एसबीआई ने शाखाओं के नाम और आईएफएससी कोड बदले

0

छह एसोसिएट बैंकों से मर्जर के बाद स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में बड़ा बदलाव सामने आया है। बैंक ने करीब 1300 ब्रांच के नाम और आईएफएससी कोड बदल दिए हैं। एसबीआई ने इन बैंकों की सूची जारी कर दी है। यह सूची एसबीआई की आधिकारिक वेबसाइट पर उपलब्ध है।

एसबीआई ने जो लिस्ट जारी की है, उसमें देशभर में करीब बैंक के 1295 ब्रांचों में ये बदलाव किए गए हैं। इस लिस्ट में बैंकों के पुराने आईएफएससी कोड और नए आईएफएससी कोड दोनों दिए गए हैं। गौरतलब है कि स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने 6 बैंकों के अलावा भारतीय महिला बैंक के साथ मर्जर किया था। इन बैंकों के मर्ज करने से एसबीआई को अपनी 1805 ब्रांच को काम करने में मदद मिली है।

इन बैंको से हुआ विलय

स्टेट बैंक ने अपने पांच सहयोगी बैंकों – स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर, स्टेट बैंक ऑफ पटियाला, स्टेट बैंक ऑफ त्रावणकोर, स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद, स्टेट बैंक ऑफ मैसूर और भारतीय महिला बैंक को अपने साथ विलय किया है।

क्या है आईएफएससी कोड?

आईएफएससी कोड बैंक की शाखा का एक छोटा-सा पता होता है। किसी भी बैंक और उसकी शाखा की  पहचान करने के लिए 11 वर्ण के कोड का इस्तेमाल होता है। उसे आईएफएससी कोड कहते हैं। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया, सेंट्रल बैंकिंग प्राधिकरण जो भारत भर में सभी संबद्ध बैंकों और बैंकिंग मामलों को नियंत्रित करता है। रिजर्व बैंक सभी सदस्य बैंकों को आईएफएससी कोड उपलब्ध कराता है। रिजर्व बैंक सभी सदस्य बैंकों के आईएफएससी कोड को सूचीबद्ध करता है।

Share.