जनधन खातों में 80 हज़ार करोड़ रुपए से ऊपर

1

मोदी सरकार की एक महत्वपूर्ण योजना को बड़ी उपलब्धि मिली है। देश के सभी परिवारों को बैकिंग सेवाओं से जोड़ने के लिए शुरू की गई जनधन योजना के खातों में कुल जमा राशि 80,000 करोड़ रुपए से ऊपर पहुंच गई है। वित्त मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, जनधन खाते में कुल जमा राशि 11 अप्रैल 2018 को बढ़कर 80545.70 करोड़ रुपए हो गई थी। मार्च 2017 के बाद से इसमें निरंतर तेजी जारी है।

नोटबंदी के बाद चर्चा में आए

प्रधानमंत्री जनधन योजना खाते उस वक्त भी चर्चा में आए थे, जब नोटबंदी के दौरान इसमें से बहुत से खातों में मोटी रकम जमा करवाई गई थी। नवंबर 2016 के अंत तक जनधन खातों में जमा राशि बढ़कर 74 हजार करोड़ से अधिक हो गई, जो उस महीने के शुरू में करीब 45 हजार करोड़ रुपए थे। इस दौरान लोगों ने इन खातों में बड़ी मात्रा में 500 और 1000 रुपए के पुराने नोट जमा किए थे।

विश्व बैंक ने की तारीफ 

विश्व बैंक की रिपोर्ट ‘ग्लोबल फिनडेक्स रिपोर्ट’ 2017 में जनधन योजना की सफलता का जिक्र किया गया है। विश्व बैंक की रिपोर्ट के अनुसार, दुनिया में जितने नए बैंक खाते खोले गए हैं, उनमें से 55 फीसदी भारत में हैं। वैश्विक स्तर पर 2014-17 के दौरान 51.4 करोड़ बैंक खाते खोले गए हैं।

जनधन कार्यक्रम से जुड़ने वालों की संख्या में इजाफा

दिसंबर 2017 में जमा बढ़कर 75,572 करोड़ रुपए और मार्च महीने में बढ़कर 78,494 करोड़ रुपए हो गया। 11 अप्रैल 2018 को खातों की संख्या 31.45 करोड़ हो गई, जो 2017 की शुरुआत में 26.5 करोड़ थी। 9 नवंबर 2016 को जनधन खातों की संख्या 25.51 करोड़ रुपए थी।

Share.