website counter widget

डॉक्टर मरे तो मरे सीएम को क्या!

0

पश्चिम बंगाल (West Bengal)  से शुरू हुआ बवाल थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। आज भी कई डॉक्टरों (All-India Doctors’ Strike) ने हड़ताल का ऐलान किया है। एम्‍स का रेंजीडेंट डॉक्‍टर एसोसिएशन (RDA) बंगाल के डॉक्टरों के समर्थन में आ गया है। आज यानी सोमवार को एम्स आरडीए के जनरल सेक्रेट्री अरुण पांडेय (Arun Pandey)  ने प्रेस कॉन्फ्रेंस (Press conference) कर बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) पर खूब निशाने साधे। उन्होंने डॉक्टरों की सुरक्षा पर सवाल भी उठाए।

पूर्व कांस्टेबल ने मंत्री से की IPS की बीवियों की शिकायत

अरुण पांडेय (Arun Pandey) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि कोलकाता के डॉक्टरों को कहना चाहता हूं कि जब तक आपकी मांग पूरी नहीं होगी, हम आपके साथ हैं। आज जनता सोच रही है कि क्यों डॉक्टर उग्र हो गए? मैं देश के नेताओं, नौकरशाहों और करोड़ों मरीजों से पूछना चाहता हूं कि क्या हमारे जान-माल की कोई कीमत नहीं है? हम किसी राजनीतिक पार्टी के वोट बैंक नहीं हैं। हमारी समस्‍याएं सुनने के बजाय एक महिला मुख्यमंत्री ने अपनी ईगो को शांत करना उचित समझा। हमारे दोस्तों को धमकी दी कि काम पर लौटो नहीं तो हॉस्टल से बाहर फेंक दिए जाओगे। क्‍या हमारे जान-माल की कोई कीमत नहीं है? देश उनसे क्यों नहीं पूछता है?

Haj Yatra 2019 : टूर ऑपरेटर्स ऐसे ठगते हैं हज यात्रियों को

पांडेय ने आगे कहा कि हमें एक सेंट्रल एक्ट चाहिए जिसमें डॉक्टर पर हमला करने वाले पर सजा का कड़ा से कड़ा प्रावधान हो। हमने उन मरीजों को जो हमारे हक़ के लिए खड़ा न हो सकें ,उनके लिए हमने नौ से 12 बजे तक तक इमरजेंसी की सेवा मुहैया कराई और आगे भी सारा बैकलॉग हम पूरा करेंगे। बंगाल में CM ने 3 बजे बात करने के लिए बुलाया है और शाम  6 बजे हम जनरल मीटिंग करके बताएंगे कि हम हड़ताल जारी रखेंगे या नहीं। वहीँ एम्‍स RDA के अध्‍यक्ष अमरिंदर सिंह मल्ली ने कहा कि हम आज फॉलोअप लेने जायेंगे कि जो उन्‍होंने आश्‍वासन दिया है, उस पर एक्शन हुआ की नहीं। हम आंदोलन चालू रखेंगे।

Parliament Session 2019 Day 1 Live : 17वीं लोकसभा के पहले सत्र की शुरुआत

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.