सीवर की सफाई के लिए उतरे थे 11 मजदूर, जहरीली गैस से मौत

0

देश की आर्थिक राजधानी मुंबई (Mumbai)  से एक चौकाने वाला मामला सामने आया है। दरअसल, सीवर की सफाई (Sewage Treatment Plant) के लिए कर्मचारी सेफ्टी टैंक में उतरे थे, लेकिन वहां जहरीली गैस का रिसाव होने के कारण कर्मचारियों की मौत हो गई। जानकरी के अनुसार, मुंबई से सटे ठाणे में शुक्रवार को दर्दनाक हादसा हुआ। मजदुर जब सफाई कर रहे थे तब वहां जहरीली गैस का रिसाव हो गया, जिससे तीन कर्मचारियों की मौत (3 Workers Died While Cleaning Septic Tank) हो गई। वहीं अन्य कर्मचारियों को बेहोशी की हालत में निकालकर मेट्रो अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहाँ उनका इलाज चल रहा है। घटना बीती रात 12 बजकर 25 मिनट की है।

डिलीवरी रूम में सरकारी एंबुलेंस के ड्राइवर ने किया रेप

जानकरी के अनुसार, हादसा ठाणे की एक पॉश सोसायटी प्राइड प्रेसिडेंसी लुरिया में हुआ है। सभी मजदूर (3 Workers Died While Cleaning Septic Tank) मिरा रोड के निवासी थे। पुलिस ने बताया कि आनन फानन में दमकल विभाग को सूचना दी गई, जिसके बाद दमकल के कर्मचारियों ने ऑस्सीजन सिलेंडर और मास्क की मदद से टैंक में उतरकर सभी मजदूरों को बाहर निकाला। लेकिन इनमें से 3 मजदूरों की मौत हो गई। घटना के बारे में जानकारी मिलने के बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शवों को कब्जे में लिया।

Sandeep Tail Murder Case के मामले में आया नया मोड़

यह ऐसा पहला मामला नहीं है जब सफाई में दौरान कर्मचारियों की मौत हुई हो। इसके पहले भी ऐसे कई मामले सामने आ चुके हैं, लेकिन फिर भी बिना किसी सुरक्षा के कर्मचारियों को सफाई के लिए गड्ढे में उतार दिया जाता है। इसके पहले नोएडा के सलारपुर में सीवर की सफाई करते समय दो कर्मियों की मौत हो गई थी। कुछ महीने पहले दिल्ली के ही मोती नगर इलाके में ग्रीन कैपिटल डीएलएफ सोसाइटी में एक सीवर टैंक साफ करने उतरे 6 मजदूरों में 5 की मौत हो गई थी। वहीँ इंदौर में भी एक कर्मचारी की मौत हो गई थी। इतने हादसों के बाद अभी तक सरकार चौककनी नहीं हुई है। इस और किसी का भी ध्यान नहीं जाता है न ही कर्मंचारियों की सुरक्षा के लिए कोई सख्त कदम उठाए जा रहे हैं।

Photos : सिद्धू 11 और सिंधिया 11 के बीच हुआ मुकाबला

Share.