website counter widget

OMG : शिवराज सरकार में 22 हजार करोड़ का स्टाम्प घोटाला!

0

मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में लगातार 15 साल तक सत्ता में रहने वाली भाजपा (Bharatiya Janata Party) पर एक बड़ा आरोप लगाया जा रहा है। कहा जा रहा है कि शिवराज सरकार (Shivraj government) ने अपने कार्यकाल के दौरान 22 हजार करोड़ का स्टाम्प घोटाला (22 thousand crore stamp scam) किया। इसी के साथ कांग्रेस सरकार (Congress Government) ने मध्यप्रदेश भाजपा पर और भी कई आरोप लगाये हैं। कांग्रेस के इन आरोपों के बाद राजनीतिक जगत में हड़कंप मच गया है।

Article 370 हटने से आतंकियों के हमदर्द परेशान: पीएम मोदी

 मध्यप्रदेश में सरकार बनने के बाद से ही कांग्रेस, शिवराज सरकार में हुए घोटाले गड़बड़ियों को उजागर कर रही है और भाजपा पर शिकंजा कस रही है। इसके पहले भी कांग्रेस ने भाजपा पर ऐसे ही कई आरोप लगाए हैं। अब 22 हजार करोड़ के स्टाम्प घोटाले के बाद फिर से हंगामा शुरू हो गया है। इस बारे में कांग्रेस के प्रदेश सचिव राकेश सिंह यादव (Congress state secretary Rakesh Singh Yadav) ने इंदौर में प्रेस कॉन्फ्रेंस (Press conference in indore) कर स्टाम्प वेंडर (Stamp vendor) मामले में गंभीर आरोप लगाते हुए 22 हजार करोड़ की कालाबाजारी के आरोप लगाए हैं।

कांग्रेस नेता ने प्रियंका गांधी के सामने पत्रकार को दी जान से मारने की धमकी

घोटालेबाज शिवराज सरकार!

कांग्रेस के राकेश सिंह यादव ने भाजपा सरकार पर आरोप लगाया कि शिवराज सरकार में 25000 से ज्यादा स्टाम्प वेंडरों को लाइसेंस वितरित किए गए। जिन्होंने डिमांड और सप्लाई का हवाला देकर  पिछले 15 सालों में 22 हजार करोड़ से ज्यादा के घोटाले को अंजाम देकर प्रदेश के लोगों को ठगा है। इसके बाद यह बात सामने आई है कि शिवराज सरकार लोगों को बेवकूफ बनाती थी और 100 रुपए कि जगह लोगों से 130 रुपए वसूलती थी। कांग्रेस का कहना है कि उनके पास इस मामले के पर्याप्त सबूत भी हैं। अब कांग्रेस सरकार इस मामले पर अच्छे से जांच करेगी और फिर सख्त कार्रवाई करेगी। कांग्रेस सरकार का कहना है कि ऐसे मामलों से बचने के लिए कालाबाजारी करने वालों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई कि जानी चाहिए ताकि लोगों के सामने मिसाल कायम की जाए।

मोदी का नया नियम, केस लड़ने के लिए वकील की नहीं जरूरत

 

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.