – आने वाला कल न भुलाएँ, आओ फिर से दीया जलाएँ |

दोपहर 2.41 : भारत रत्न को भारत रत्न की श्रद्धांजलि

भारत रत्न अटलजी को भारत रत्न लता मंगेशकर ने भी श्रद्धांजलि दी|

दोपहर 2.30 : शवयात्रा में पैदल चल रहे प्रधानमंत्री

देश के चहेते अटलजी की अंतिम यात्रा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ कई बड़े राजनीतिज्ञ वाहन के पीछे–पीछे चल रहे हैं| लगभग 2 घंटों में यात्रा अंतिम स्थल तक पहुंचेगी|

दोपहर 2.10 : सड़क पर उमड़ा जनसैलाब  

सेना की गाड़ी में अटलजी की अंतिम यात्रा निकली है| पूरी गाड़ी को फूलों से सजाया गया है| गाड़ी के दोनों तरफ उनकी तस्वीर लगाई गई है| अटलजी को देखने के लिए कई लोग छत पर, पेड़ पर चढ़े हुए हैं| पूरे रास्ते में जनसैलाब उमड़ा हुआ है|

दोपहर 2.00: अंतिम यात्रा पर निकले अटलजी

अटल बिहारी वाजपेयी अपने जीवन के अंतिम सफ़र पर चल पड़े हैं| उनका परिवार, कई नेता और जन सैलाब उनके साथ है| सभी की आंखे नम हो गई हैं| शाम 4 बजे उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा| वहां मौजूद सभी लोग बस अपने नेता की एक झलक पाने के लिए तड़प रहे हैं|

दोपहर 1.58: सेना के कंधों पर सवार निकले अटलजी

भाजपा कार्यालय से अटलजी के पार्थिव देह को सेना के जवान अपने कंधे पर लेकर निकल गए हैं| जल्द ही उनकी अंतिम यात्रा शुरू हो जाएगी| इस अंतिम यात्रा में पूरा देश शामिल होना चाहता है| सभी भरी मन से वाजपेयीजी अंतिम विदाई देने के लिए तैयार हैं| वहीं बाहर खड़े कई आमजनों ने अभी तक उनके प्रिय नेता के अंतिम दर्शन भी किए|

दोपहर 1.45: भूटान नरेश ने दी श्रद्धांजलि

भूटान नरेश ने दी श्रद्धांजलि जिग्मे खेसर नामग्याल वांगचुक जो आज ही दिल्ली पहुंचे थे उन्होंने भी पूर्व पीएम को श्रद्धांजलि दी| उनके साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज भी मौजूद रही|

दोपहर 1.40: आधे घंटे में शुरू होगी अंतिम यात्रा

अंदर जाने के लिए लोग काफी मशक्कत कर रहे हैं| कुछ लोग दरवाजे फांद कर अंदर जाने की कोशिश कर रहे हैं| अगले आधे घंटे में शुरू होगी अंतिम यात्रा|

दोपहर 1.30: जीता था कश्मीरियों का दिल

राजनीतिज्ञ सुधींद्र कुलकर्णी ने कहा, “मैंने 6 साल के लिए उनके साथ काम किया प्रधान मंत्री होने के नाते वह सरल थे, उन्होंने सभी को सम्मानपूर्वक व्यवहार किया| उन्होंने एक बार कहा कि मानवता की सीमाओं के भीतर कश्मीर के संकट को हल नहीं करेंगे, इन शब्दों के साथ उन्होंने कश्मीरियों के दिल जीते|”

दोपहर 1.15 : कुछ ही देर में शुरू होगी अंतिम यात्रा

प्रधानमंत्री दोबारा पहुंचे भाजपा कार्यालय| कुछ देर में होगी अंतिम यात्रा शुरू होगी| अमित शाह ने फिर अटल जी को याद करते हुए किया और लिखा, “राष्ट्रभक्ति की ज्वाला में जब एक महामानव तपता है…तब कहीं जाकर देश को ‘अटल’ मिलता है। भाजपा के करोड़ों कार्यकर्ताओं की ओर से अटलजी को भावभीनी श्रद्धांजलि।”

दोपहर 1.00 : श्रीलंका के विदेश मंत्री नई दिल्ली पहुंचे

श्रीलंका के विदेश मंत्री लक्ष्मण किरिएल्ला दिल्ली पहुंच गए हैं| वे अटलजी को श्रद्धांजलि देने भाजपा कार्यालय पहुंच रहे हैं| यह भी कहा जा रहा है कि पाकिस्तान के कार्यवाहक कानून एवं सूचना मंत्री सैयद अली ज़फ़र भी भारत पहुँचने वाले हैं|

दोपहर 12.51 : सीताराम येचुरी ने दी श्रद्धांजलि

राजनीतिज्ञ और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के नेता सीताराम येचुरी ने भी अटलजी को श्रद्धांजलि दी|

दोपहर 12.50 : दिल्ली के सीएम ने दी श्रद्धांजलि

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल भी भाजपा कार्यालय पहुंचे और उन्हें श्रद्धांजलि दी| सक्रिय राजनीति से कई वर्षों से दूर रहने के बाद आज भी अटलजी लोगों के मन में अटल बने हुए हैं| लगातार उमड़ रहा जनसैलाब अटलजी के प्रति लोगों के मन में सम्मान और प्यार को प्रदर्शित कर रहा है|

दोपहर 12.40 : मध्यप्रदेश के सीएम शिवराजसिंह चौहान ने दी श्रद्धांजलि

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने भी अटलजी को श्रद्धांजलि अर्पित की| इनके साथ ही भाजपा एमपी और अदाकारा हेमामालिनी ने भी भाजपा कार्यालय पहुंचकर श्रद्धांजलि दी|

दोपहर 12.30 : फिल्म निर्माता मधुर भंडारकर ने किया याद

अटलजी को सिर्फ राजनीति में ही नहीं बल्कि फ़िल्मी जगत की हस्तियों द्वारा भी याद किया जा रहा है| फिल्म नेता मधुर भंडारकर ने भी उन्हें याद किया|

दोपहर 12.20 : बांग्लादेश के विदेश मंत्री दिल्ली पहुंचे

अटलजी की अंतिम यात्रा में शामिल होने के लिए भूटान के राजा जिग्मे खेसर नामग्याल वांगचुक, बांग्लादेश के विदेश मंत्री अबुल हसन और नेपाल के केंद्रीय मंत्री प्रदीप कुमार दिल्ली पहुंच चुके हैं|

दोपहर 12.10 : शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने दी श्रद्धांजलि

शिवसेना के प्रमुख उद्धव ठाकरे ने भी अटलजी को श्रद्धांजलि दी|

दोपहर 12.06 : लालकृष्ण आडवाणी ने दी श्रद्धांजलि

लालकृष्ण आडवाणी, जो अटलजी के राजनीतिक मित्र थे, उन्होंने भी भाजपा मुख्यालय पर अटलजी को श्रद्धांजलि दी| उनके साथ उनकी बेटी प्रतिभा आडवाणी ने भी श्रद्धांजलि दी|

सुबह 11.45 : देश के दिलों में हमेशा रहेंगी ‘अटल’ यादें

भाजपा कार्यालय के बाहर लोगों का हुजूम उमड़ा है| जो लोग उनके दर्शन नहीं कर पा रहे हैं, वे ‘अटल बिहारी अमर रहे’ के नारे लगा रहे हैं| कोई जम्मू-कश्मीर से तो कोई राजस्थान, कोई बिहार तो कोई पंजाब से यानी देश के कोने-कोने से लोग भाजपा कार्यालय के बाहर बस अपने नेता को श्रद्धांजलि देने का इंतज़ार कर रहे हैं| लोगों का कहना है कि स्वर्ग में भी नारे लग रहे होंगे, ‘राजतिलक की करो तैयारी, आ रहे हैं अटल बिहारी’|

सुबह 11.50: महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ के सीएम ने किए अंतिम दर्शन

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडनवीस और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमनसिंह ने अटलजी के अंतिम दर्शन किए| वहां गायत्री मंत्रों का जाप सुनाई दे रहा है|

सुबह 11.31 : राजनीति के अविजित अटलजी के अंतिम दर्शन, पीएम का ब्लॉग

तिरंगे में लिपटे अटलजी को सभी श्रद्धांजलि दे रहे हैं| सभी उनके साथ बिताए पल, उनके द्वारा दिया गया ज्ञान, उनकी सीख को याद करके भावुक हो रहे हैं| सभी उनके साथ के अपने किस्से याद कर रहे हैं| पीएम मोदी ने भी अपने गुरु की याद में एक ब्लॉग लिखा है|

सुबह 11.20 : अंतिम विदाई का दौर जारी

भाजपा मुख्यालय पर शोकमय माहौल है| वहां के हर गेट पर भीड़ इकठ्ठी हुई है| मुख्यालय से करीब एक किलोमीटर दूर से ही लोगों को पैदल आना पड़ रहा है| देश के कोने-कोने से लोग अपने अटलजी के अंतिम दर्शन करने आए हैं| लोगों की लाइन लगभग एक किलोमीटर तक लगी हुई है| निर्धारित समय के अनुसार लगभग 2 घंटे ही अंतिम दर्शन के लिए बचे हैं|

सुबह 11.13 : पीएम मोदी, लालकृष्ण आडवाणी ने दी श्रद्धांजलि 

भाजपा कार्यालय पर अटल बिहारी वाजपेयीजी के अंतिम दर्शन शुरू हो गए हैं| सबसे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें श्रद्धांजलि दी| इसके बाद लालकृष्ण आडवाणी, उत्तरप्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ और वहां मौजूद तमाम दिग्गज नेताओं द्वारा उन्हें श्रद्धांजलि दी जा रही है|

सुबह 11.08 : भाजपा कार्यालय पर अटलजी को राजकीय सम्मान, सभी दिग्गज नेता मौजूद

जल सेना, थल सेना और वायु सेना के जवान और सेना के गोरखा रायफल के जवान सधे क़दमों से आगे बढ़ते हुए पूरे राजकीय सम्मान के साथ उन्हें भाजपा कार्यालय ले गए| पीएम मोदी, गृहमंत्री राजनाथ सिंह, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के साथ कई बड़ी हस्तियां वहां मौजूद हैं| अंतिम दर्शन शुरू होने वाले हैं, लोगों का सैलाब उमड़ गया है| सभी अपने चहेते नेता को आखिरी बार देखना चाहते हैं|

सुबह 10.58 : भाजपा मुख्यालय पहुंची ‘अटल-यात्रा’

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी अंतिम बार भाजपा मुख्यालय पहुंच चुके हैं| दोपहर 1 बजे से सबके चहेते नेता की अंतिम यात्रा शुरू हो जाएगी| लोगों का जमावड़ा लगा है| ‘तू जग माता तू ही पिता है, हे राम, हे राम’ का भजन गूंज रहा है| अब भाजपा कार्यालय पर अटलजी के अंतिम दर्शन शुरू हो रहे हैं|

सुबह 10.51 : दीनदयाल उपाध्याय मार्ग पर पहुंची यात्रा

अटलजी की दर्शन यात्रा दीनदयाल उपाध्याय मार्ग पर पहुंच चुकी है| बस कुछ ही देर में भाजपा कार्यालय पहुंचने वाली है, जहां तमाम हुजूम एकत्र हो रहा है| भाजपा कार्यालय से ही शवयात्रा निकाली जाएगी|

सुबह 10.40 : दर्शन के लिए सड़क पर उमड़ा हुजूम

सेना के जवान ट्रकों में सवार, सड़क के आसपास लोगों की भीड़, सेना के और लोग उस ट्रक के साथ तेज़ी से चल रहे हैं, जिसमें पूर्व प्रधानमंत्री अटलजी की पार्थिव देह रखी गई है| तिलक मार्ग से होते हुए भाजपा कार्यालय की तरफ यात्रा जा रही है| जोश के साथ पूरा काफिला तेज़ी से यात्रा के साथ जा रहा है|

देखिए जब अटलजी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से उत्साह के साथ मिले थे |

सुबह 10.20 : इंडिया गेट से होकर गुजरी यात्रा

अटलजी की यात्रा इंडिया गेट से होकर गुजरी| थोड़ी देर में भाजपा कार्यालय पहुंचने वाले हैं| तीनों सेना के जवान ( जल, थल वायु) उनके सम्मान में, उनके साथ चल रहे हैं| अटलजी के अनंत में विलीन हो जाने से पूरा देश अनंत पीड़ा से गुज़र रहा है| सभी इस बात से दुखी हैं कि अब अद्भुत अटल युग लौटकर नहीं आएगा|

सुबह 10.15 : दोपहर 1 बजे तक ही खुली रहेगी सुप्रीम कोर्ट

आज सुप्रीम कोर्ट भी दोपहर एक बजे के बाद बंद हो जाएगी| वंदेमातरम् और अटल बिहारी वाजपेयी अमर रहे के नारों के साथ यात्रा भाजपा कार्यालय की ओर जा रही है|

सुबह 10.00 : सेना की विशेष गाड़ी में अटलजी

पूर्व प्रधानमंत्री अटलबिहारी वाजपेयी के पार्थिव शरीर को भाजपा कार्यालय ले जाने के लिए सेना की विशेष गाड़ी को सजाया गया| सबसे आगे सेना के जवान और पीछे पूर्व प्रधानमंत्री का तिरंगे में लिपटा पार्थिव शरीर लेकर भाजपा कार्यालय की ओर प्रस्थान किया जा रहा है| उनके लिए कहा जाता था, ‘अंधकार में एक चिंगारी, अटल बिहारी-अटल बिहारी’|

सुबह 9.50 : प्रधानमंत्री और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष भाजपा मुख्यालय पहुंचे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष सहित तमाम आला नेता भाजपा कार्यालय पहुंच चुके हैं| वहां अपने पसंदीदा नेता के अंतिम दर्शन के लिए लोगों का तांता लगा हुआ है| उनकी शख्सियत ही ऐसी थी कि उनका हर कोई दर्शन करना चाहता है, उन्हें श्रद्धांजलि देना चाहता है|

सुबह 9.30: भाजपा कार्यालय की ओर रुख

अटल बिहारी वाजपेयीजी का पार्थिव शरीर अंतिम दर्शन के लिए भाजपा कार्यालय ले जाया जा रहा है| वहां पर आमजन के लिए दर्शन की व्यवस्था की गई है| भाजपा कार्यालय से दोपहर दो बजे अटलजी की अंतिम यात्रा शुरू होगी| शाम 4.30 बजे नई दिल्ली स्थित राष्ट्रीय स्मृति स्थल विजय घाट पर उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा|

सुबह 9.00 : भाजपा कार्यालय जाने के लिए तैयारी, नौसेना प्रमुख ने दी श्रद्धांजलि

नौसेना प्रमुख एडमिरल सुनील लांबा ने पूर्व पीएम अटलबिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि दी

सुबह 8.20: आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने दी श्रद्धांजलि

आरएसएस चीफ मोहन भागवत ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को उनके आवास पर जाकर श्रद्धांजलि दी| वे बहुत भावुक नज़र आए|

सुबह 8.15: भाजपा मुख्यालय लाने के लिए काफिले में शामिल ट्रकों को सजाया गया|

जिस काफिले में पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयीजी का पार्थिव शरीर बीजेपी दफ्तर पर और उसके बाद अंत्येष्टि के लिए ले जाया जाएगा, उसमें शामिल होने वाले ट्रकों को सजाया गया|

Atal bihariji death: भारतीय राजनीति का चमकता सूरज अस्त, श्रद्धांजलि का दौर..

एम्स: अटल बिहारी बाजपेयी की हालत बेहद नाजुक

 

Share.