भाजपा में शामिल हुए 400 शिवसैनिक, गिरेगी उद्धव सरकार!

0

महाराष्ट्र (Maharashtra) में लंबा चला राजनीतिक दंगल अभी खत्म हुआ ही था, शिवसेना ने बाला साहब ठाकरे को  अपना मुख्यमंत्री बनाने का दिया वादा पूरा किया ही था कि अब महाराष्ट्र की नई सरकार (New government of Maharashtra) को बड़ा झटका लग गया है। महाराष्ट्र के नए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Maharashtra Chief Minister Uddhav Thackeray) की पार्टी शिवसेना के 400 कार्यकर्ता उनका साथ छोडकर भाजपा (400 Shiv Sena workers join BJP)  के पास चले गए हैं। इसके बाद अब कहा जा रहा है कि महाराष्ट्र में शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी के गठबंधन (Shiv Sena, Congress NCP alliance) की सरकार ज्यादा नहीं चल  पाएगी। अब फिर से सूबे में भाजपा कि सरकार बनने वाली है!

अजित पवार को ढाई साल का CM बनाएगी BJP

400 Shiv Sena workers join BJP

400 Shiv Sainiks join BJP, Uddhav government will fall!

‘महा विकास अघाड़ी’ के नाम से बना शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस का गठबंधन ज्यादा दिन नहीं टिक सकता है। शिवसेना के कई कार्यकर्ता इस गठबंधन से खुश नहीं है। वे केवल बीजेपी के साथ ही सरकार बनाना चाहते हैं। जब शिवसेना ने उनकी बात नहीं मानी तो वे बीजेपी में शामिल हो गए। शिवसेना के पूर्व विशेष कार्यकारी अधिकारी रमेश नादेसन का कहना है कि हमारी पार्टी के चार सौ समर्थक भाजपा में शामिल हो गए क्योंकि उन्हें तब धोखे जैसा महसूस हुआ जब पार्टी ने गैर-हिंदू पार्टियों के साथ हाथ मिलाया। शिवसेना की आलोचना करते हुए कहा कि वह पार्टी के साथ इसलिए थे क्योंकि उसने हिंदुत्व के एजेंडे को उच्च प्राथमिकता दी हुई थी। केवल 400 पार्टी कार्यकर्ता (400 Shiv Sena workers join BJP) ही नहीं बल्कि शिवसेना में कई अन्य लोग भी इस फैसले से दुखी हैं।

NRC को नही मान रहे BJP के नेता

रमेश नादेसन ने आगे कहा कि कोई भी समर्थक की भावनाओं और जज्बातों को नहीं समझता है जो बिना किसी चीज के बदले असल में पार्टी के लिए काम करता है। पिछले सात सालों से हम कांग्रेस और एनसीपी समर्थकों के खिलाफ लड़ रहे हैं। चुनाव के दौरान कार्यकर्ता हर दरवाजे पर जाकर वोट मांगते हैं। हम कैसे वापस जाकर उन्हीं लोगों का सामना कर सकते हैं जिनके खिलाफ हमने एक ईमानदार सरकार बनाने के लिए वोट मांगा था? हम शिवसेना अध्यक्ष के कांग्रेस और एनसीपी के साथ हाथ मिलाने के फैसले से खुश नहीं हैं। हम पार्टी इसलिए छोड़ रहे हैं क्योंकि पार्टी ने हिंदुत्व के अपने मुख्य एजेंडे को छोड़ दिया है।

हमे NDA से निकालने वाले BJP कौन : शिवसेना

   – Ranjita Pathare

Share.