Whatsapp जासूसी पर सरकार पर गरजे ओवैसी, कही बड़ी बात

0

भारत के कई लोगों की व्हाट्सएप (Whatsapp ) की प्राइवेसी में सेंध डालकर उनका डाटा लीक (Data leak ) किया गया है। इस खबर के सामने आने के बाद से ही हंगामा मचा हुआ है। कई लोग सरकार पर डाटा चोरी में भागीदारी का आरोप लगा रहे हैं। ऐसे ही अब ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (All India Majlis-e-Ittehadul Muslimeen) के चीफ असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) में भी इस मामले को लेकर सरकार पर जुबानी हमला किया है। उन्होने डाटा चोरी के इस मामले के लिए सरकार को जिम्मेदार ठहराया है (Government Snoopgate)।

इमरान खान को इस्तीफे के लिए दो दिन का वक्त

नागरिकों की रक्षा करना सरकार की जिम्मेदारी

असदुद्दीन ओवैसी  (असदुद्दीन ओवैसी  ) ने कहा कि नागरिकों की प्राइवेसी की रक्षा सरकार की जिम्मेदारी है। उन्होने ट्वीट कर अपनी बात रखी और कहा कि इजराइल के सिक्योरिटी फर्म्स पर सरकार की कड़ी निगरानी रहती है। ऐसे बोर्ड्स और फर्म्स में सरकार के प्रतिनिधि बैठते हैं (Government Snoopgate)। प्रधानमंत्री कार्यकालय और बेंजामिन नेतन्याहू के बीच प्यार एक तरफा लग रहा है। इजराइली सरकार हमारी मदद करने नहीं जा रही है। इसके पहले एक और ट्वीट में ओवैसी ने केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री रविशंकर प्रसाद को टैग करते हुए लिखा था, “आप एक संवेदनशील व्यक्ति हैं। आप आर्थिक मंदी और बॉक्स ऑफिस कलेक्शन के बयान को वापस ले चुके हैं। इसलिए पूरी सवेंदनशीलता के साथ मैं आपसे सवाल करना चाहता हूं कि क्या हो रहा है। इस पूरे मामले में सरकार की जानकारी और शामिल होने की हद क्या है? जेंटल रिमाइंडर, गोपनीयता एक मूलभूत अधिकार है। यह आपकी जिम्मेदारी है इसे प्रोटेक्ट करें, गोपनीयता के अधिकार का उल्लंघन न होने पाए।

शिवसेना को धमका रही भाजपा!

इतना ही नहीं ओवैसी ने रविशंकर प्रसाद को टैग करते हुए इजरायली कंपनी के द्वारा Pegasus नाम के स्पाईवेयर का जिक्र करते हुए कहा कि यह सही है कि 5 सर्विस प्रोवाइडर Pegasus द्वारा खरीदे गए। क्या आप व्हाट्सएप पर पूरे मामेल की जांच के लिए एफआईआर दर्ज करेंगे? क्या आप सर्विस प्रोवाइडर्स के नाम का खुलासा करेंगे, जिसके बाद एफआईआर दर्ज हो सके। वहीं इस मामले पर व्हाट्सएप्प के प्रबंधन का कहना है कि यूजर्स की निजता और सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है। मई माह में हमने सुरक्षा से जुड़ा मामला जल्द सुलझा लिया था और इसे लेकर भारत सरकार के अधिकारियों को सूचित किया था।

सैन्य ठिकाने पर आतंकवादी हमला, 53 सैनिकों की मौत

     -Ranjita Pathare 

 

Share.