website counter widget

योगीराज में कैसे हो गई 35 गायों की मौत ?

0

केंद्र की मोदी सरकार ( Modi government ) और उत्तरप्रदेश (Uttar Pradesh) की योगी सरकार (Yogi government ) गायों की रक्षा के लिए कई प्रावधान ला रही है। उत्तरप्रदेश में जहां गायों की रक्षा को देखते हुए उन्हें लाने, ले जाने के लिए प्रमाणपत्र लेना अनिवार्य किया जा रहा है, वहीँ प्रदेश में एक साथ 35 गायों की मौत (35 Cattle Found Dead In Prayagraj) के कारण हड़कंप मच गया और इसके साथ ही योगी सरकार की गौरक्षा पर भी सवाल उठाया जा रहा है।

सुब्रह्मण्यम स्वामी फिर हुए बीजेपी के ख़िलाफ़

चारा और पानी नहीं देने से गायों की मौत

जानकारी के अनुसार, यूपी की योगी सरकार (Yogi government )  गौवंश के संरक्षाण को लेकर कई प्रयास कर रही है, लेकिन 35 से अधिक गायों की मौत (35 Cattle Found Dead In Prayagraj) के बाद चौंकाने वाली जमीनी हकीकत सामने आई है। प्रयागराज के बहादुरपुर ब्लॉक के कांदी गांव में एक साथ इतनी गायों की मौत के बाद प्रशासन सहित कई लोगों पर सवाल उठाए जा रहे हैं। गौशाला के अंदर गायों की रक्षा के नाम पर मजाक बनाया जा रहा है। स्थानीय लोग गायों की मौत को लेकर गौशाला संचालक सहित प्रशासनिक अमले पर लापरवाही का आरोप लगा रहे हैं। ग्रामीणों का कहना है कि गायों की मौत चारा और पानी नहीं देने से हुई है। जिंदा गायों को इलाज के बजाय उनपर चादर डाल दी गई है।

केंद्रीय मंत्री का दावा, धोनी थामेंगे बीजेपी का हाथ

एक साथ इतनी गायों की मौत के बाद जिलाधिकारी भानू चन्द्र गोस्वामी ने बताया कि थमदृष्ट्या आकाशीय बिजली गिरने से मौत होने की बात कह रहे हैं, लेकिन स्थानीय लोगों की मानें तो जबसे इस गौशाला का निर्माण हुआ। जिस जगह पर गौशाला बनाई गई, वह पहले तालाब था जिसे बाद में ग्राम प्रधान ने गौशाला के रूप में परिवर्तित कर दिया। तीन दिनों से हो रही लगातार बारिश के कारण गौशाला में पानी भरने और गंदगी के कारण उसके बीच रह रही थीं पर किसी का कोई ध्यान नहीं गया, जिस कारण 35 से अधिक गायों की मौत (35 Cattle Found Dead In Prayagraj) हो गई। वहीँ ग्रामीणों का कहना है कि गौशाला में पानी भरने के कारण तीन दिनों तक गायें गौशाला में पानी और दलदल के बीच रहीं जिस कारण उनकी तड़प तड़प कर मौत हुई है।

राकेश सिन्हा पेश करेंगे ‘जनसंख्या विनियमन विधेयक-2019’ !

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.