बच्चे के मुंह में 526 दांत, डॉक्टर भी हैरान

0

सामान्यत : इंसान के मुंह में 32 दांत होते हैं या फिर इससे काम ही होते हैं, लेकिन किसी अन्य अवस्था में यदि 32 से ज्यादा भी हो तो ज्यादा से ज्यादा 40 दांत हो सकते हैं, लेकिन क्या कभी किसी के मुंह में 500 दांत हो सकते हैं ? क्या आपने कभी ऐसा सुना है ? जी हाँ, ये सच है, एक बच्चे के मुंह में 40 या 50 नहीं बल्कि कुल 526 दांत (Removed 526 Teeths From 7 Year Old Child) निकाले गए। ये अनूठा मामला चेन्नई से सामने आया है। हैरानी की बात यह है कि ये दांत जबड़े की हड्डी में इस कदर लगे हुए थे कि बाहर से दिखाई ही नहीं देते थे।

आज़म खान ने की चोरी! हिरासत में बेटा

बच्चे के मुंह से निकाले 526 (Removed 526 Teeths From 7 Year Old Child)

जानकारी के अनुसार, तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई में सात साल के एक बच्चे के मुंह से 526 दांत (Removed 526 Teeths From 7 Year Old Child) निकाले गए हैं। डेंटिस्ट्स ने सर्जरी करके कुल 526 दांत निकाले, अब इस बच्चे के मुंह में 21 दांत बचे हैं। सर्जरी के बाद बच्चे के जबड़े और पूरे मुंह में होने वाला दर्द भी खत्म हो गया है। डेंटल कॉलेज व अस्पताल के चिकित्सक सेंथिलनाथन ने बताया कि बच्चे के निचले जबड़े में काफी सूजन थी। सीटी स्कैन में एक बड़ा घाव व कुछ ठोस संरचनाएं भी मिलीं, जिसके बाद बच्चे की सर्जरी की। सर्जरी के समय चिकित्सकों ने पाया कि उसके जबड़े में एक बैग जैसा बना है। उसे जबड़े से निकाला गया।

उन्नाव रेप : प्रोटेस्ट में हंसी जया बच्चन, लोगों ने लगाईं क्लास

विश्व का पहला मामला

डॉ. प्रतिभा रमानी के अनुसार दांतों का आकार 0.1 एमएम से 15 एमएम तक है। इन्हें निकालने में दो घंटे लगे। पैथालॉजिस्टों ने इसे सीप में मिले गई मोतियों की संज्ञा दी है क्योंकि सभी में क्राउन, रूट और एनामेल की परत है। बच्चे रविंद्रन के पिता एस प्रभुदोस ने बताया कि तीन वर्ष की उम्र में ही उसके जबड़े में सूजन दिखने लगी थी, लेकिन कभी जांच नहीं करवाई गई। इस बार भी सर्जरी के पहले चिकित्सकों और पीजी विद्यार्थियों ने कई घंटे उससे बातचीत कर उसे सर्जरी के लिए राजी किया। इससे पहले मुंबई में एक बच्चे के मुंह से 2014 में चिकित्सकों ने 232 दांत निकाले थे, विश्वभर में ऐसा मामला कभी भी सामने नहीं आया है कि किसी के मुंह में 526 दांत (Removed 526 Teeths From 7 Year Old Child) निकाले गए हो।

Triple Talaq Bill : 34 साल पहले इंदौर से शुरू हुई थी हक की लड़ाई

Share.