देश में अब नहीं खिलेगा कमल, शिवसेना ने दिया बड़ा बयान

0

कहते हैं कि सत्ता के मोह के आगे बड़े से बड़ा रिश्ता भी नहीं टिक पाता है। महाराष्ट्र में भी कुछ ऐसा ही हुआ। शिवसेना और बीजेपी की मित्रता के बारे में सभी जानते हैं, लेकिन सत्ता की लालच मे वर्षों से मित्रता निभा रही शिवसेना और बीजेपी अलग हो गई। शिवसेना ने अपने विरोधी दलों का हाथ थामा और सरकार बना ली। अब इस मामले पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Maharashtra Chief Minister Uddhav Thackeray ) के बेटे और मुंबई की वर्ली सीट से विधायक आदित्य ठाकरे(MLA Aditya Thackeray Charged BJP) ने बीजेपी पर निशाना साधा है। उनका कहना है कि ये मित्रता तोड़ने के पीछे केवल बीजेपी है।

कभी मातोश्री में बनती थी सरकारें आज किंग मेकर किंग बनने के लिए भटक रहे है

नहीं खिलने देंगे कमल

वर्ली सीट से विधायक आदित्य ठाकरे (Aditya Thackeray Charged BJP) का कहना है कि मैंने देखा है कि सत्ता की लालच में लोग कैसे मित्रों को नजरअंदाज कर देते हैं। चाहे कितना भी कीचड़ फैलाया जाए, लेकिन कमल को कहीं भी खिलने नहीं दिया जाएगा। कीचड़ होगा तो ही कमल खिलेगा। मैं उनसे (भाजपा) से कहना चाहता हूं कि अब उनका कीचड़ फेंकने का समय खत्म हो गया। अब उनकी मंशा पूरी नहीं होने वाली है।

ठाकरे परिवार का मुस्लिम दामाद, नेहा ठाकरे ने की थी मुस्लिम युवक से शादी!

बढ़ रही शिवसेना-बीजेपी कि नज़दीकियाँ

जहां एक ओर शिवसेना के आदित्य ठाकरे (Aditya Thackeray Charged BJP) कमल नहीं खिलने देंगे जैसे बयान देकर बीजेपी पर निशाना साध रहे हैं वहीं दूसरी ओर विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस बुधवार शाम मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे द्वारा दिए गए रात्रिभोज में शामिल हुए। दरअसल, सीएम ठाकरे ने सभी विधायकों को रात्रि भोज के लिए आमंत्रित किया था। इस बारे में अधिकारियों का कहना है कि पिछले कई दशकों में यह संभवत: पहली बार है जब मुख्यमंत्री ने इस तरह का रात्रिभोज दिया हो। महाराष्ट्र में हुए लोकसभा चुनाव के बाद सरकार बनाने को लेकर बवाल शुरू हो गया था। लंबी उठापटक के बाद शिवसेना ने कांग्रेस और एनसीपी के साथ मिलकर सरकार बनाई। शिवसेना के उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) के सीएम बनने के बाद कई बार यह भी कहा गया कि बीजेपी फिर से सत्ता में आ सकती है।

Today’s history : 23 जनवरी का इतिहास

     – Ranjita Pathare 

Share.