जम्मू-कश्मीर : हमले से पहले 5 खूंखार आतंकी सुरक्षा बलों की गिरफ्त में

0

जम्मू-कश्मीर में भारतीय सेना लगातार आतंकियों की हर कोशिश को नाकाम कर रही है। वहीं आतंकी अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं। भारतीय सीमा में घुसपैठ करने की आतंकियों की तमाम कोशिशों पर हर बार ही भारतीय सेना पानी फेर देती है। वहीं आज भी जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) के बारामूला जिले (Baramula District) में सुरक्षा बलों (Security Forces) और जम्मू-कश्मीर पुलिस ने मिलकर संयुक्त अभियान चलाते हुए 5 संदिग्ध आतंकियों को धर दबोचा। बता दें कि आतंकियों की धर पकड़ के लिए सुरक्षा बलों (Security Forces) और पुलिस ने संयुक्त अभियान चलाया। इस कार्रवाई में बारामूला जिले के सोपोर इलाके से इस संयुक्त टीम ने 5 संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार किया।

गौरतलब है कि गिरफ्तार किए गए पांचों आतंकी अंडरग्राउंड होकर काम कर रहे थे। जब से जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाई गई है तभी से सुरक्षा बल पूरे जम्मू-कश्मीर में कड़ी निगरानी रख रहे हैं। भारतीय सेना और सुरक्षा बल जम्मू-कश्मीर के चप्पे-चप्पे पर अपनी पैनी नज़र बनाए हुए हैं और आतंकियों की हर कोशिशों को नाकाम कर रहे हैं। वहीं सरकार ने भी जम्मू-कश्मीर में अतिरिक्त सुरक्षा बलों की तैनाती की है ताकि किसी भी तरह की कोई अप्रिय घटना घटित न हो। वहीं जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा के लिहाज़ से तीनों पूर्व सीएम को नज़रबंद रखा गया है।

इन 5 आतंकियों को गिरफ्तार किए जाने से 4 दिन पहले ही यानी 12 नवंबर को पंजाब पुलिस ने 2 आतंकियों को गिरफ्तार किया था। गिरफ्तार किए आतंकियों में एक महिला भी शामिल थी। पूछताछ में पता चला है कि दोनों आतंकी राज्य में किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने की फिराक में थे। दोनों को जल्द ही पाकिस्तान से हथियार की बड़ी खेप भेजी जाने वाली थी लेकिन इससे पहले ही पंजाब पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया। इन दोनों आतंकियों के निशाने पर हिन्दू संगठन के प्रमुख नेता थे।

Prabhat Jain

Share.