website counter widget

Doctor Rajeev Gupta murder case : जिसे नौकरी से निकाला उसी ने रची हत्या की ख़ौफ़नाक साज़िश

0

हरियाणा (Haryana) के करनाल (Karnal) शहर के अमृतधारा अस्पताल (Amrit Dhara Hospital) के मालिक व वरिष्ठ डॉक्टर राजीव गुप्ता की ह्त्या (Doctor Rajeev Gupta murder case) के मामले में पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है। इस मामले में तीन लोगों की गिरफ्तारी हुई है, जिसके बाद उन्होंने सच्चाई का खुलासा किया। सीएम सिटी में डॉ. राजीव गुप्ता(Doctor Rajeev Gupta)  हत्‍याकांड के तीनों आरोपितों को पुलिस ने वारदात के 24 घंटे के अंदर पकड़ लिया। इस मामले में मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर (CM Manohar Lal Khattar ) व हरियाणा के डीजीपी मनोज यादव ने सख्त कार्रवाई और आरोपियों को जल्द से जल्द पकड़ने का आदेश दिया था।

‘रेप ऐसी चीज, जो रुक नहीं सकती’

जानकारी के अनुसार, डॉक्टर राजीव गुप्ता की ह्त्या की साजिश एक व्यक्ति ने रची थी, जिसे डॉक्टर ने पहले नौकरी से निकाल दिया था। इसी बात खुन्नस वह पिछले कई समय से रखे हुए था। डॉक्टर जब शनिवार की शाम अपने नए हॉस्पिटल से निकले, तब तीनों बदमाश उनका इंतजार कर रहे थे। डॉक्टर अपनी क्रेटा गाड़ी से आ रहे थे। जैसे ही वहां पर स्पीड ब्रेकर के पास गाड़ी धीमी होती है, उन पर तीन गोलियां चलाई, जिसमें से दो गोलियां डॉ राजीव गुप्ता को लगी।

Video : आखिर क्यों झुका SP के चरणों में बीजेपी नेता ?

नौकरी से निकाला तो निकाली भड़ास

पवन दहिया ने पूछताछ के बाद बताया कि डॉ राजीव गुप्ता ने पवन को नौकरी से निकाल दिया था। जिसके बाद उसे कहीं और काम नहीं मिल रहा था। इसके बाद से आरोपी रंजिश रखने लगा। तीनों ही आरोपियों को हरियाणा-उत्तर प्रदेश की सीमा के नजदीक से गिरफ्तार किया गया है। घटना के बाद डीजीपी स्‍तर तक पुलिस सक्रिय हो गई थी। वारदात के आसपास सीसीटीवी फुटेज खंगाले गए। ड्राइवर ने जो बताया, उसके अनुसार भी अंदाजा हो गया था। फुटेज से पता चल गया कि बाइक सवार कौन थे। पुलिस ने आखिरकार तीनों को उप्र बॉर्डर के पास पकड़ लिया। आरोपी करनाल के रहने वाले हैं। पुलिस पूरे मामले में गहनता से जांच कर रही है। यह जानकारी आईजी करनाल रेंज योगेंद्र नेहरा ने प्रेस वार्ता के दौरान दी।

क्या ज्योतिरादित्य सिंधिया होंगे अगले कांग्रेस अध्यक्ष ?

ट्रेंडिंग न्यूज़
[yottie id="3"]
Share.