website counter widget

ममता के बयान पर ओवैसी का प्रहार, कहा- डर गई हैं दीदी

0

हैदराबाद: ममता बनर्जी (Mamta Banerjee) ने सोमवार को टीएमसी कार्यकर्ताओं के साथ बैठक में ‘अल्पसंख्यक कट्टरता’ (Minority Extremism) का जिक्र किया और लोगों को इससे सावधान रहने का निर्देश दिया था. उन्होंने ओवैसी(Asaduddin Owaisi) का नाम लिए बिना कहा था कि हैदराबाद की एक राजनीतिक पार्टी बीजेपी से पैसा लेकर अल्पसंख्यकों में कट्टरता फैलाती है. कूच बिहार में एक जनसभा को संबोधित करते हुए बनर्जी ने कहा, ‘अल्पसंख्यकों के बीच अतिवाद सामने आ रहा है। ठीक जैसे कि हिंदुओं में चरमपंथ है। एक राजनीतिक पार्टी है जो भाजपा से पैसा लेती है। वह हैदराबाद से हैं न कि पश्चिम बंगाल से। ‘अल्पसंख्यक कट्टरता’ वाले बयान के बाद ओवैसी ने पलटवार किया है. उन्होंने कहा कि दीदी हैदराबाद में रहने वाले मुट्ठी भर लोगों से डर गई हैं.

बंद होने वाला है ये बड़ा बैंक जल्दी निकाल ले पैसे वरना…

असदुद्दीन ओवैसी ने ममता के बयान का करारा जवाब देते हुए कहा, ‘ये धार्मिक कट्टरता नहीं है कि किसी भी अल्पसंख्यकों में बंगाल के मुसलमानों का मानव विकास सूचकांक में सबसे खराब हालत है. अगर दीदी हैदराबाद में रहने वाले मुट्ठी भर लोगों से परेशान हैं तो वो ये बताये कि लोकसभा सीट में बीजेपी ने कैसे 42 में से 18 सीटें जीत ली और ममता बनर्जी की जुबान पर मेरा नाम आया, इसके लिए मैं थैंक्यू कहना चाहूंगा. ओवैसी ने कहा कि हर कोई आज मुझे टारगेट कर रहा है, घर में मुर्गी अंडा ना दे तो हम जिम्मेदार, भैंस दूध ना दे तो भी ओवैसी जिम्मेदार. ओवैसी कहा कि ममता दीदी को अब समझना होगा कि मुसलमान अब बदल चुका है. ओवैसी ने कहा कि इफ्तार पार्टी करेंगे, सिरपर टोपी लगाएं और सोचते हैं कि मुसलमान खुश हो जाएंगे. मुझे संविधान पर विश्वास है, मैं संवैधानिक लड़ाई जारी रखूंगा.

शिवसेना के आरोप पर बीजेपी का पलटवार

ममता ने बैठक के बाद कूचबिहार में मदनमोहन मंदिर जाकर पूजा अर्चना की. इसके बाद वह राजबाड़ी ग्राउंड में आयोजित रास मेला में भी शामिल हुईं. बता दें कि एक हफ्ते पहले इस मंदिर में कूचबिहार से बीजेपी के सांसद नीतीश परमानिक भी पूजा करने पहुंचे थे. सियासी जानकारों की माने तो अल्पसंख्यकों को लेकर उनका बयान और फिर उनका मंदिर जाना यह दिखाता है कि वो अब हिंदू वोटरों को अपने पाले में लाना चाहती हैं.

इमरान खान पर भड़की उनकी पूर्व पत्नी कहा कर्मों का फल मिल रहा है!

-Mradul tripathi

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.