नौ सेना प्रमुख बने एडमिरल करमबीर सिंह

0

भारतीय नौसेना के प्रमुख के तौर पर एडमिरल करमबीर (Karambir Singh) ने कार्यभार संभाल लिया है। एडमिरल करमबीर सिंह (Karambir Singh ) ने एडमिरल सुनील लांबा (Sunil Lanba) से पदभार संभाला। पद सँभालने के बाद उन्होंने कहा, “पूर्व के नौसेना प्रमुखों ने यह सुनिश्चित किया कि नौसेना का आधार मजबूत रहे और आज यह नई ऊंचाइयों को छू रही है। मेरी कोशिश होगी कि उनके प्रयासों को जारी रखते हुए राष्ट्र को एक नौसेना मिले जो मजबूत और विश्वसनीय होने के साथ साथ समुद्री क्षेत्र में सुरक्षा से जुड़ी हर चुनौती की पूरा करने के तैयार हो। ”

Hotel Baba Palace में लगी भीषण आग, खिड़की से भागे लोग

सरकार ने थल सेना की तरह नौसेना में भी सीनियर के रहते जूनियर अफसर को प्रमुख बनाया गया। एक सैन्य अधिकरण ने बुधवार (29 मई) को वाइस एडमिरल करमबीर सिंह को आज (31 मई) नए नौसेना प्रमुख के तौर पर कार्यभार संभालने की इजाजत दे दी थी। इसके बाद न्युक्ति की याचिका को चुनौती दी गई। याचिका पर सुनवाई को अधिकरण ने करीब सात हफ्तों के लिये टाल दिया था। इस मामले में 29 मई को ट्राइब्यूनल ने वाइस एडमिरल करमबीर सिंह (Karambir Singh) को प्रमुख बनने के लिए आज्ञा दे दी थी, लेकिन यह भी कहा था कि अंतिम फ़ैसला वाइस एडमिरल बिमल वर्मा की अर्ज़ी पर फ़ैसले के बाद ही लिया जाएगा।

VIDEO : फिर जय श्रीराम पर भड़की ममता, भाजपा पर लगाए आरोप

वाइस एडमिरल बिमल वर्मा (Bimal Verma) ने ट्रिब्यूनल से ये अनुरोध किया था कि वह उनकी और सिंह के सर्विस रिकॉर्ड को मंगवाकर देखें और तय करें कि कहीं किसी बाहरी दवाब में आकर ये फैसला तो नहीं लिया गया है। बिमल वर्मा का कहना है कि वो करमबीर सिंह से छह महीने सीनियर है इसलिए उन्हें नौसेना प्रमुख बनाया जाए। वहीँ इस मामले पर सरकार का कहना है कि केवल वरिष्ठता के आधार ही प्रमुख नहीं बनाया जा सकता है, बल्कि दूसरे मापदंड भी मायने रखते है।

Fire At Indore Power House Video : आग लगने से 50 हज़ार से अधिक लोग प्रभावित  

जानकारी के अनुसार, वाइस एडमिरल वर्मा को नेवी चीफ ना बनाये जाने के पीछे का आधार उनका ऑपरेशनल कमांड का अनुभव का ना होना, नेवी वॉर रूम लीक में उनके खिलाफ की गई टिप्पणी और पीवीएसएम का ना मिलना है।

Share.