देश में शांति-सौहार्द हिंदू बिगाड़ते हैं मुस्लिम नहीं

0

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) में अयोध्‍या मामले की सुनवाई में मुस्लिम पक्ष और सुन्नी वक्फ बोर्ड के वकील रहे राजीव धवन (Rajiv Dhawan) ने विवादित बयान दिया है. जिसके अनुसार, धवन ने कहा कि देश में शांति बिगाड़ने का काम मुलसमान (Muslim) नहीं हिंदू (Hindu) करते हैं। राजीव धवन ने बयान दिया था कि ‘देश में शांति-सौहार्द हिंदू बिगाड़ते हैं मुस्लिम नहीं’ जिसकी जमकर आलोचना हो रही है। वहीं राजीव धवन का कहना है कि उनके बयान को तोड़-मरोड़कर पेश किया जा रहा है। अपने बयान पर सफाई देते हुए राजीव धवन ने कहा कि, ‘यह टीवी द्वारा की गई शरारत है। मैं जब हिंदुओं की बात करता हूं तो इसका मतलब यह नहीं है कि मैं सभी हिंदुओं की बात कर रहा हूं।’

गोडसे भक्त प्रज्ञा को बीजेपी ने दिखाया बाहर का रास्ता!

जानकारी के अनुसार राजीव धवन ने कहा कि हिंदू का मतलब संघ परिवार होता है। राजीव ने कहा कि वे संघ परिवार के लिए हिंदू शब्द इस्तेमाल करते हैं। सामान्य हिंदू के लिए नहीं। संघ के ही कई लोग हिंसा, लिंचिंग, लोगों की हत्या और मस्जिद तोड़ने जैसे कामों में शामिल हैं। आपको बता दें कि, मुस्लिम पक्ष और सुन्नी वक्फ बोर्ड (Sunni Waqf Board) को भले ही सुप्रीम कोर्ट से फैसले में निराशा मिली हो, लेकिन उनकी पैरवी करने वाले राजीव धवन ने खूब वाहवाही बटोरी थी। सुप्रीम कोर्ट में करीब 40 दिन चली मैराथन सुनवाई में धवन ने अपनी दलीलों से पीठ का दिल जीत लिया था।

आर्मी चीफ जनरल बाजवा की वर्दी उतरते ही पाकिस्तान में इमरजेंसी!

राजीव धवन इससे पहले भी विवादों में रहे हैं. 16 अक्टूबर को राम जन्मभूमि- बाबरी मस्जिद केस की सुनवाई के आखिरी दिन हिंदू महासभा के वकील विकास सिंह ने जन्मभूमि का नक्शा पेश किया जिसे तुरंत ही अगले पक्ष के वकील राजीव धवन ने फाड़ दिया था.

संसद में प्रज्ञा के गोडसे देशभक्त बयान से मचा बवाल

-Mradul tripathi

Share.